समाचार प्लस
Breaking फीचर्ड न्यूज़ स्लाइडर बिहार

बिहार: नीतीश ने किया था जिस हाईवे का उद्घाटन, गड्ढे में तैरती मिलीं मछलियां

बिहार के हाईवे पर गड्ढे में तैरती मिलीं मछलियां

भागलपुर से अंजनी कुमार कश्यप/ समाचार प्लस – झारखंड-बिहार

220 करोड़ रुपये की लागत से बने एक हाईवे का बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने किया था उद्घाटन। उस हाईवे पर पड़ी मिलीं ढेरों दरारें। दिलचस्प नजारा तो यह रहा कि एक पानी भरे गड्ढे में मछलियां तैरती दिखीं। विधानसभा की एक समिति ने शिकायत मिलने पर उसी दिन जांच भी की थी। जांच में समिति ने शिकायत को सही पाया और हाईवे की पांच किलोमीटर सड़क पर दरारें और गड्ढे मिले। इन गड्ढों में एक गड्ढा तो इतना बड़ा था कि उसमें जमे पानी में मछलियां तैर रही थीं।

राजबीर कंस्ट्रक्शन प्राइवेट लिमिटेड ने किया है निर्माण

बीते 25 अगस्त को भागलपुर के अकबरनगर अमरपुर टू लेन जो 29.3 किलोमीटर लंबा है, का उद्घाटन वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए सीएम नीतीश कुमार ने किया था। स्टेट हाईवे-85 का निर्माण राजबीर कंस्ट्रक्शन प्राइवेट लिमिटेड द्वारा किया गया। यह कंस्ट्रक्शन कंपनी बिहार राज्य सड़क विकास निगम (BSRDC) की देखरेख में है।

स्थानीय लोगों ने घटिया निर्माण की बात कही

स्थानीय लोगों का कहना है कि हाईवे निर्माण में इस्तेमाल की गयी सामग्री अच्छी गुणवत्ता की नहीं है और संबंधित अधिकारियों की जवाबदेही तय करने के लिए इसकी जांच की जरूरत है। उद्घाटन के दिन ही विधानसभा की एक समिति ने इसका निरीक्षण किया था।
चेनारी से कांग्रेस विधायक मुरारी गौतम ने की थी शिकायत
बिहार विधानसभा की जीरो आवर कमेटी के प्रमुख चंद्रहस चौपाल ने कहा, “मुझे चेनारी से कांग्रेस विधायक मुरारी गौतम की तरफ से शिकायत मिली थी। हमने 24 और 25 अगस्त को इसका मुआयना किया और पाया कि अकबरनगर और श्रीरामनगर के बीच कई सड़क पर दरारें आई हुई हैं।” उन्होंने आगे कहा, “हमने स्थानीय लोगों से भी बात की है और BSRDC अधिकारियों के सामने इस मुद्दे को उठाया है।”

संबंधित विभाग की सफाई- बाढ़ के कारण खराब हुई सड़क

जब इसकी शिकायत संबंधित विभाग से की गयी तब उसने कहा कि सड़क की मरम्मत की जा रही है। सड़क निर्माण की देखरेख करने वाले BSRDC ने भी इसमें दरारें आने के बात मानी है। विभाग के DGM (तकनीकी) राज कुमार ने कहा, “सड़क के ऊपर से 12 दिनों तक बाढ़ का पानी बह रहा था। इससे दरारें पड़ गई हैं। बाढ़ के कारण हम सड़क के दोनों तरफ कंक्रीट नहीं जमा पाए।”

विधानसभा समिति के अध्यक्ष शून्यकाल में उठायेंगे मुद्दा

उस बीच चौपाल ने कहा कि विधायक शून्यकाल के दौरान इस मुद्दे को उठाएंगे और शून्यकाल समिति द्वारा इस पर ध्यान दिया जाएगा। किसी भी मानक से सड़क खुलने के लिए तैयार नहीं थी। चौपाल के साथ साइट पर आए स्थानीय नेता ने कहा, काम की गुणवत्ता घटिया है। निर्माण कंपनी और बीएसआरडीसी पर जिम्मेदारी तय करने के लिए मामले की गहन जांच की जरूरत है।

यह भी पढ़ेः सितंबर से नए ‘AC Economy’ class में सफर कर सकेंगे यात्री, इतना लगेगा किराया

Related posts

हजारीबाग में झुंड से बिछड़े हाथी का उत्पातः 36 घंटे में चार को कुचलकर मार डाला

Manoj Singh

Premchand Jayanti: आखिर क्यों राष्ट्रवाद को एक कोढ़ मानते थे प्रेमचंद ?

Sumeet Roy

51वें राज्यपाल सम्मेलन में झारखंड के राज्यपाल Ramesh Bais ने लिया हिस्सा, राज्य में हुए कार्यों की सराहना की

Sumeet Roy

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.