समाचार प्लस
Breaking झारखण्ड फीचर्ड न्यूज़ स्लाइडर राँची

Fight against Omicron : विदेश से झारखंड पहुंचने वाले पॉजिटिव मिले तो होंगे क्वारंटाइन, Omicron को लेकर गाइडलाइन जारी

Fight against Omicron: If you get positive from abroad reaching Jharkhand

न्यूज़ डेस्क/ समाचार प्लस झारखंड- बिहार

कोरोना वायरस के नए वेरिएंट ‘ओमिक्रोन’ (Omicron Variant) के बढ़ते खतरे को देखते हुए दुनिया भर में यात्रा पाबंदियां और अन्य प्रतिबंध लगने शुरू हो गए है. कोरोना के नए वेरिएंट ओमिक्रोन (Omicron) को देखते हुए झारखंड सरकार ने भी नई गाइडलाइन जारी की है। इसके तहत बीते पंद्रह दिनों के अंदर विदेशों से आने वाले यात्रियों को ट्रेस कर जांच की जाएगी।

सैंपल जीनोम सिक्वेंसिंग के लिए भेजा जाएगा

विदेशों से आने वाले लोगों की एक लिस्ट बनी है, लिस्ट के अनुसार लौटे यात्रियों की 48 घंटों में जांच की जाएगी। जो पॉजिटिव मिलेंगे उनका सैंपल जीनोम सिक्वेंसिंग के लिए भेजा जाएगा। साथ ही उन्हें क्वारंटाइन किया जाएगा या फिर अस्पताल में भर्ती किया जाएगा। निगेटिव आने वाले को भी सात दिन आइसोलेट रहना होगा, आठवें दिन फिर जांच करानी होगा। उसमें भी निगेटिव आने पर अगले सात दिनों तक स्वयं लक्षणों पर ध्यान देना होगा। वहीं विदेशों से आने वाले यात्रियों को पिछले 14 दिनों के ट्रेवल हिस्ट्री को एयर सुविधा पोर्टल पर अपलोड करना होगा। स्वास्थ्य विभाग के अपर मुख्य सचिव ने नयी गाइडलाइन सभी जिलों के उपायुक्तों को भेज दिया है।

एयरपोर्ट पर थर्मल स्क्रीनिंग

एक दिसंबर से बिरसा मुंडा एयरपोर्ट पर थर्मल स्क्रीनिंग शुरू की जाएगी। लक्षण मिलने वाले यात्रियों को तुरंत आइसोलेट किया जाएगा, ऐसे यात्री अगर पॉजिटिव मिलते हैं तो कांटेक्ट में आने वाले को भी ट्रेस किया जाएगा।

जिलों के इंट्री प्वाइंट पर जांच

नए वेरिएंट को देखते हुए सभी जिलों के इंट्री प्वाइंट पर चेकपोस्ट बनाकर रैपिड एंटीजेन और आरटीपीसीआर जांच की
जाएगी। इसके अलावा सभी जिलों में निजी और सरकारी अस्पतालों में आईसीयू और ऑक्सीजन बेड की उपलब्धता का मूल्यांकन करने को कहा गया है। साथ ही 14 अगस्त को जारी आदेश के अनुरूप दवाओं और बेड की उपलब्धता सुनिश्चित करने के लिए खरीदारी की योजना बना लेने को कहा गया है। ट्रेंड मैनपावर भी सुनिश्चित करने के लिए कहा गया है।

हॉटस्पॉट पर विशेष नजर

आदेश के अनुसार हॉटस्पॉट के रूप में चिन्हित इलाकों में पॉजिटिव मिल रहे मरीजों के सैंपल को जीनोम सिक्वेंसिंग के लिए भुवनेश्वर भेजा जाएगा। जिलों में जांच भी बढ़ाई जाएगी। साथ ही कोरोना प्रोटोकॉल को लेकर भी सख्ती बढ़ेगी

ये भी पढ़ें : The New CEO of Twitter: कौन हैं पराग अग्रवाल? जानिए Twitter के नए CEO के जीवन से जुड़े रोचक तथ्य

Related posts

Giridih में बड़ा हादसा, चार बच्चों की नदी में डूबने से मौत, मातम में बदला छठ का उत्साह

Manoj Singh

Hurray: Covid पर Good News: 19 अप्रैल तक पहले जैसी नॉर्मल लाइफ फिर होगी शुरू, ये हम नहीं कह रहे…

Pramod Kumar

मुल्ला बरादर का पत्ता कटा! मुल्ला हसन अखुंद को तालिबान सरकार की मिलेगी कमान

Manoj Singh