समाचार प्लस
Breaking झारखण्ड फीचर्ड न्यूज़ स्लाइडर बिहार राँची

Excellent MLA Jharkhand : कभी लालू के चहेते रहे रामचंद्र चंद्रवंशी साल 2021 के लिए उत्कृष्ट विधायक के सम्मान से नवाजे गए

Excellent MLA Jharkhand: Ramchandra Chandravanshi honored with the honor of Outstanding MLA

न्यूज़ डेस्क/ समचार प्लस झारखंड- बिहार
झारखंड विधानसभा में प्रत्येक वर्ष एक उत्कृष्ट विधायक (Excellent MLA Jharkhand) का चयन कर उन्हें विधानसभा स्थापना दिवस पर सम्मानित किये जाने की परंपरा रही है। झारखण्ड विधानसभा की 21 वीं वर्षगांठ के मौके पर पलामू के विश्रामपुर विधानसभा क्षेत्र का प्रतिनिधित्व करने वाले भाजपा विधायक रामचंद्र चंद्रवंशी को उत्कृष्ट विधायक के सम्मान से नवाजा गया। राज्यपाल रमेश बैश ने उन्हें बिरसा मुंडा स्मृति उत्कृष्ट सम्मान से सम्मानित किया। रामचंद्र चंद्रवंशी विश्रामपुर विधानसभा क्षेत्र का अब तक 4 बार प्रतिनिधित्व कर चुके हैं। श्री चंद्रवंशी दो बार राजद, जबकि दो बार भाजपा के टिकट पर विधायक चुने गए हैं। उत्कृष्ट विधायक का सम्मान मिलने से विश्रामपुर विधानसभा क्षेत्र की जनता में ख़ुशी का माहौल है और लोगों ने इसे गौरवशाली क्षण बताया है।

राष्ट्रीय जनता दल के साथ सियासी पारी शुरू की थी

साल 1995 को वो दौर था, जब रामचंद्र चंद्रवंशी सियासत में आए। उससे पहले वो प्रखंड कार्यालय में नाजिर हुआ करते थे। कहा जाता है कि एक साधु के कहने पर उन्होंने अपनी सरकारी नौकरी छोड़ दी और सियासत में किस्मत आजमाने निकल गये। राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) के साथ इन्होंने अपनी सियासी पारी शुरू की। आरजेडी के टिकट पर 1995 में बिश्रामपुर से विधानसभा चुनाव लड़ा। लालू यादव की लहर में रामचंद्र चंद्रवंशी यहां से जीत गये। विधायक के बाद इन्हें मंत्री बनने का भी मौका मिला। लेकिन 2000 का चुनाव चंद्रवंशी हार गये। 2005 में एक बार फिर आरजेडी के टिकट पर बिश्रामपुर में किस्मत आजमाई और इस बार जीत हासिल कर दोबारा विधायक बने। लेकिन अगला चुनाव यानी 2009 में चंद्रवंशी को फिर हार मिली। 2014 में रामचंद्र चंद्रवंशी आरजेडी को छोड़कर बीजेपी के साथ हो गये। और मोदी लहर की मदद से तीसरी बार बिश्रामपुर से विधायक बने।

विवादों से रहा है पुराना नाता, भूल गए थे पीएम का नाम

झारखंड की भाजपा सरकार के मुख्‍यमंत्री रघुवर दास के कैबिनेट मंत्री रामचंद्र चंद्रवंशी विवादों से घिरते रहे हैं। एक बार वह अपनी कमजोर याददाश्‍त के चलते सोशल मीडिया में हंसी के पात्र बन गए थे । प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के जन्‍मदिन के मौके पर गढ़वा में मीडिया के सामने बातचीत करते हुए वे प्रधानमंत्री का नाम तक भूल गए। अपनी पार्टी के सर्वमान्‍य और सबसे बड़े नेता का नाम भूलकर बीजेपी की किरकिरी कराने वाले स्वास्थ्य मंत्री रामचन्द्र चन्द्रवंशी का इसके साथ ही फिर एक विवाद से नाता जुड़़ गया था।

रघुवर सरकार में स्वास्थ्य मंत्री रहते कर दी थी लालू की प्रशंसा
रामचंद्र चंद्रवंशी जब रघुवर सरकार में स्वास्थ्य मंत्री थे, तब रिम्स में इलाजरत लालू यादव की जमकर उन्होंने मीडिया के सामने प्रशंसा कर दी थी, जिससे वो चर्चा में आ गए थे।

घूस लेते वीडियो हुआ था वायरल

झारखंड सरकार में स्वास्थ्य मंत्री रहते रामचंद्र चंद्रवंशी का एक वीडियो फेसबुक व व्हाट्सएप पर तेजी से वायरल हुआ था। उस वायरल वीडियो के बारे में कथित तौर पर आरोप लगा कि मंत्री रिश्वत ले रहे हैं। हालांकि वायरल वीडियो की जानकारी मिलते ही स्वास्थ्य मंत्री ने आपत्ति जताते हुए कह दिया था कि विरोधियों ने उनकी छवि को धूमिल करने के लिए इस तरह का वीडियो वायरल किया है। उन्होंने कहा कि वह पैसा ले नहीं,दे रहे थे।

रामचंद्र चंद्रवंशी के नाम पर है यूनिवर्सिटी

स्वास्थ्य मंत्री रामचंद्र चंद्रवंशी पलामू के हैदरनगर के चौकड़ी गांव के रहने वाले हैं। श्री चंद्रवंशी के दो बेटे हैं, ईश्वर सागर चंद्रवंशी और संजय चंद्रवंशी। अपने पिछले कार्यकाल में रामचंद्र चंद्रवंशी ने बिश्रामपुर में इंजीनियरिंग कॉलेज समेत कई शिक्षण संस्थान खोले. उनके नाम पर यूनिवर्सिटी भी खोले गए।

ये भी पढ़ें : Covid-19: 10 महीने बाद 10,000 से नीचे आया कोरोना संक्रमण, 24 घंटे में नये मामले 8,488 दर्ज

 

Related posts

पत्नी संग जगन्नाथपुर मंदिर पहुंचे सीएम हेमंत सोरेन, राज्य के खुशहाली के लिए की प्राथना

Khusboo Kumari

जम्मू-कश्मीर के पुंछ में आतंकियों से मुठभेड़, JCO समेत सेना के 5 जवान शहीद

Manoj Singh

केन्द्र सरकार ने सदन में बताया कोरोना के कारण 2020 में 11,716 व्यापारियों ने की आत्महत्या

Pramod Kumar

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.