समाचार प्लस
Breaking अंतरराष्ट्रीय देश फीचर्ड न्यूज़ स्लाइडर

Twitter के नए मालिक बने Elon Musk, CEO पराग अग्रवाल को निकाला

image source : social media

टेस्ला के CEO एलन मस्क ट्विटर के नए मालिक बन गए हैं. इसके बाद ट्विटर (Twitter) के सीईओ पराग अग्रवाल (Parag Agarwal) और सीएफओ नेड सेगल ने इस्तीफा दे दिया है. इसके साथ ही मस्क ने ट्विटर के लीगल पॉलिसी प्रमुख को भी बाहर का रास्ता दिखा दिया है.

इसी महीने की 4 अक्टूबर को मस्क ने 44 अरब डॉलर की इस डील को पूरा करने के संकेत दिए थे. इसी डील से वो पिछले कुछ महीनों से पीछा छुड़ाना चाह रहे थे. हालांकि ट्विटर के द्वारा मस्क को कोर्ट में खींचने के बाद मस्क ने डील पूरा करने का ऑफर दिया जिसे ट्विटर ने मान लिया.

ट्विटर-मस्क डील का घटना क्रम 

2 अप्रैल 2022: एलन मस्क ने 2 अप्रैल को ऐलान किया कि वह कंपनी के सबसे बड़ शेयर होल्डर्स हैं। उनके पास Twitter के 9.2 फीसद शेयर्स हैं।

14 अप्रैल 2022: इसके बाद उन्होंने 14 अप्रैल को ट्विटर को 54.20 डॉलर प्रति शेयर पर खरीदने का ऑफर दिया और कंपनी की कुल कीमत 44 अरब डॉलर लगाई।

25 अप्रैल 2022: ट्विटर ने एलन मस्क के इस ऑफर को मान लिया और 29 अप्रैल को 8 अरब डॉलर के टेस्ला के शेयर मस्क ने इस लिए बेचे ताकि इस डील को फाइनल किया जा सके।

13 मई 2022: एलन मस्क ने डील में नया मोड़ लाते हुए कहा कि ट्विटर में बोट अकाउंट रिव्यू होने तक यह डील होल्ड रहेगी। इसके बाद 26 मई 2022 को ट्विटर ने आरोप लगाया कि मस्क ने ट्विटर स्टॉक मैनिपुलेट किया। इसके बाद उन पर केस दर्ज किया गया।

8 जुलाई 2022: इस दिन एलन मस्क डील से पीछे हटते हुए, सौदा रद्द करने का एलान किया और इसके जवाब में ट्विटर ने मस्क पर मुकदमा ठोकदिया।

4 अक्टूबर 2022: मस्क थोड़ा पीछे हटते हुए ओरिजनल प्राइस पर ट्विटर डील को आगे बढ़ाने का प्रस्ताव दिया।

17 अक्टूबर 2022: अमेरिकी राज्य डेलावेयर में मस्क-ट्विटर डील आगे बढ़ाने की डेट तय की।

10 साल से अधिक समय से ट्विटर में थे अग्रवाल

अग्रवाल को पिछले साल नवंबर में कंपनी के सह-संस्थापक जैक डोर्सी के इस्तीफे के बाद ट्विटर का सीईओ नियुक्त किया गया था। भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान (आईआईटी), बॉम्बे और स्टैनफॉर्ड यूनिवर्सिटी से पढ़ाई कर चुके अग्रवाल ने एक दशक से अधिक समय पहले ट्विटर में नौकरी शुरू की थी। उस समय कंपनी में 1,000 से भी कम कर्मचारी हुआ करते थे।

‘न्यूयॉर्क टाइम्स’ की खबर के अनुसार, “पिछले साल ट्विटर के सीईओ नियुक्त किए गए अग्रवाल की मस्क के साथ सार्वजनिक और निजी रूप से कहासुनी हो गई थी। मस्क ने ‘कंटेंट मॉडरेशन’ (ऑनलाइन सामग्री की निगरानी और छंटनी की प्रक्रिया) के मामले में गड्डे की भूमिका की भी सार्वजनिक तौर पर आलोचना की थी।”

ये भी पढ़ें : ऑफिस ऑफ प्रॉफिट मामले में चुनाव आयोग की ना, Hemant Soren मामले में RTI के तहत जानकारी देने किया इनकार

 

Related posts

Bihar में जहरीली शराब से फिर मौत? बक्सर के मुरार के अंसारी गांव में छह लोगों की संदिग्ध मौत

Pramod Kumar

Jharkhand: झारखंड-बिहार की एक कहानी, झारखंड थोड़ा कम गरीब, बिहार आधा से ज्यादा गरीब

Pramod Kumar

निलंबित आईएएस Pooja Singhal को जमानत के लिए तीन नवंबर तक करना होगा इंतजार, सुनवाई टली

Manoj Singh