समाचार प्लस
Breaking झारखण्ड फीचर्ड न्यूज़ स्लाइडर हजारीबाग

हजारीबाग में झुंड से बिछड़े हाथी का उत्पातः 36 घंटे में चार को कुचलकर मार डाला

हजारीबाग में झुंड से बिछड़े हाथी का उत्पातः 36 घंटे में चार को कुचलकर मार डाला

न्यूज़ डेस्क/ समाचार प्लस झारखंड- बिहार

हजारीबाग जिले में पिछले 24 घंटे में एक बिरहोर पुरुष समेत चार लोगों को झुंड से बिछड़े हाथी ने मार दिया। सोमवार की शाम सात बजे सदर प्रखंड के डेमोटांड़ के डेमोटाड़ के बिरहोर टांडा में महावीर बिरहोर (45) पिता जगदीश बिरहोर को कुचल कर मार डाला। इस हमले में उसकी पत्नी सोमरी बिरहोरिन भी घायल हो गयी है। वन विभाग ने इलाज के लिए तत्काल 25 हजार रुपए मुहैया करवाया है।

इधर रविवार की रात कटकमदाग प्रखंड के अडरा और ढेंगुरा पंचायत में रविवार को जंगली हाथी ने दो महिला सहित तीन को कुचलकर मार डाला। मृतक में अडरा पंचायत के कुबा गांव निवासी कृति कुजूर 35 (वर्ष) पति लेंदर टोप्पो ,चीची निवासी सावित्री देवी 35 (वर्ष) पति विराज गंझू और मांडू थना क्षेत्र के बलसगरा निवासी विशुन रविदास 59 (वर्ष) शामिल हैं।

अन्य लोगों ने भाग कर बचाई अपनी जान 

घटना रविवार की देर शाम उस समय हुई जब यह दोनों महिलाएं कई अन्य साथियों के साथ बानादाग साप्ताहिक बाजार से सब्जी और बच्चों के लिए मिठाई लेकर अपने घर लौट रही थी। तभी कृति कुजूर को कुबा मंदिर के पास और सावित्री देवी को कुबा कब्रिस्तान के पास हाथियों ने चपेट में ले लिया और पटक कर मार डाला। अन्य लोगों ने भाग कर अपनी जान बचाई।

घरों को भी क्षतिग्रस्त किया

इस दौरान हाथी ने रामेश्वर राम और मंटू यादव के घर को क्षतिग्रस्त कर दिया। जबकि सुरेश महतो के घर के सामने लगे गेट को भी तोड़ दिया। अडरा पंचायत में घटना के बाद हाथी सिरसी गांव पहुंचे जहां पर सिरसी नदी के पास विशुन रविदास को भी कुचलकर मार डाला। वह रामगढ़ जिला मांडू थाना के बलसगरा गांव का रहने वाला था और सिरसी गांव में किराए के मकान में रहकर मजदूरी का काम करता था। कुबा चीची के ग्रामीणों के अनुसार, हाथी बड़कागांव के चेपा जंगल की ओर से अडरा पहुंचा और घटना को अंजाम दिया।

मृतक के परिजनों को चार- चार लाख रुपए मुआवजा 

पश्चिमी क्षेत्र प्रमंडल डीएफओ रविन्द्रनाथ मिश्रा के अनुसार मृतक के परिजनों को चार- चार लाख रुपए मुआवजा के तौर पर दिया जायेगा। इसके लिए तीन जरूरी प्रमाण पत्र विभाग को देना अनिवार्य होगा। इनमें थाना की प्राथमिकी रिपोर्ट की प्रति,पोस्टमार्टम रिपोर्ट और अंचल कार्यालय से निर्गत उतराधिकारी प्रमाण पत्र शामिल है। अभी फिलहाल अंतिम संस्कार के लिए 25-25 हजार रुपए दिए गए हैं।

ये भी पढ़ें : मानवाधिकार हनन मामले में पुलिस सबसे आगे! झारखंड -बिहार में ऐसी है स्थिति

Related posts

Corona Virus और Black Fungus की तबाही के बाद Zika Virus की Entry, हो जाएं सावधान, लापरवाही पड़ सकती है भारी 

Sumeet Roy

Jharkhand News: झारखंड में फिर जोर पकड़ रही है विधानसभा की सीटों को बढ़ाने की मांग, सभी दल एकजुट

Manoj Singh

UP Election 2022: समाजवादी पार्टी ने यूपी में जारी की पहली List, आजम खान रामपुर से लड़ेंगे चुनाव

Sumeet Roy