समाचार प्लस
Breaking देश फीचर्ड न्यूज़ स्लाइडर

यूपी-पंजाब समेत पांच राज्यों का बजा चुनावी बिगुल, 10 फरवरी से पड़ेंगे वोट, 10 मार्च को आयेगा परिणाम

न्यूज डेस्क/ समाचार प्लस – झारखंड-बिहार

इलेक्शन कमीशन ने पांचों राज्यों- उत्तर प्रदेश, पंजाब, उत्तराखंड, गोवा और मणिपुर में विधानसभा चुनाव की तारीखों का ऐलान कर दिया है। चुनाव ऐसे समय में हो रहे हैं जब देश कोरोना के खतरे से जूझ रहा है। सीईसी सुशील चंद्रा प्रेस कॉन्फ्रेंस कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि कोरोना काल में चुनाव कराना चुनौतीपूर्ण है। उन्होंने कहा कि चुनाव तैयारियों से पहले पूरी समीक्षा की गयी है। पांच राज्यों में 18.3 करोड़ मतदाता करेंगे मतदान करेंगे। मतदान कोरोना नियमों के तहत कराये जायेंगे।

पांच राज्यों के 690 विधानसभा सीटों लिए मतदान होंगे। सीटों के लिहाज से पांच राज्यों में उत्तर प्रदेश सबसे बड़ा राज्य है। उत्तर प्रदेश में कुल 403 सीटें हैं। इसके बाद पंजाब में 117 विधानसभा सीटें हैं।  बाकी तीन राज्यों में विधानसभा सीटों की संख्या 100 से कम है। उत्तराखंड में 70, मणिपुर में 60 और गोवा में 40 विधानसभा सीटें हैं।

मुख्य चुनाव आयुक्त ने बताया कि पांच राज्यों के चुनाव में कुल 18.3 करोड़ मतदाता करेंगे। मतदान के लिए 2,15,368 मतदान केंद्र मनाये जायेंगे। प्रत्येक मतदान केन्द्र पर 1250 मतदाता वोट डालेंगे। 80 वर्ष से ऊपर के वोटर के लिए पोस्टल वैलेट की व्यवस्था की गयी है।

सुशील चंद्रा ने कहा कि चुनाव की अधिसूचना तत्काल प्रभाव से लागू हो गयी है। उन्होंने पार्टियों और उम्मीदवारों के लिए तय नियमों की चर्चा की। उन्होंने कहा कि राजनीतिक दलों के लिए अपने आपराधिक केस बताना अनिवार्य होगा। चुनाव धांधली रोकने के लिए बनाया गया एप बनाया गया है।

सीईसी ने जानकारी दी कि इस बार उम्मीदवार ऑनलाइन कर नामांक कर सकें। इसके लिए ‘सुविधा’ एप बनाय गया है। इसके जरिये उम्मीदवार नामांकन कर सकेंगे।

उत्तर प्रदेश, गोवा में 40 लाख खर्च की सीमा। डोर टू डोर कैंपेन के लिए 5 लोगों की अनुमति। ज्यादा से ज्यादा वर्चुअल प्रचार पर जोर। रात 8 बजे के बाद चुनाव प्रचार पर रोक।

पांच राज्यों में विधानसभा चुनाव ऐसे समय में हो रहे हैं जब देश कोरोना के खतरे से जूझ रहा है। अब तो देश में 1 लाख से ज्यादा केस सामने आने लगे हैं। मुंबई-दिल्ली जैसे शहर कोरोना के ओमिक्रॉन वेरिएंट से पहले ही बेहाल हो चुके हैं. अब बाकी शहरों पर भी इसका खतरा मंडरा रहा है. कोरोना और उसके नए वेरिएंट ओमिक्रॉन की वजह से देशभर में हालात लगातार खराब होते जा रहे हैं.

मतदान तिथियां

उत्तर प्रदेश (कुल सीट 403) सात चरणों में मतदान

  • पहला चरण – 10 फरवरी
  • दूसरा चरण – 14 फरवरी
  • तीसरा चरण- 20 फरवरी
  • चौथा चरण-  23 फरवरी
  • पांचवां चरण- 27 फरवरी
  • छठा चरण- 3 मार्च
  • सातवां चरण- 7 मार्च

पंजाब (कुल सीट 117)  एक चरण में मतदान

मतदान – 14 फरवरी

उत्तराखंड (कुल सीट 70) एक चरण में मतदान

मतदान- 14 फरवरी

मणिपुर (कुल सीट 60) दो चरण में मतदान

प्रथम चरण- 27 मार्च

दूसरा चरण- 3 मार्च

गोवा (कुल सीट 40) एक चरण में मतदान

मतदान- 14 फरवरी

पांचों राज्यों की मतगणना – 10 मार्च

कहां किसकी सरकार

उत्तर प्रदेश: उत्तर प्रदेश में इस समय भाजपा की सरकार है। भाजपा के योगी आदित्यनाथ प्रदेश के मुख्यमंत्री हैं। 2017 के विधानसभा चुनाव में भाजपा ने अपने सहयोगियों के साथ 403 सीटों में से 325 पर कब्जा जमाया था। भाजपा ने तब सपा के अखिलेश यादव की सरकार को हटाकर उत्तर प्रदेश की सत्ता पर कब्जा किया था। सपा को तब सिर्फ 47 सीटें ही मिली थीं।

पंजाब: पंजाब में कांग्रेस की सरकार है और मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी हैं। लेकिन 2017 के विधानसभा चुनाव में कांग्रेस ने कैप्टन अमरजीत सिंह के नेतृत्व में चुनाव लड़ा था और सत्ता पर कब्जा किया था। कैप्टन मुख्यमंत्री भी बने, लेकिन 2022 चुनाव से ऐन पहले कांग्रेस की अंदरूनी उठापटक के कारण उन्हें मुख्यमंत्री पद से हटा दिया गया। बाद में कैप्टन अमरजीत सिंह ने पार्टी से इस्तीफा देकर अपनी अलग पार्टी बनायी है। 2017 में कांग्रेस ने 77 सीटों पर कब्जा करते हुए सत्ता पर कब्जा किया था।

उत्तराखंड: उत्तराखंड के 2017 के विधानसभा चुनाव में भाजपा ने प्रचंड बहुमत के साथ सरकार बनायी थी। भाजपा ने 70 में से 56 सीटों पर कब्जा किया था। इस विधानसभा में भाजपा के तीन मुख्यमंत्री सरकार में बने हैं। चुनाव के बाद त्रिवेन्द्र सिंह रावत के नेतृत्व में उत्तराखंड की सरकार बनी थी। इसके बाद थोड़े समय से लिए तीरथ सिंह रावत मुख्यमंत्री बने। वर्तमान में पुष्कर सिंह धामी राज्य के मुख्यमंत्री हैं।

मणिपुर:  2017 में एन बीरेन सिंह ने नेशनल पीपुल्स पार्टी, नागा पीपुल्स फ्रंट, लोक जनशक्ति पार्टी और तृणमूल कांग्रेस के साथ मिलकर राज्य में भाजपा की पहली बार सरकार बनायी तथा मुख्यमंत्री बने। इस विधानसभा चुनाव में कांग्रेस 28 सीटें जीतकर सबसे बड़ी पार्टी बनी थी। लेकिन शेष दलों के एलायंस बन जाने के कारण उसे सत्ता से दूर रहना पड़ा था।

गोवा: गोवा के 2017 के विधानसभा चुनाव में 40 सीटों में से कांग्रेस सबसे ज्यादा 17 सीटें जीतकर भी सरकार नहीं बना सकी थी। वहीं 13 सीटें जीतने वाली भाजपा अपने सहयोगियों के साथ मिल कर सरकार बनाने में सफल रही। 2017 में गोवा के मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर बने थे। उनके आकस्मिक निधन के बाद प्रमोद सावंत मुख्यमंत्री पद का भार सम्भाले हुए हैं।

यह भी पढ़ें: कोरोना से डरना है, एक दिन में 1.41 लाख मरीज और 285 मौतें कह रहे अब भी सम्भल जायें

Related posts

हजारीबाग में झुंड से बिछड़े हाथी का उत्पातः 36 घंटे में चार को कुचलकर मार डाला

Manoj Singh

Euthanasia Device: इस देश ने ‘suicide machine’ को दी मंजूरी, बिना दर्द एक मिनट में होगी मौत

Manoj Singh

Kangana Ranaut की कार पर किसानों का Attack, जमकर हुई नारेबाजी

Sumeet Roy