समाचार प्लस
Breaking झारखण्ड धनबाद फीचर्ड न्यूज़ स्लाइडर राँची

duping people in name of Hajj: Hajj का सपना दिखा नौशाद कर चुका है करोड़ों की ठगी, ऐसे करता था गुमराह

duping people in name of Hajj

न्यूज़ डेस्क/ समाचार प्लस झारखंड – बिहार
हज (Hajj) यात्रा कराने के नाम पर मुसलमानों को ठगने वाला मोस्ट वांटेड नाैशाद को धनबाद पुलिस ने गिरफ्तार किया है। इसके पास से पुलिस को एक दर्जन पासपोर्ट भी हाथ लगे हैं। यह धनबाद के सरायढेला थाना क्षेत्र के एक फ्लैट को अपना ठिकाना बना रखा था। गिरफ्तारी की सूचना मिलते ही इससे पीड़ित दो दर्जन से ज्यादा लोग सरायढेला थाना पहुंच रुपये की मांग की। हालांकि किसी ने लिखित शिकायत नहीं की। दूसरी तरफ गिरफ्तारी की सूचना मिलने के बाद रांची पुलिस धनबाद पहुंची। नाैशाद को अपने साथ लेकर चली गई। उसपर रांची के ओरमांझी थाने में हज यात्रा के नाम पर ठगने का मामला दर्ज है। इसी मामले में रांची पुलिस ले गई।

ओरमांझी पुलिस देर रात उसे सरायढेला थाना से अपने साथ ले गई

हज कराने के नाम पर ठगी करने वाला मोस्ट वांटेड नौशाद के फ्लैट से पुलिस ने एक दर्जन पासपोर्ट भी जब्त किए हैं। सभी पासपोर्ट अलग-अलग लोगों के हैं। जिनके पासपोर्ट है पुलिस उनकी तलाश कर रही है। सरायढेला थाना प्रभारी ने बताया कि उन्हें हज यात्रा पर भेजने के नाम पर नौशाद ने यह पासपोर्ट उनसे लेकर रखा होगा। वहीं आरोपित नौशाद के पकड़े जाने के बाद ओरमांझी पुलिस देर रात उसे सरायढेला थाना से अपने साथ ले गई है। नौशाद से हुए ठगी के शिकार लोग देर रात तक सरायढेला थाना के बाहर जमे भी रहे। लगभग दो दर्जन लोग थाना के बाहर थे, उनका कहना था कि उन लोगों ने नौशाद के खिलाफ कोई केस दर्ज नहीं करवाया है मगर वह भी पीड़ित हैं।

पटना में ठगी कर भाग गया था नेपाल

नौशाद आलम उर्फ इरशाद पटना में नेशनल टूर ट्रेवल्स के नाम पर लगभग तीन करोड़ की ठगी कर नेपाल भाग गया था। बिहार पुलिस कई वर्षों से उसकी तलाश कर रही थी वर्ष 2014 में वह पटना में ट्रेवल एजेंसी के ऑफिस चलाता था। उस दौरान भी हज के नाम पर ठगी की थी। पुलिस उसे काफी दिनों से तलाश रही थी।

अलग-अलग नाम का इस्तेमाल करता था

नौशाद आलम नाम बदलने में उस्ताद है। उसके पास से कई आधार कार्ड में मिले हैं जिसमें उसके अलग-अलग नाम है। किसी में मुस्कान आमिर लिखा है तो किसी में कुछ और। पूछताछ में उसने बताया कि उसका असली नाम नौशाद ही है। अलग-अलग शहरों में हज यात्रा भेजने के नाम पर वह अलग-अलग नाम का इस्तेमाल करता था। पुलिस ने उसके एक साथी कबीर को रांची से पहले ही गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है।
ये भी पढ़ें :Deoghar DC को नहीं हटाने के ल‍िए निर्वाचन आयोग से पुनर्विचार का आग्रह करेगी सरकार, आखिर क्यों बने हैं सरकार के चहेते?

 

Related posts

Friendship day: दोस्ती और दुश्मनी का Cocktail है ‘Politics’

Manoj Singh

मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने सरयू राय पर लिखी पुस्तक ‘The People’s Leader’ का विमोचन किया

Pramod Kumar

BJP ने जारी की 5 राज्यों के चुनाव प्रभारियों की लिस्ट, जानें कौन होंगे प्रभारी, कहां मिली किसे क्या जिम्मेदारी

Manoj Singh