समाचार प्लस
Breaking देश फीचर्ड न्यूज़ स्लाइडर

Driving License: अब बिना टेस्ट के ही बनेगा ड्राइविंग लाइसेंस! घर बैठे हो जाएंगे ये 58 काम, सिर्फ इसकी पड़ेगी जरूरत… 

image source : social media

Driving License: सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्रालय (MoRTH) ने 58 सेवाओं को पूरी तरह ऑनलाइन कर दिया है. ड्राइविंग लाइसेंस (Driving license) के लिए लोगों को आरटीओ (RTO) यानी रीजनल ट्रांसपोर्ट ऑफिस जाकर ड्राइविंग टेस्ट देना पड़ता था. लेकिन अब ये टेस्ट नहीं देना होगा. मंत्रालय ने इस बारे में एक नोटिफिकेशन जारी किया है. केंद्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्रालय ने नई व्यवस्था लागू करने का फैसला लिया है. सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्रालय ने नागरिकों के लिए ड्राइविंग लाइसेंस (Driving license) से लेकर व्हीकल रजिस्ट्रेशन तक की प्रक्रिया को अब आसान बना दिया है.

18 नागरिक-केंद्रित सेवा बढ़कर हुए 58

अब ड्राइविंग लाइसेंस और कंडक्टर लाइसेंस से लेकर परमिट आदि से संबंधित 58 सर्विस का लाभ ऑनलाइन उठाया जा सकता है. इन कामों के लिए अब लोगों को अपने क्षेत्रीय परिवहन कार्यालाय (RTO) जाने की जरूरत नहीं पड़ेगी. MoRTH ने अपने नोटिफिकेशन में कहा है कि 18 नागरिक-केंद्रित सेवाओं को बढ़ाकर 58 कर दिया गया है. अब नागरिक आसानी से घर बैठे इन सर्विस का लाभ उठा सकते हैं.

आधार वेरिफिकेशन है जरूरी

आधार वेरिफिकेशन के आधार पर कोई भी नागरिक 58 आरटीओ सेवाएं का लाभ ऑनलाइन उठा सकता है. मंत्रालय ने शनिवार को कहा कि स्वैच्छिक आधार पर आधार वेरिफिकेशन की मदद से ड्राइविंग लाइसेंस और सभी तरह की सेवाओं का लाभ घर बैठे ही उठाया जा सकता है. जिन सेवाओं का ऑनलाइन लाभ उठाने के लिए आधार वेरिफिकेशन से गुजरना होगा, वो हैं लर्नर ड्राइविंग लाइसेंस के लिए आवेदन, डुप्लीकेट ड्राइविंग लाइसेंस और ड्राइविंग लाइसेंस का रिन्यूअल.

अगर आप घर बैठे इन सेवाओं का लाभ उठाना चाहते हैं, तो आपको आधार वेरिफिकेशन कराना होगा. इसके लिए ड्राइविंग टेस्ट देने की जरूरत नहीं पड़ेगी. इंटरनेशनल ड्राइविंग परमिट जारी करना, कंडक्टर लाइसेंस में एड्रेस अपडेट, व्हीकल ट्रांसफर के लिए आवेदन भी अब ऑनलाइन किया जा सकता है. इसके लिए देश के नागरिक को स्वैच्छिक आधार पर आधार वेरिफिकेशन की प्रक्रिया से गुजरना होगा.

आधार नहीं है तो फिजिकल फॉर्म है विकल्प

नोटिफिकेशन के मुताबिक अगर किसी व्यक्ति के पास आधार नहीं है तो वह फिजिकल फॉर्म में इन सेवाओं का फायदा उठा सकता है. इसके लिए उसे सीएमवीआर, 1989 के तहत वैकल्पिक दस्तावेज फिजिकली सबमिट करना होगा.

ये भी पढ़ें : 155 रुपये में Reliance Jio दे रही हर दिन 2GB डेटा, पूरे महीने चलेगा इंटरनेट और होगी अनलिमिटेड कॉलिंग

 

Related posts

7th JPSC के अभ्यर्थियों को बड़ा झटका, याचिका खारिज

Manoj Singh

Revdi Culture: मुफ्त, मुफ्त, मुफ्त… कहीं राजस्व पर भारी ना पड़ जाए ‘मुफ्त’ वादों की राजनीति

Manoj Singh

Fear of Encounter : सरेंडर कर रहा हूं, प्लीज गोली मत मारो… तख्ती लटकाकर थाने पहुंचा खौफजदा अपराधी

Manoj Singh