समाचार प्लस
Breaking देश फीचर्ड न्यूज़ स्लाइडर

कंगना से न ले ‘पंगा’, क्वीन की ‘भविष्यवाणी’ राउत, उद्धव का कर चुकी है बंटाधार, अबकी पराग अग्रवाल

Don't take 'Panga' from Kangana, Queen's Raut, Uddhav's prediction has come true

न्यूज डेस्क/ समाचार प्लस – झारखंड-बिहार

बॉलीवुड एक्ट्रेस कंगना रनौत कोई बड़ी भविष्यवक्ता हैं या उनकी जुबान ही ऐसी है कि जो ‘कहा’ हो गया। राजनीतिक ताकत के मद में शिवसेना के संजय राउत ने कंगना से पंगा लिया, उनका बुरा हो गया। महाराष्ट्र के तत्कालीन मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने भी कंगना से जमकर पंगा लिया। उनके साथ भी बुरा हुआ। बुरा होने वालों की इस सूची में अब पराग अग्रवाल भी शामिल हो गये। दुनिया के सबसे रईस एलन मस्क ट्विटर के नए मालिक बन गये हैं। उनके नया मालिक बनते ही पराग अग्रवाल ट्विटर से बाहर हो गये हैं। आप भी सोच रहे होंगे, इतनी सारी घटनाओं के लिए भला कंगना का क्या रिश्ता है।

जिसने लिया कंगना से पंगा, नतीजा बुरा हुआ

बता दें, ये तीनों हस्तियां सीधे-सीधे कंगना रनौत से जुड़ी हैं। महाराष्ट्र सरकार में मंत्री रहे संजय राउत, महाराष्ट्र के पूर्व सीएम उद्धव ठाकरे और पराग अग्रवाल की कभी भी  कंगना से नहीं बनी। तीनों ने हमेशा कंगना से पंगा लिया। लेकिन कंगना किसी के आगे नहीं झुकीं, और डटकर उनका मुकाबला किया। कंगना ने तीनों का ‘अच्छा नहीं’ होने की भविष्यवाणी तक कर चुकी हैं। और हुआ भी वहीं। अब इसे क्या कहेंगे। संजय राउत ईडी के चंगुल में बुरी तरह से फंसे हैं। उद्धव ठाकरे को महाराष्ट्र की सत्ता से हाथ धोना पड़ा और अब पराग अग्रवाल की इतनी प्रतिष्ठित नौकरी हाथ से निकल गयी। क्या यह महज संयोग है, या कंगना के जुबान का असर!

कंगना ने की अपनी ‘तारीफ’

पराग अग्रवाल के ट्विटर से आउट होने के बाद कंगना ने अपनी इंस्टा स्टोरी पर एक लंबा-चौड़ा पोस्ट शेयर किया है जिसमें उन्होंने लिखा है ‘मैं उन्हीं चीजों को लेकर प्रीडिक्ट करती हूं जो होने वाली होती हैं। मेरी इस प्रतिभा को लोग काला जादू और एक्स-रे भी कहते हैं, लेकिन मेरी इस प्रतिभा की कोई कदर नहीं है। भविष्यवाणी करने के लिए आपको इस विषय पर अध्ययन करना जरूरी है और उसके लिए ऑबसर्वेशनल स्किल्स की जरूरत पड़ती है’।

यह भी पढ़ें: दिल्ली हवाई अड्डे के रनवे पर था IndiGo विमान, इंजन से निकलने लगी चिंगारी, Video में देखिये भयावह नजारा

Related posts

South Korea : जिस Halloween Party के दौरान चारों तरफ मच गई चीख-पुकार, सड़क पर बिछ गई लाशें, जानें क्या है उस फेस्टिवल को मनाने के पीछे की कहानी

Manoj Singh

पितरों के प्रति श्रद्धा-तर्पण का ‘श्राद्ध-पक्ष’ शुरू, 6 अक्टूबर को सर्वपितृ अमावस्या

Pramod Kumar

Jharkhand: मोबाइल के प्रीपेड प्लान की तरह होगा स्मार्ट मीटर, रिचार्ज खत्म होते पावर कट, जिओ-एयरटेल नेटवर्क पर करेगा काम

Pramod Kumar