समाचार प्लस
Breaking झारखण्ड फीचर्ड न्यूज़ स्लाइडर

जेपीएससी पीटी परीक्षा की सीबीआई जांच व जेपीएससी अध्यक्ष को बर्खास्त करने की मांग को लेकर राज्यपाल से मिला भाजपा प्रतिनिधिमंडल

BJP Delegation Meet Governor

न्यूज डेस्क/ समाचार प्लस – झारखंड-बिहार

जेपीएससी पीटी परीक्षा में धांधली का आरोप लगाते हुए भारतीय जनता पार्टी की एक प्रतिनिधिमंडल महामहिम राज्यपाल रमेश बैस से मुलाकात किया है। महामहिम से मुलाकात के दौरान एक ज्ञापन भी सौंपा जिसके तहत जेपीएससी द्वारा आयोजित 7 वीं से 10वीं प्रारंभिक परीक्षा के परिणामों के बाद उजागर भ्रष्टाचार की जांच सीबीआई से कराने एवं आयोग के वर्तमान अध्यक्ष को बर्खास्त करने की मांग किया है। पीटी परीक्षा में गड़बड़ी स्व संबंधित ज्ञापन के माध्यम से बिंदुवार मांग की है-

  1. प्रारंभिक परीक्षा में आयोग द्वारा जारी CUT-OFF से कम अंक लाने वाले कई छात्रों को पास कर दिया गया और अधिक अंक लाने वालों को फेल कर दिया गया।
  2. इस प्रारंभिक परीक्षा में यह भी देखा गया कि कई परीक्षा केंद्रों से क्रमवार रोल नम्बर से छात्र पास हुए, जिसमें माननीय मुख्यमंत्री जी और राज्य के वित्त मंत्री जी के क्षेत्र के परीक्षा केंद्र शामिल थे जहाँ परीक्षा केंद्रों पर CCTV भी नहीं था और न ही प्रशासन द्वारा वीडियो रिकॉर्डिंग की गई।
  3. जब भाजपा के विधायको, कार्यकर्ताओं और अभ्यर्थियों ने इतने बड़े पैमाने पर हुई इन गड़बड़ियों के खिलाफ आवाज उठाई तो राज्य सरकार के इशारे पर उनपर लाठीचार्ज कर मुकदमा भी दर्ज कर दिया गया।
  4. पार्टी द्वारा आंदोलन करने और प्रदेश अध्यक्ष श्री दीपक प्रकाश जी के द्वारा प्रेसवार्ता कर गड़बड़ियों को जनता के सामने लाने के बाद आयोग ने दबाव में आकर रिजल्ट जारी होने के 40 दिन बाद 49 छात्रों को फेल कर दिया जो नवंबर को पास घोषित किये गये थे. वह भी इस तर्क पर की इनकी OMR Sheet ( Answer Sheet) आयोग के पास है ही नहीं, तब सवाल यह है कि आखिर इतने बच्चों की OMR Sheet गयी कहां और किन अधिकारियों के मिलीभगत के कारण इनकी OMR Sheet गायब हुई।
  5. आयोग ने खुद अपनी परीक्षा नियमावली का भी पालन नहीं किया है, जिसकी कंडिका 30 में यह साफ है कि प्रारंभिक परीक्षा में भाग लेने वाले सभी छात्रों का OMR आयोग की वेबसाइट पर अपलोड करना है, जो अब तक नहीं किया गया है।
  6. सूचना है कि प्रारंभिक परीक्षा के प्रश्न परीक्षा आयोजित होने के पूर्व ही व्हाट्सएप्प पर वायरल हो गये थे जिससे इस परीक्षा की पारदर्शिता बिल्कुल समाप्त हो जाती है।

प्रतिनिधिमंडल ने कहा है कि राज्य के होनहार युवक-युवतियां आयोग में व्याप्त भ्रष्टाचार के खिलाफ लगातार सड़कों पर आंदोलन कर रहे हैं परंतु सरकार इन्हें पुलिसिया रौब और मुकदमों के दबाकर इनका भविष्य खराब करना चाहती है।

प्रतिनिधिमंडल ने महामहिम राज्यपाल रमेश बैस से  अनुरोध किया कि आयोग के अध्यक्ष को बर्खास्त कर पूरे प्रकरण की जाँच सीबीआई से कराने हेतु राज्य सरकार को निर्देशित किया जाए।

प्रतिनिधिमंडल में प्रदेश महामंत्री आदित्य साहू, प्रदीप वर्मा, बालमुकुंद सहाय, प्रदेश मंत्री व विधायक नवीन जायसवाल, प्रदेश मंत्री सुबोध सिंह गुड्डू, विधायक भानु प्रताप शाही और सोशल मीडिया सह प्रभारी राहुल अवस्थी शामिल थें।

यह भी पढ़ें: सीएम हेमंत ने कोल्हान प्रमंडल में 5 लाख 34 हजार 752 लाभुकों के बीच 14 अरब 43 करोड़ की परिसंपत्तियां बांटीं

Related posts

देवघर: करोड़ों रुपये खर्च के बावजूद पवित्र शिवगंगा रह गयी मैली, बोले डीसी- नगर निगम से लिया जाएगा जवाब

Manoj Singh

गोपालगंज: बाथरूम में नहाने गए एएसआई की करंट लगने से मौत

Manoj Singh

महात्मा गांधी की जयंती के पूर्व संध्या पर कांग्रेस नेताओं ने महात्मा गांधी की प्रतिमा के समक्ष 1001 दीपक जलाकर किया नमन

Sumeet Roy