समाचार प्लस
Breaking झारखण्ड देश फीचर्ड न्यूज़ स्लाइडर

DEEPAWALI: ग्रीन पटाखे नहीं करेंगे आपकी दिवाली धुआं-धुआं, सुप्रीम कोर्ट भी चाहता है यही

Crackers

न्यूज डेस्क/ समाचार प्लस – झारखंड-बिहार

दिवाली आते ही बच्चों, युवाओं और बड़ों में पटाखे चलाने का उल्लास जगने लगता है। दो साल, खासकर पिछले साल, से लोगों को अपने इस बेहतरीन शौक को दबाकर रखना पड़ रहा है, क्योंकि यह समय कोरोना का है। कोरोना अभी भी हमारे बीच है। वैक्सीन लगाकर हम भले अपने आप को थोड़ा सुरक्षित महसूस कर रहे हैं, लेकिन एक भय हमेशा बना रहता है। यही कारण है कि सरकार लोगों को सुरक्षित रखने के लिए गाइडलाइन्स जारी करती रहती है। अब तो सुप्रीम कोर्ट का भी निर्देश आ गया है। सुप्रीम कोर्ट ने पटाखों की बिक्री को नियंत्रित किया है। सर्वोच्च न्यायालय ने पटाखों की बिक्री पर प्रतिबंध की बात नहीं कही है, लेकिन लोगों को ग्रीन पटाखे चलाने का निर्देश दिया है। ग्रीन पटाखे दिवाली की खुशियां मनाने का एक सुरक्षित तरीका है।

इधर, कई राज्यों ने भी सामान्य पटाखों पर बैन लगाते हुए ग्रीन पटाखों की इजाजत दी है। लोगों के मन में यह सवाल उठने लगा है कि ये ग्रीन पटाखे क्या होते हैं। दरअसल, ग्रीन पटाखे अपने नाम के अनुरूप कम प्रदूषण फैलाने वाले पटाखे हैं। ये पर्यावरण के लिए भी सही हैं। ग्रीन पटाखों को खास तरह से तैयार किया जाता है इसलिए ये 30-40 फीसदी तक प्रदूषण कम करते हैं।  ग्रीन पटाखों में वायु प्रदूषण को बढ़ावा देने वाले नुकसानदायक कैमिकल नहीं होते हैं। ग्रीन पटाखों के लिए कहा जाता है कि इसमें एल्युमिनियम, बैरियम, पौटेशियम नाइट्रेट और कार्बन का इस्तेमाल नहीं किया जाता है।

कहां मिलेंगे पटाखे?

सरकारी गाइडलाइन के कारण, कुछ साल पहले तो ग्रीन पटाखों का निर्माण छोटे पैमाने पर होता था। लेकिन अब इसका प्रोडक्शन बड़े स्तर पर हो रहा है। सरकार की ओर से रजिस्टर्ड दुकानों पर आसानी से ग्रीन पटाखे खरीदे जा सकते हैं।

ग्रीन पटाखे होते कैसे हैं?

ग्रीन पटाखे दिखने में सामान्य पटाखों की तरह ही होते हैं। फुलझड़ी, फ्लॉवर पॉट, स्काईशॉट जैसे सभी तरह के पटाखे मिलते हैं ग्रीन पटाखों के रूप में मिलते हैं। इन्हें भी माचिस की तरह जलाया जाता है। इसके अलावा इनमें खुशबू और वाटर पटाखे भी आते हैं, जिन्हें अलग तरह से जलाया जाता है।

कीमत में कितना असर?

ग्रीन पटाखे सामान्य पटाखों से थोड़े महंगे होते हैं। जैसे जिन पटाखों के लिए आपको 250 रुपये तक खर्च करने पड़ते हैं, उन पटाखों के लिए आपको ग्रीन पटाखों की कैटेगरी में 400 रुपये से ज्यादा खर्च करना पड़ सकते हैं।

यह भी पढ़ें: JioPhone Next खरीदने के लिए इंतजार खत्म! इस तरह 1,999 रुपये में घर ले जाएं दुनिया का सबसे सस्ता 4G फोन, जानिए सबकुछ

Related posts

Happy Birthday Hema Malini: Dream Girl नहीं अड़तीं तो ‘हेमा मालिनी’ से बन जातीं ‘सुजाता’

Pramod Kumar

Padma Award: झारखंड और बिहार की विभूतियों को सम्मानित कर बढ़ा पद्म पुरस्कारों का मान

Pramod Kumar

Birthday Special: Kiara Advani ने Salman के कहने पर क्यों बदल डाला अपना नाम, जानें पूरी कहानी

Sumeet Roy

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.