समाचार प्लस
Breaking अपराध झारखण्ड फीचर्ड न्यूज़ स्लाइडर

मछली पकड़ने से मना करने पर 11 वर्षीय बालक की हुई थी पीट-पीटकर हत्या, कोर्ट ने दोषी को दी फांसी की सजा

चाईबासा: मछली मारने से मना करने पर नाबाल‍िग की कोई पांच माह पहले पटक-पटक कर हत्‍या कर दी गई थी. प्रधान जिला एवं सत्र न्यायाधीश विश्वनाथ शुक्ला की अदालत ने हत्‍यारे सुपाई चांप‍िया को फांसी की सजा सुनाई है. इसके साथ ही एक लाख रुपये जुर्माना भी लगाया है. सुपाई गुवा थाना इलाके का रहनेवाला है.

घटना इसी वर्ष 23 अप्रैल की है. दर्ज मामले के अनुसार लक्ष्मण चांप‍िया और मूंगा चांप‍िया नहाने के लिए कारो नदी गये थे. जब नहाकर लौट रहे थे तो सुपाई चांप‍िया ने दोनों बच्‍चों को करंट का तार पकड़ने में मदद करने के लिए कहा.

दोनों काफी डर गए और वहां से भागने की कोशिश करने लगे. इसी क्रम में आठ साल के लक्ष्मण चांप‍िया को सुपाई चांप‍िया ने दौड़ाकर पकड़ लिया और नदी के सामने लाकर पटक- पटक कर हत्‍या कर शव को नदी में फेंक द‍िया. मूंगा चांप‍िया इस घटना का एकमात्र चश्‍मदीद गवाह था. उसी ने पर‍िजनों को जानकारी दी और फ‍िर शव बरामद कर पुल‍िस ने हत्‍या का मामला दर्ज क‍िया था.

इसे भी पढ़ें: Jharkhand: कोर्ट से अधिकारी भागते थे अब जज भी भागने लगे

Related posts

Bihar Floor Test: फ्लोर टेस्ट में पास हुए नीतीश कुमार, BJP ने किया वोटिंग का बहिष्कार

Manoj Singh

गिरिडीह में कोर्ट जाने के दौरान जेलर की गाड़ी पर चली गोली, बाल-बाल बचे जेलर प्रमोद कुमार

Sumeet Roy

Ukraine Crisis: रेस्क्यू करने में भारत सबसे आगे, अमेरिका, ब्रिटेन, जर्मनी, चीन तो हाथ किये खड़े

Pramod Kumar