समाचार प्लस
Breaking अंतरराष्ट्रीय देश फीचर्ड न्यूज़ स्लाइडर

Covid-19: अमेरिका-यूरोप में फिर मचा हाहाकार, भारत में कहीं फिर तो नहीं मंडरायेगा खतरा?

Covid-19

न्यूज डेस्क/ समाचार प्लस – झारखंड-बिहार

एक तरफ दुनियाभर में कोरोना वायरस संक्रमण के मामलों में कमी आ रही है, वहीं, अमेरिका और यूरोप में कोरोना ने फिर एक बार कहर ढाना शुरू कर दिया है। इससे चिकित्सा विशेषज्ञों के माथे पर बल पड़ गये हैं। अमेरिका और यूरोप में कोरोना के बढ़ते केसेस के बाद जहां अस्पतालों में ICU बेड की समस्या उत्पन्न हो गयी है। विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने कहा है कि यूरोप कोरोना महामारी की मजबूत पकड़ में है  विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने यूरोप को लेकर आशंका जतायी है कि आने वाले दिनों में यहां सात लाख और मौतें हो सकती हैं।

कोरोना महामारी बढ़ायेगी यूरोप में मृतकों की संख्या

WHO के अनुसार महामारी के प्रकोप के कारण यूरोपीय देशों में मौतों की संख्या में और इजाफा हो सकता है। वर्तमान में यूरोप में महामारी से 15 लाख लोगों की मौत हुई है, लेकिन वर्तमान हालातों को देखते हुए अगले साल वसंत ऋतु तक मृतकों की कुल संख्या 22 लाख तक पहुंचने की संभावना है। WHO के अनुसार, यूरोप और मध्य एशिया में मौतों का प्रमुख कारण कोरोना वायरस ही है।

अमेरिका में फिर बढ़ी कोरोना महामारी, 15 राज्य ज्यादा प्रभावित

अमेरिका के कई हिस्सों में फिर से संक्रमण के मामलों में इजाफा देखने को मिल रहा है। हालात ये हैं, 15 राज्यों में एक साल पहले की तुलना में अधिक गति से अस्पतालों में ICU बेड भर रहे हैं। वहीं दूसरी ओर, अमेरिका में पिछले तीन महीने से अधिक समय से प्रतिदिन औसतन 1,000 से अधिक लोगों की मौत हो रही है। ऐसे में यह आंकड़ा भी बेहद चिंता का विषय है।

भारत में अगली लहर आने की आशंका कम – AIIMS निदेशक

भारत में अभी वैक्सीन की तीसरी खुराक देने की जरूरत नहीं है, लेकिन भविष्य में इसकी जरूरत पड़ सकती है। दिल्ली स्थित अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (AIIMS) के निदेशक डॉ रणदीप गुलेरिया ने यह बात कही है। साथ ही उन्होंने कहा है कि हर बीतते दिन के साथ महामारी की तीसरी लहर आने की आशंका कमजोर होती जा रही है।

एक कार्यक्रम में बोलते हुए डॉ गुलेरिया ने वैक्सीनें काम कर रही हैं और ब्रेकथ्रू संक्रमण के जरिये अस्पताल में भर्ती होने वाले लोगों की संख्या बढ़ नहीं रही है। साथ ही सीरो-पॉजिटिविटी रेट भी ऊंची बनी हुई है। इन्हें देखकर लग रहा है कि फिलहाल तीसरी खुराक की जरूरत नहीं है।

यह भी पढ़ें: COVID-19 vaccine की पहली डोज के बाद गर्भवती महिला की मौत? पति ने की जांच की मांग 

Related posts

UP Election: मायावती को अब नहीं मुख्तार की जरूरत नहीं, डर है कहीं बिदक न जायें ब्राह्मण वोटर

Pramod Kumar

संचार मंत्रालय का ऐलान, अब Postman घर आकर करेंगे आधार कार्ड में मोबाइल नंबर Update

Manoj Singh

7th JPSC: Answer Key जारी, 28 सितंबर तक दर्ज कराएं आपत्ति और सुझाव

Manoj Singh

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.