समाचार प्लस
Breaking देश फीचर्ड न्यूज़ स्लाइडर राँची

Highest Shivling Temple : रांची में बना देश का दूसरा सबसे ऊंचा शिवलिंग मंदिर, शंखनाद होने पर 1 मिनट तक गूंजेगी आवाज

shiv ling temple

Highest Shivling Temple : झारखंड की राजधानी रांची स्थित ऐतिहासिक चुटिया नगरी में देश का दूसरा सबसे ऊंचा शिवलिंग स्थापित किया गया है.  यहां की ऐतिहासिक चुटिया नगरी में राज्य का सबसे ऊंचा शिवलिंग स्थापित हो गया है. 108 फीट ऊंचा ये शिवलिंग कर्नाटक स्थित कौटिल्य लिंगेश्वर मंदिर जितना है. यह स्वर्णरेखा धाम केतारी बागान चुटिया स्थित श्री सुरेश्वर महादेव मंदिर में स्थापित है. इस मंदिर की प्राण प्रतिष्ठा तीन मई से शुरू होगा. पहले दिन कलश यात्रा, पंचांग पूजन और मंडप प्रवेश होगा. चार मई को मूर्तियों का अधिवास वेदियों की स्थापना व अग्नि स्थापना होगी.

महाभंडारा का होगा आयोजन

जानकारी के मुताबिक, वाराणसी के पुरोहितों के सान्निध्य में प्राण प्रतिष्ठा अनुष्ठान होगा. मंदिर कमेटी की ओर से चार मई को प्रतिमाओं की पूजा-अर्चना और रामचरितमानस का पाठ होगा. छह मई को प्रतिमाओं की प्रतिष्ठा होगी. छह मई को मूर्तियों का अधिवास, स्नान एवं नगर भ्रमण, शव्याधिवास और शाम सात बजे से रात नौ बजे तक शिव प्रवचन और आरती होगी. इस मौके पर अगले दिन भजन, हवन, पूर्णाहुति समेत महाभंडारा का आयोजन होगा. 108 फीट ऊंचे देश के दूसरे सबसे ऊंचे शिवलिंग मंदिर में शंखनाद होने पर 1 मिनट तक आवाज गूंजेगी.

यह है मंदिर की खासियत

मंदिर के गर्भ गृह के अंदर शिव लिंग के अलावा शिव परिवार की प्रतिमा स्थापित है. मंदिर और दरवाजे पर पीतल की चढ़ी परत से की गयी कारीगरी देखते ही बनती है. यह काम पुरी के कारीगर की देखरेख में किया गया है. प्राण प्रतिष्ठा समारोह में अध्यक्ष सुरेश साहू, छत्रधारी महतो, रवि सिंह, पद्मश्री मुकुंद नायक, संतोष कुमार, मनपूरण नायक, राजीव किशोर, धंजू नायक, कृष्णा आदि सहयोग कर रहे हैं.

दस वर्षों से चल रहा था निर्माण

राजधानी रांची के चुटिया में स्वर्णरेखा नदी के तट पर स्थित सुरेश्वर महादेव धाम में करीब दस वर्षों से इस शिवलिंग मंदिर का निर्माण चल रहा था. देश के दूसरे सबसे ऊंचे शिवलिंग मंदिर स्थापना का काम ही अब बाकी बचा है. शिवलिंग स्थापित होने के साथ ही अब साज-सज्जा को अंतिम रूप दिया जा रहा है. दो सालों तक कोरोना संक्रमण के कारण प्राण प्रतिष्ठा का काम लगातार टलता रहा, लेकिन इस बार 3 से 7 मई तक होने वाले प्राण प्रतिष्ठा समारोह की तैयारियां भी पूरी कर ली गयी हैं.

ये भी पढ़ें : बिहार-झारखंड समेत चार राज्यों में हो सकते हैं बड़े नक्सली हमले! ख़ुफ़िया विभाग ने जारी किया अलर्ट

 

Related posts

Jharkhand के सीएम Hemant Soren को विधायक सरयू राय ने लिखा पत्र, ‘घोटालों की जांच पर ढुलमुल रवैया क्यों?’

Manoj Singh

कृष्ण और ‘लक्ष्मी’ के बाद अब शिव का रूप धरेंगे Akshay Kumar, सामने आया First Look

Manoj Singh

Jharkhand: चारा घोटाले में लालू समेत किसको मिली कौन-सी सजा, 3 अब भी हैं फरार

Pramod Kumar