समाचार प्लस
Breaking झारखण्ड फीचर्ड न्यूज़ स्लाइडर राँची राजनीति

Counter Attack: हेमंत सरकार भी खोलेगी रघुवर सरकार के राज, विधानसभा और हाईकोर्ट भवन निर्माण में गड़बड़ियां आयेंगी सामने?

Counter Attack: Hemant Sarkar will also reveal the secrets of Raghuvar Sarkar
मुख्यमंत्री हेमंत ने न्यायिक जांच के दिये आदेश

न्यूज डेस्क/ समाचार प्लस – झारखंड-बिहार

भाजपा झारखंड की हेमंत सोरेन सरकार पर लगातार हमलावर है। अपने ऊपर लगातार हो रहे भाजपा के हमलों का हेमंत सोरेन सरकार ने जवाब देने की मन बना लिया है। अब तक शांत दीख रही  हेमंत सरकार भाजपा पर करारा जवाब देने जा रही है। हेमंत सरकार रघुवर दास सरकार के समय में हुए कथित घपलों को उजागर करने के मूड में है। हेमंत सरकार ने फैसला लेने के बाद रघुवर दास के सरकार के समय बने विधानसभा और हाईकोर्ट भवनों के कथित घोटालों पर की न्यायिक जांच कराने का आदेश दे दिया है। इस संबंध में मुख्यमंत्री सचिवालय ने आदेश जारी कर दिया है।

भवन निर्माण में गड़बड़ियों के ये हैं आरोप

सीएम हेमंत सोरेन ने एचईसी इलाके के कुटे में बने झारखंड विधानसभा और धुर्वा स्थित हाई कोर्ट भवन निर्माण में गड़बड़ियों की जांच का आदेश दिया है। सबसे बड़ा आरोप  दोनों भवनों के निर्माण एक ही संवेदक रामकृपाल कंस्ट्रक्शन को लाभ पहुंचाने का लगा है। इंजीनियरों ने गड़बड़झाला कर प्राक्कलन राशि घटाकर संवेदक को यह लाभ पहुंचाया। बताया जा रहा है कि भवन निर्माण की प्राक्कलन राशि 465 करोड़ रुपये थी जिसमें इंजीनियरों ने  गड़बड़ी बता कर 420.19 करोड़ कर दिया। इसके बाद 12 दिन बाद में निर्माण लागत 420.19 करोड़ से घटा कर 323.03 करोड़ कर दिया। टेंडर निपटारे के बाद 10 प्रतिशत कम यानी 290.72 करोड़ रुपये की लागत पर रामकृपाल कंस्ट्रक्शन को काम दे दिया गया। झारखंड उच्च न्यायालय भवन निर्माण में गड़बड़ी पर उच्च न्यायालय में पहले ही एक जनहित याचिका दायर की गयी थी।

यह भी पढ़ें: Jharkhand: सोरेन परिवार पर हमेशा लगते रहे हैं भ्रष्टाचार के आरोप

Related posts

विधायक Amba Prasad ने सदन में उठाया भूमि अधिग्रहण अधिनियम 2013 और वन अधिकार अधिनियम 2006 लागू करने का मामला, सीएम ने लिया संज्ञान

Sumeet Roy

‘Another day, another FIR’ : FIR से बेफिक्र Kangna Ranaut ने शेयर की बोल्ड फोटो, बोलीं- अरेस्ट करने आए तो मूड कुछ ऐसा है

Manoj Singh

राज्यपाल रमेश बैस ने जेपीएससी और शिक्षा विभागों से कहा- छात्रहित में समन्वय के साथ करें काम

Pramod Kumar