समाचार प्लस
Breaking झारखण्ड देश फीचर्ड न्यूज़ स्लाइडर बिहार राँची स्वास्थ्य

कोरोना का कहर जारी : भारत में 12.5 फीसदी बढ़े COVID-19 केस, झारखंड, बिहार में तेजी से बढ़ रहे कोरोना के नए मामले

COVID-19

न्यूज़ डेस्क / समाचार प्लस झारखंड -बिहार

COVID-19: भारत में कोरोना वायरस का कहर लगातार जारी है. Covid-19 के नए मामलों में 12.5 फीसदी का इजाफा देखने को मिला है. पिछले 24 घंटे में 1,79,723 नए मामले दर्ज किए गए हैं. सिर्फ 13 दिन में कोविड (Covid-19)  के डेली केस 28 गुणा हो गए हैं. 28 दिसंबर को 6,358 COVID 19 मामले सामने आए थे. भारत में कुल संक्रमितों की संख्या 35,707,727 हो गई है. वहीं, एक्टिव मरीजों की बात करें तो उनकी संख्या 7 लाख पार हो चुकी है. अभी 723,619 सक्रिय मरीज हैं. कोरोना को मात देकर ठीक होने वालों आंकड़े पर गौर करें तो पिछले 24 घंटे में 46,569 लोग इससे ठीक हो चुके हैं. इसके साथ ही अब तक कुल 34,500,172 लोग कोरोना वायरस से ठीक हो चुके हैं.वहीं, पिछले 24 घंटे में 146 लोगों ने कोरोना की वजह से जान गंवाई है. अब तक देश में कुल 483,936 लोगों की मौत कोविड-19 की वजह से हो चुकी है.

तेजी से बढ़ रही है देश में कोरोना मरीजों की संख्या

देश में कोरोना मरीजों की संख्या तेजी से बढ़ रही है। मुंबई, दिल्ली और कोलकाता से शुरू होकर देश के अन्य शहरों तक संक्रमण फैल चुका है। कई छोटे शहरों और कस्बों में, विशेष रूप से बिहार, उत्तर प्रदेश और झारखंड राज्यों में तेजी से वृद्धि दर्ज की गई है।

Omicron के मरीजों की संख्या 4 हजार पार

भारत में पिछले 24 घंटे में Omicron के 410 नए मामले सामने आए हैं. वहीं, देश में ओमिक्रॉन के कुल मरीजों की संख्या 4,033 हो चुकी हैं. हालांकि, 1552 लोग इससे ठीक भी हो चुके हैं. महाराष्ट्र में सबसे ज्यादा 1,216 ओमिक्रॉन के मामलों की संख्या है. वहीं, दूसरे नंबर पर राजस्थान 529 मरीजों के साथ है.

बिहार में पिछले एक महीने में 6,560 नए मामले सामने आए

बिहार में छह दिसंबर से शुरू होने वाले पिछले एक महीने में 6,560 नए मामले सामने आए हैं, जो इससे पहले के 30 दिनों की तुलना में अधिक है। वहीं, पड़ोसी राज्य उत्तर प्रदेश में भी इसी तरह संक्रमण दर में बढ़ोतरी देखी जा रही है। भारत के सबसे अधिक आबादी वाले राज्य ने 6 नवंबर से छह दिसंबर के बीच 30 दिनों में 300 नए मामले दर्ज की, लेकिन छह दिसंबर से 6 जनवरी तक, इसी संख्या में 8,797 तक वृद्धि हुई।

बिहार के इन जिलों में मिले ओमिक्रॉन के केस

कोरोना के नये वेरिएंट ओमिक्रॉन  के 27 मरीज अब और पाए गये हैं। इससे पहले 1 मरीज ओमिक्रॉन वेरिएंट से संक्रमित पटना में पहले भी पाए गये थे। रविवार को जिन जांच सैंपलों में ओमिक्रॉन की पुष्टि हुई है उनमें आधा से अधिक पटना के हैं। इसके अलावा अन्य जिलों के मरीजों की सैंपल में इसकी पुष्टि हुई है।आइजीआइएमएस की लैब से रविवार को 32 कोरोना सैंपलों की जीनोम सीक्वेंसिंग रिपोर्ट सामने आई। इनमें 27 सैंपलों में ओमिक्रॉन की पुष्टि हुई है। ओमिक्रॉन वेरिएंट के सबसे अधिक 18 मरीज पटना के शामिल हैं। इसके बाद मधुबनी व गया के तीन-तीन, पूर्वी चंपारण के दो व पश्चिमी चंपारण का एक मरीज है। इसके अलावा पश्चिमी चंपारण व वैशाली के दो-दो मरीजों में डेल्टा वैरिएंट की पुष्टि हुई है।

झारखंड में कोरोना के मामले बढ़े

झारखंड में हर दिन के साथ कोरोना का ग्राफ लगातार बढ़ता जा रहा है. शासन-प्रशासन की तमाम मुस्तैदी के बाद भी प्रदेश में कोरोना की रफ्तार थमने का नाम नहीं ले रही है. झारखंड में कोरोना के मामलों में तेजी से वृद्धि हुई है। 6 नवंबर से 9 दिसंबर के बीच 448 मामले और अगले 30 दिनों में 15870 मामले सामने आए हैं। 3 दिसंबर को, भारत ने कोरोना वायरस के अत्यधिक संक्रामक ओमिक्रोन की पुष्टि की, जो नवंबर में दक्षिण अफ्रीका में पाया गया था। तब से देश में तीन हजार से अधिक ओमिक्रोन के मामले सामने आ चुके हैं। बिहार और झारखंड के जिलावार आंकड़े बताते हैं कि कोरोना शहरी केंद्रों से आगे फैल गया है। यानी ग्रामीण क्षेत्रों में भी तेजी से पांव पसार रहा है।

पूरे देश में दक्षिण बिहार में सबसे तेज वृद्धि

आंकड़ों से पता चलता है कि दोनों राज्यों में राजधानी शहरों, पटना और रांची में मामलों की सबसे बड़ी हिस्सेदारी हो सकती है, लेकिन कई ग्रामीण और अर्ध-शहरी जिलों में भी वृद्धि देखी जा रही है। उदाहरण के लिए दक्षिण बिहार में पूरे देश में मामलों में सबसे तेज वृद्धि देखी गई है। पिछले एक महीने में जिले में 651 नए मामले सामने आए हैं, जो पिछले महीनों में दर्ज किए गए केवल एक मामले से अधिक है।

झारखंड में ओमिक्रोन की पुष्टि नहीं
जहां देश भर में कई राज्यों ओमिक्रोन के मामले अपना पैर पसार रहे हैं वहीं झारखंड में अब तक ओमिक्रोन के एक भी मामले की पुष्टि नहीं हुई है। गौरतलब कि राज्य में ओमिक्रोन की टेस्टिंग के लिए आवश्यक जिनोम सिक्वेंसिंग की कोई व्यवस्था नहीं है। ओमिक्रोन के जांच के लिए प्रदेश दूसरे राज्यों पर निर्भर है।

 9 जनवरी को झारखंड में नये संक्रमितों की संख्या में आई कमी

रविवार को पूरे झारखंड में 3,444 नये संक्रमित मिले हैं, जो शनिवार की तुलना में 1720 कम है. हालांकि कोरोना संक्रमित छह लोगों की मौत भी हो गयी. उन्हें कई अन्य प्रकार की गंभीर बीमारियां भी थी. मृतकों में पूर्वी सिंहभूम के चार, गोड्डा व कोडरमा के एक-एक संक्रमित शामिल हैं.

बिहार -झारखंड में प्रिकॉशन डोज की शुरुआत

बिहार में 10 जनवरी यानी आज से प्रिकॉशन डोज दी जाएगी। समय कम है और टॉरगेट बड़ा है। ऐसे में जनवरी में 60 वर्ष से अधिक उम्र के बीमार लोगों को पूरी तरह से वैक्सीनेट कर पाना बड़ी चुनौती होगी। स्वास्थ्य विभाग बिहार के 18.92 लाख की संख्या में 60 प्लस के बीमार हैं। सरकार ने 60 साल से अधिक उम्र के अन्य बीमारियों से ग्रस्त लोगों के लिए यह तैयारी की है। प्रिकॉशन डोज के लिए नए पंजीकरण की जरूरत नहीं, दूसरी खुराक के लेने की तारीख से पात्रता तय होगी।इसे सफल बनाने को लेकर झारखंड सरकार ने भी विशेष दिशा-निर्देश जारी किया है।

ये भी पढ़ें : Ranchi: होम आइसोलेटेड कोविड-19 मरीजों के घर पहुंचेंगे डॉक्टर, इंसिडेंट कमांडर के साथ डॉक्टरों को किया गया संबद्ध

 

 

Related posts

JEE Main 2021: NTA ने फिर से खोली चौथे सत्र के लिए ऑनलाइन आवेदन फॉर्म विंडो

Manoj Singh

The man alive just before the funeral! होने वाला था अंतिम संस्कार, तभी चलने लगी सांसें! चौंकाने वाली घटना से हर कोई रह गया दंग

Manoj Singh

नालन्दा मेडिकल अस्पताल में छात्र- छात्राओं ने किया हंगामा, मार्क्स नहीं दिए जाने का लगाया आरोप 

Manoj Singh