समाचार प्लस
Breaking देश फीचर्ड न्यूज़ स्लाइडर

Corona की चौथी लहर! केन्द्र सरकार अलर्ट मोड पर! पड़ोसी देशों में बढ़े केस से भारत में बढ़ा खतरा

Fourth wave of Corona! Central government on alert mode! Cases increased in neighboring countries

न्यूज डेस्क/ समाचार प्लस – झारखंड-बिहार

कहीं एक बार फिर तो भारत में लॉकडाउन नहीं लगेगा? कोरोना से दुनिया में अभी भी जंग जारी है। लेकिन दुनिया के अधिकांश देशों में कोरोना का कहर कम हुआ है। दुनियाभर में वैक्सीनेशन कार्यक्रम तेजी से चल रहा है, वहीं कोरोना के केसेस कम होने की वजह से कोरोना टेस्ट भी काफी होने लगे हैं। फिर भी कोरोना के कम हो रहे केसेस के बीच दुनियाभर के कई देशों में कोरोना के मामले बढ़ने की खबरें भी आ रही हैं। कोरोना को लेकर सबसे सुरक्षित समझा जाने वाला देश चीन इस समय ओमीक्रॉन के नये वेरिएंट BA2.2 की चपेट में है। चीन के कुछ शहरों में तो लॉकडाउन लग गया है। चूंकि भारत का पड़ोसी देश है, इसलिए भारत का चिंतित होना जरूरी है।

विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने भी इस पर चिंता जाहिर की है। भारत में कोरोना की तीसरी लहर उतार पर है और संक्रमण के नये मामले 3000 से नीचे आ गये हैं। लेकिन चीन, हॉन्गकॉन्ग, सिंगापुर और दक्षिण कोरिया जैसे देशों में कोरोना के मामलों में पिछले कुछ दिनों में तेज उछाल देखने को मिला है। इन देशों की हालत पर भारत सरकार अलर्ट मोड में आ गयी है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मंडाविया ने जीनोम सीक्वेंसिंग और कोरोना के मामलों पर पैनी नजर रखने के लिए मुस्तैद रहने का आह्वान किया है। बता दें, आईआईटी कानपुर ने कुछ दिनों पहले जून महीने में कोरोनी की चौथी लहर की चेतावनी जारी की थी। आईआईटी कानपुर के अनुसार 15 जून से शुरू होने वाली चौथी लहर के 15 अक्तूबर रहने की संभावना है।

स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मंडाविया ने बुधवार को एक रिव्यू मीटिंग बुलाई थी। इस मीटिंग में स्वास्थ्य सचिव, फार्मा सचिव और सरकार के प्रिंसिपल साइंटिफिक एडवाइजर भी शामिल थे। नीति आयोग के सदस्य (स्वास्थ्य) वीके पॉल, आईसीएमआर के डायरेक्टर-जनरल बलराम भार्गव, नेशनल सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल के प्रमुख सुरजीत सिंह और कई अन्य अधिकारी भी इस बैठक में मौजूद थे। मीटिंग में कोविड19 के हालात, टीकाकरण अभियान और भावी किसी भी खतरे से निबटने में भारत की स्थिति पर समीक्षा की और निर्देश दिए।

यह भी पढ़ें: Holi Hai: क्यों हो रहा होलिका दहन 18 मार्च की सुबह 3 बजे, होलिका जलने के एक दिन बाद होली क्यों?

Related posts

नयी चिंता: ‘ओमीक्रॉन’ से भारत में हुई पहली मौत, स्वास्थ्य मंत्रालय ने की पुष्टि, जयपुर का रहना वाला था मरीज

Pramod Kumar

एलन मस्‍क को पछाड़कर केवल 7 मिनट के लिए ये शख्‍स बन गया दुनिया का सबसे रईस आदमी

Manoj Singh

Merry Christmas 2021: Omicron के साए में भी क्रिसमस का छाया उल्लास, रांची, धनबाद सहित पूरे राज्य भर के चर्च में विशेष प्रार्थना

Manoj Singh