समाचार प्लस
Breaking झारखण्ड फीचर्ड न्यूज़ स्लाइडर

Jharkhand Weather Update: सुखाड़ की ओर बढ़ रहे झारखंड को लगातार हो रही बारिश दे रही राहत, हफ्ते भर अभी और बरसेंगे मेघ

Jharkhand Weather Update

Jharkhand Weather Update: सुखाड़ की ओर बढ़ रहे झारखंड को सावन के आखिरी दिनों में बारिश ने बड़ी राहत पहुंचाई है। इससे किसानों के चेहरे खिल गये है और धान की आखिरी रोपनी की तैयारियों में लग गये हैं। आगे भी अभी बारिश जारी रहेगी, इससे झारखंड के किसानों को राहत मिलती रहेगी। जहां तक जनसाधारण की बात है तो उसे अभी बारिश से राहत नहीं मिलने वाली है। यह सही है कि चार-पांच दिनों से हो रही लगातार बारिश ने झारखंड का जनजीवन अस्त-व्यस्त हो गया है। फिर भी अभी कुछ दिन बारिश से राहत की उम्मीद नहीं है। सावन का महीना अब समाप्त होने को है। 12 अगस्त से भादो मास आरम्भ हो रहा है। सावन के बाद भादो बारिश का सबसे विशेष महीना होता है। किसान उम्मीद कर रहे हैं कि भादो में बारिश अच्छी हो जाये तो उनकी खेती का काम आसान हो जायेगा।

हफ्ते भर बारिश से निजात नहीं

मौसम विभाग के अनुसार, झारखंड को अभी अगले छह दिनों तक बारिश से निजात नहीं मिलेगी। मौसम केंद्र, रांची ने 16 अगस्त तक राज्य के सभी स्थानों पर हल्के से मध्यम दर्जे की बारिश की संभावना जतायी है. जबकि 13 अगस्त को राज्य के मध्य और दक्षिणी भागों तथा 14 अगस्त को राज्य के दक्षिणी, पश्चिमी तथा मध्य भागों में कहीं-कहीं भारी बारिश की चेतावनी जारी की है। पिछले दो दिनों से करीब-करीब पूरे झारखंड में अच्छी बारिश हो रही है। राज्य के ऊपर एक विक्षोभ बना हुआ है। इस कारण बारिश हो रही है। 12 को इसके थोड़ा कमजोर होने की उम्मीद है। इसके बाद एक और विक्षोभ बन रहा है। इस कारण 16 अगस्त तक अच्छी बारिश हो सकती है।

झारखंड में अब भी बारिश कम, बिहार कुछ बेहतर

कुल मिलाकर देखा जाये तो झारखंड में बारिश कम मात्रा में हुई है। मौसम विभाग के आंकड़ों के अनुसार झारखंड में अब भी 48 प्रतिशत कम बारिश हुई है। मॉनसून के दिनों में अब तक सामान्य बारिश 607 मिमी की तुलना में 307 मिमी ही बारिश हुई है। देश में जब से मॉनसून सक्रिय हुआ है तब से झारखंड में मेघ कम ही बरसे हैं। बारिश के लिहास से जुलाई और अगस्त का महीना विशेष होता है। लेकिन दोनों ही महीनों में मौसम की बेरुखी कायम रही। पिछले रिकॉर्ड की बात करें तो अगस्त महीने में 2011 में सबसे अधिक 596.7 मिमी बारिश हुई थी। किसी एक दिन की सबसे अधिक बारिश की बात की जाये तो 14 अगस्त, 2012 को 122.5 मिमी की बारिश रिकॉर्ड की गयी थी। इन आंकड़ों की तुलना में इस अगस्त की बारिश का प्रतिशत काफी कम है। झारखंड की तुलना में बिहार में मॉनसून की बारिश कुछ बेहतर रही। मॉनसून के मौसम में झारखंड के 48% कम बारिश की तुलना में बिहार में 36% कम बारिश हुई है। मौसम विभाग के अनुसार बिहार में अब तक 581 मिमी बारिश हो जानी चाहिए थी, लेकिन अब तक 373 मिमी ही बारिश हुई है। लेकिन अगस्त महीने में बिहार में बारिश अच्छी हुई है। बिहार में अगस्त में सामान 77 मिमी बारिश की तुलना में 66 मिमी बारिश हो चुकी है।

यह भी पढ़ें: 2014 में जो आए थे वो 2024 में रह पाएंगे कि नहीं…?’, शपथ लेते ही CM Nitish ने किया PM मोदी को चैलेंज

Jharkhand Weather Update

Related posts

सैंड आर्टिस्ट सुदर्शन पटनायक ने राष्ट्रपति उम्मीदवार द्रौपदी मुर्मू को अपने अनोखे अंदाज़ में दी शुभकामनाएं

Sumeet Roy

इस बार 5 अगस्त को क्या ‘धमाका’ करेंगे PM Modi, समान नागरिक कानून या कुछ और…

Pramod Kumar

Agni Prime Missile का सफल परीक्षण, नहीं बचेगा 2000 किमी दूर बैठा दुश्मन, निशाना अचूक

Pramod Kumar