समाचार प्लस
Breaking झारखण्ड देश फीचर्ड न्यूज़ स्लाइडर

Congress President Poll: चुनाव मैदान में तीन खिलाड़ी- मल्लिकार्जुन खड़गे, शशि थरूर और केएन त्रिपाठी

Congress President Poll: Three players in the fray - Kharge, Tharoor and KN

न्यूज डेस्क/ समाचार प्लस – झारखंड-बिहार

कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष पद के चुनाव के नामांकन के अंतिम दिन तीन उम्मीदवारों ने अपना नामांकन किया। शशि थरूर, मल्लिकार्जुन खड़गे और झारखंड कांग्रेस के विधायक और सरकार में मंत्री रहे केएन त्रिपाठी ने नामांकन किया। वैसे तो अध्यक्ष पद के लिए मतदान 17 अक्टूबर को होगा और परिणाम 19 अक्टूबर को घोषित किया जाएंगे। लेकिन राजनीतिक जानकार मानकर चल रहे हैं कि मल्लिकार्जुन खड़गे का जीतना तय है। क्योंकि खड़गे गांधी परिवार के काफी नजदीकी हैं और पार्टी नेतृत्व के कहने पर दिग्विजय सिंह ने अपना नामांकन वापस लिया। कांग्रेस ने मल्लिकार्जुन को चुनाव में खड़ा होने को कहा। इस तरह मल्लिकार्जुन खड़गे ने कांग्रेस पार्टी के आधिकारिक उम्मीदवार के रूप में अपना नामांकन किया है।

मल्लिकार्जुन का नामांकन

कांग्रेस नेता मल्लिकार्जुन खड़गे ने पार्टी अध्यक्ष पद के लिए अपना नामांकन दाखिल किया। राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत, जो पहले उम्मीदवारों की सूची में सबसे आगे चल रहे थे के साथ दिग्विजय सिंह, प्रमोद तिवारी, पी एल पुनिया, ए के एंटनी, पवन कुमार बंसल और मुकुल वासनिक उनके प्रस्ताव रहे। यही नहीं, जी23 समूह के नेता आनंद शर्मा और मनीष तिवारी ने भी खड़गे का समर्थन करते हुए उनके प्रस्तावक बने। इसके अलावा उनके और भी कई प्रस्तावक हैं।

शशि थरूर का नामांकन

तिरुवनंतपुरम से सांसद शशि थरूर ने भी आज ही अपना नामांकन भरा। थरूर ढोल-नगाड़े की थाप के बीच अखिल भारतीय कांग्रेस समिति मुख्यालय पहुंचे थे। उससे पहले वह राजघाट गये और महात्मा गांधी को श्रद्धांजलि भी दी। शशि थरूर के प्रस्तावकों में कार्ति चिदंबरम, सलमान सोज, प्रवीण डाबर, संदीप दीक्षित, प्रद्युत बरदलोई, मोहम्मद जावेद, सैफुद्दीन सोज, जीके झिमोमी, और लोवितो झिमोमी शामिल हैं।

केएन त्रिपाठी का नामांकन

झारखंड से कांग्रेस नेता केएन त्रिपाठी का अचानक कांग्रेस के अध्यक्ष पद के उम्मीदवार के रूप में नाम उभरा और आज उन्होंने अपना नामांकन भी कर दिया। केएन त्रिपाठी के नामांकन पर झारखंड कांग्रेस ने बड़ी उदास-सी प्रतिक्रिया दी है। झारखंड कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष राजेश ठाकुर ने जहां कहा कि बतौर प्रदेश अध्यक्ष उन्हें इसकी कोई जानकारी नहीं है। वहीं वित्तमंत्री रामेश्वर उरांव ने कहा, हर किसी को स्वतंत्रता है, पर सिर्फ नाम उछालने के लिए सिर्फ काम नहीं करना चाहिए।

यह भी पढ़ेः RBI Decision: रेपो रेट में 0.50 फीसदी का इजाफा, अब चुकानी होगी ज्यादा ईएमआई

Related posts

Next CDS? सबसे प्रबल दावेदारों में सेना प्रमुख जनरल नरवणे, मोदी सरकार करेगी घोषणा

Pramod Kumar

पंचायत चुनाव में अनियमितता की शिकायतें, कहीं परिसीमन बदला, कही मतदाता सूची में गड़बड़ी

Pramod Kumar

Money Laundering Act: ED पर ‘सुप्रीम’ फैसला, गिरफ्तारी, तलाशी और समन समेत ED के सभी अधिकार बरकरार

Manoj Singh