समाचार प्लस
Breaking देश फीचर्ड न्यूज़ स्लाइडर

Congress President Election: अशोक गहलोत हुए तैयार,  शशि थरूर पहले से ही दे रहे धार

Congress President: Ashok Gehlot ready, Shashi Tharoor is already giving edge

गांधी परिवार बनाम जी 23 के बीच मुकाबला कितना कड़ा?

न्यूज डेस्क/ समाचार प्लस – झारखंड-बिहार

एक समय था जब राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत कांग्रेस का राष्ट्रीय अध्यक्ष बनने को तैयार नहीं थे। अगर वह तैयार हो गये होते तो शायद कांग्रेस का यह चुनाव ही नहीं होता। अब जब कांग्रेस अध्यक्ष पद के चुनाव की घोषणा हो गयी है और दिग्गज नेता शशि थरूर ने ताल ठोंक दी तब जाकर अशोक गहलोत को अहसास हुआ कि नहीं, कांग्रेस की प्रतिष्ठा के लिए मैदान में उतरना ही चाहिए। कांग्रेस की प्रतिष्ठा का मतलब कांग्रेस की पारम्परिक विचारधारा बनाये रखने से है। शशि थरूर के अध्यक्ष बन जाने के बाद कांग्रेस में एक अलग सोच विकसित होने का अंदेशा रहेगा। सब जानते हैं कि अशोक गहलोत कांग्रेस और गांधी परिवार के वफादार हैं। उनके हाथों में कांग्रेस की ‘महान परम्परा’ सुरक्षित रह सकती है। बता दें, शशि थरूर कांग्रेस से अलग निकली विचार धारा जी 23 ग्रुप में रह चुके हैं जो कांग्रेस में परिवर्तन की मांग करने वालों में शामिल हैं।

अशोक गहलोत का तैयार होना कांग्रेस के लिए राहत

कांग्रेस और राहुल गांधी के प्रति वफादारी निभाते हुए आखिरकार अशोक गहलोत अध्यक्ष पद का चुनाव लड़ने के लिए तैयार हो गये हैं। सीएम गहलोत का चुनाव लड़ने के लिए तैयार हो जाना कांग्रेस के लिए निश्चित रूप से राहत भरी बात रही। खुद कांग्रेस आलाकमान भी यही चाहता था कि अशोक गहलोत पार्टी की कमान सम्भालें। गहलोत ने ‘पार्टी उन्हें जो जिम्मेदारी देगी उसे पूरी ईमानदारी से निभाएंगे’ कहकर कांग्रेस का बड़ा बोझ कम कर दिया है

सोनिया गांधी जो जिम्मेदारी देंगी उसे निभाएंगे – गहलोत

राजस्थान के सीएम गहलोत ने अपना फैसला सुनाने से पहले कहा कि वह किसी भी जिम्मेदारी से पीछे नहीं हट रहे हैं। कांग्रेस चीफ सोनिया गांधी उन्हें जो जिम्मेदारी देंगी उसे निभाएंगे। अगर नामांकन भरने के लिए कहा जायेगा तो वह ऐसा ही करेंगे। उन्होंने आगे कहा कि आज तक उन्हें जो भी जिम्मेदारी दी गई है उसे उन्होंने निभाया है और भविष्य में भी जो जिम्मेदारी मिलेगी उसे निभाते रहेंगे। उन्होंने कहा- ‘मुझे, बस कांग्रेस की सेवा करनी है… चाहे  राजस्थान में रह करूं या फिर दिल्ली में।‘

शशि थरूर भी तैयार

कांग्रेस अध्यक्ष पद का चुनाव लड़ने के शशि थरूर भी तैयार हैं। आज दिल्ली में कांग्रेस मुख्यालय पहुंच कर उन्होंने कांग्रेस सेंट्रल इलेक्शन अथॉरिटी चेयरमैन मधुसुधन मिस्त्री से मुलाकात भी की। कांग्रेस अध्यक्ष पद का चुनाव लड़ने की इच्छा जताने वाले शशि थरूर पहले कांग्रेसी हैं। इसके लिए वह कांग्रेस की कार्यकारी अध्यक्ष सोनिया गांधी से मुलाकात कर चुके हैं। सोनिया गांधी ने उनके चुनाव लड़ने पर अपनी सहमति भी जता चुकी हैं। शशि थरूर और अशोक गहलोत के अलावा अभी तक किसी तीसरे उम्मीदवार का नाम सामने नहीं आया है और ना ही किसी अन्य ने इच्छा जतायी है।

किसकी जीत की कितनी सम्भावनाएं

अब जब यह लगभग तय हो चुका है कि कांग्रेस के अध्यक्ष पद के लिए अशोक गहलोत और शशि थरूर के बीच मुकाबला होना तय है तब सवाल उठता है कि किस उम्मीदवार की जीत की सम्भावनाएं कितनी हैं। राहुल गांधी के समर्थन में पूरे देश से जिस तरह से आवाजें उठ रही हैं, उससे यह कहने में संकोच नहीं होना चाहिए कि अशोक गहलोत का ही पलड़ा भारी है। क्योंकि शशि थरूर जी 23 ग्रुप से आते हैं। कई दिग्गज कांग्रेस नेताओं के किनारे हो जाने या पार्टी छोड़ देने से 23 ग्रुप के इस समय हाशिये पर आ गया है। ऐसे में शशि थरूर को परम्परागत कांग्रेसियों का समर्थन तो मिलने से रहा। नयी सोच वाले कांग्रेसियों की संख्या भी जी 23 के कमजोर पड़ने के साथ कम पड़ गयी है। अगर कहा जाये कि यह मुकाबला कांटे का नहीं है तो इसमें कोई अतिश्योक्ति नहीं होगी।

यह भी पढ़ें: Raju Srivastav का ये था आखिरी इंस्टाग्राम Video, अस्पताल में एडमिट होने से एक दिन पहले किया था पोस्ट

Related posts

मेकॉन के 1500 अधिकारी-कर्मचारियों की समस्याओं को लेकर केंद्रीय मंत्री से मिले सांसद संजय सेठ और बीडी राम

Pramod Kumar

Bihar : सनकी पति ने पत्नी और दो मासूम बच्चों की कर दी निर्मम हत्या

Manoj Singh

Kohbar and Sohrai painting: गौरव का पल, दिल्ली में राजपथ पर दिखेंगी हजारीबाग की सोहराय और कोहबर कलाकृतियां

Manoj Singh