समाचार प्लस
Breaking देश फीचर्ड न्यूज़ स्लाइडर

कर्नाटक में कांग्रेस का PayCM कैंपेन, CM बोम्मई को क्यों बताया ’40 प्रतिशत कमीशन सरकार’

Congress's PayCM campaign in Karnataka, told Bommai '40 percent commission government'

CM बोम्मई चेहरे वाला क्यूआर कोड वाला पोस्टर

न्यूज डेस्क/ समाचार प्लस – झारखंड-बिहार

2023 में कर्नाटक में भी विधानसभा चुनाव हैं। चुनाव को लेकर अपने पक्ष में हवा बनाने और अपनी विरोधी पार्टियों को निशाना बनाने का दौर शुरू हो चुका है। ऐसे में कांग्रेस ने राज्य की वसवराज बोम्मई सरकार पर भ्रष्टाचार का आरोप लगाते हुए अभियान चलाया है। कांग्रेस ने कर्नाटक की भाजपा सरकार के आचरण पर हमला करते हुए 40 प्रतिशत कमीशन सरकार करार देकर एक पोस्टर जारी किया है जिसमें PayTM की तर्ज पर PayCM का एक क्यूआर कोड लगाया है। इसके बीच में मुख्यमंत्री बोम्मई की फोटो लगी हुई है। कांग्रेस के जारी इस क्यूआर कोड को स्कैन करने पर एक ‘40 परसेंट सरकार’ वेबसाइट खुलती है। वेबसाइट पर भाजपा सरकार के भ्रष्टाचारों की पोल खोली जा रही है। इस वेबसाइट को कांग्रेस ने राज्य के भ्रष्ट अधिकारियों के खिलाफ शिकायतें प्राप्त करने के लिए बनाया है। कर्नाटक कांग्रेस ने भाजपा सरकार पर आरोप लगाया है कि राज्य सरकार द्वारा वित्त पोषित बुनियादी ढांचे की परियोजनाओं के लिए निविदा राशि का 40 फीसदी भाजपा नेता और अधिकारी रिश्वत के रूप में लेते हैं।

इस पोस्टर का भाजपा पर असर भी देखा गया है। पिछले हफ्ते सीएम बोम्मई हैदराबाद के दौरे पर थे। वहां भाजपा के हैदराबाद मुक्ति दिवस कार्यक्रमों में उन्होंने भाग लिया था। सबसे पहले इस पोस्टर ने वहीं पर उनका स्वागत किया था। उस दौरान बोम्मई ने कांग्रेस द्वारा पोस्टर जारी किये जाने को सुनियोजित साजिश बताया था। यही नहीं, बोम्मई ने एक मुख्यमंत्री के खिलाफ इस तरह के निराधार आरोपों की अनुमति देने के लिए तेलंगाना सरकार की आलोचना की थी। इस पर सत्तारूढ़ तेलंगाना राष्ट्र समिति के सोशल मीडिया संयोजक ने ट्वीट किया जवाब दिया कि कर्नाटक के सीएम ने होर्डिंग पर कड़ी प्रतिक्रिया क्यों दे रहे हैं, जबकि उसमें उनका नाम भी नहीं है। क्या वह सहमत हैं कि कर्नाटक में बीजेपी सरकार 40 प्रतिशत कमीशन सरकार है?

दूसरी तरफ कांग्रेस का कह रही है कि वह भ्रष्टाचार से जुड़े सवालों पर सरकार के खिलाफ सवाल उठाना जारी रखेगी।

यह भी पढ़ें: कांग्रेस के पोस्टर में सावरकर की फोटो ‘भूल’ या ‘ऐतिहासिक भूल सुधार’, कांग्रेस की नजर में सावरकर स्वतंत्रता सेनानी नहीं

Related posts

Pramod Kumar

रोHIT से विराट ‘ALL OUT’! कोहली की वनडे कप्तानी तो गयी ही, टेस्ट की कप्तानी भी खतरे में

Pramod Kumar

Presidential Election: आ गया पहला रूझान, द्रौपदी मुर्मू 332 के भारी मतों से आगे

Pramod Kumar