समाचार प्लस
Breaking झारखण्ड देश फीचर्ड न्यूज़ स्लाइडर राँची राजनीति

सीएम Hemant Soren की ललकार, ‘नोटिस क्या भेजते हो, हिम्मत है, तो सीधे गिरफ्तार करके दिखाओ’

image source : social media

झारखंड के सीएम हेमंत सोरेन (Hemant Soren) को आज ईडी के सामने पेश होना था, लेकिन वह नहीं हुए. मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन (Hemant Soren) को ईडी की नोटिस (Notice Of ED) के बाद से राज्य में सियासी हलचल तेज हो गई है. गुरुवार को पूरे राज्य से जेएमएम कार्यकर्ता रांची पहुंचे, जहां सीएम आवास पर मुख्यमंत्री ने उनको संबोधित किया. उन्होंने कहा ‘बीजेपी को लगता है कि जेल में डालकर डरा देंगे. हम इस साजिश का माकूल जवाब देंगे. जनता हमारे साथ है तो कोई भी लड़ाई लड़ने को तैयार हैं. उन्होंने बीजेपी पर हमला बोलते हुए कहा कि आज CBI और ED का इस्तेमाल हथियार के तौर पर किया जा रहा है. वे हमारी सरकार का बाल भी बांका नहीं कर सकते’.

‘विरोधी दल सरकार को अस्थिर करने का प्रयास कर रही है’

हेमंत सोरेन ने कहा कि जब से सरकार बनी है तब से ही विरोधी दल सरकार को अस्थिर करने का प्रयास कर रही है. 20 साल से विरोधी सरकार ने झारखंड के खनिज का बंदरबांट किया है और अपने पाप का घड़ा वर्तमान सरकार पर फोड़ना चाह रही है. उन्होंने कहा कि विरोधी दल झारखंडी को दबाना चाहते हैं  बीजेपी पर निशाना साधते हुए उन्होंने कहा कि आने वाले समय में बीजेपी को झंडा ढोने वाला भी नहीं मिलेगा. उन्होंने आगे कहा कि  हेमंत सोरेन को घबराने की जरूरत नही है, जनता साथ में है, बाकी ऐरे गैर की चिंता नही है.  भाजपा ने ईडी और सीबीआई को शोषण का जरिया बना रखा है

‘किसी की हिम्मत नहीं है कि यह किसी का बाल बांका कर सके’

हेमंत सोरेन ने कहा कि हम को जेल से डरा रहे हैं. लेकिन इनको पता नहीं है कि अगर हम जेल भरने का काम शुरू कर देंगे तो इतने लोग जेल में जाएंगे कि पूरा जेल भर जाएगा.उन्होंने कहा कि आप लोग यहां आए, इसी के नाते हम बाहर आ गए. हमारा पूर्व से घोषित कार्यक्रम है. हमें छत्तीसगढ़ जाना है और हम वहां के लिए तैयार हो रहे हैं. 15 तारीख को झारखंड का स्थापना दिवस मनाने जा रहे हैं और हमारी सरकार जो चल रही है वह 5 साल चलेगी. बीजेपी सहित किसी की हिम्मत नहीं है कि यह किसी का बाल बांका कर सके.

‘एक भी वोट बीजेपी को नहीं जाना चाहिए’

गुजरात में जो भी झारखंड के लोग रह रहे हैं मैं उनको यह बात कह रहा हूं कि जो भी लोग हैं वह आदिवासी भाई सतर्क हो जाएं कि एक भी वोट बीजेपी को नहीं जाना चाहिए. यह लोग आदिवासी और दलितों को मजाक बना रखे हैं और उसे शोषण का जरिया बना रखें हैं. अब समय आ गया है इन लोगों को जवाब देने का.

प्रवर्तन निदेशालय के रांची स्थित दफ्तर में सीएम सोरेन को गुरुवार सुबह 11.30 बजे पेश होने के लिए कहा गया था. ईडी की ओर से पुलिस महानिदेशक को पत्र लिखकर सुरक्षा व्यवस्था का विशेष इंतजाम करने का अनुरोध किया गया था. अब इसी के बाद हेमंत सोरेन भाजपा पर आक्रामक हो गए हैं.

ये भी पढ़ें : Election Commission ने गुजरात के चुनाव का बिगुल बजाया, 1 और 5 दिसम्बर को वोट, 8 दिसम्बर को परिणाम

 

Related posts

दो लाख का इनामी टीपीसी नक्सली गोराई गंझू उर्फ नोपाली चढ़ा पलामू पुलिस के हत्थे

Pramod Kumar

Jharkhand Panchayat Election: रांची के चार प्रखंडों में तीसरे चरण का मतदान जारी, वोटरों की लंबी कतारें

Pramod Kumar

Nagar Parishad Election: झारखण्ड राज्य के नगर परिषद् के अध्यक्ष के आरक्षण को लेकर अधिसूचना जारी, यहाँ देखें पूरी लिस्ट

Manoj Singh