समाचार प्लस
Breaking झारखण्ड फीचर्ड न्यूज़ स्लाइडर राँची

मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने सरयू राय पर लिखी पुस्तक ‘The People’s Leader’ का विमोचन किया

Sarayu Rai Book Vimochan

न्यूज डेस्क/ समाचार प्लस – झारखंड-बिहार

‘विधायक सरयू राय ने हमेशा ही चुनौतियों को स्वीकारा है और उस पर खरा भी उतरा है। वे हमेशा ही सच्चाई के रास्ते पर चले हैं और गलत को गलत कहने से कभी नहीं हिचकते। आज देश में इनके जैसे लोगों के कारण ही ‘सत्यमेव जयते’ जैसा शब्द जीवित है और लोकतंत्र की परिभाषा मजबूत हुई है।‘ झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन आज रांची प्रोजेक्ट बिल्डिंग के द्वितीय तल स्थित सभागार में आयोजित विधायक सरयू राय की जीवनी पर लिखी पुस्तक ‘The People’s Leader’ के विमोचन के अवसर पर बतौर मुख्य अतिथि कार्यक्रम को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने आगे कहा कि श्री सरयू राय किसी परिचय के मोहताज नहीं हैं। विधानसभा में उनकी उपस्थिति, उनका सुझाव, उनके द्वारा पूछे जाने वाले सवाल और उनकी सक्रिय भूमिका से मैं व्यक्तिगत रूप से काफी प्रभावित हूं। उनके व्यक्तित्व से  काफी लोग प्रभावित होते हैं और उनके बारे में सकारात्मक चर्चाएं करते हैं। वास्तव में ही सरयू राय को ‘The People’s Leader ‘ के रूप में देखा जा सकता है।

विवेकानन्द झा ने लिखी है पुस्तक ‘The People’s Leader’

पुस्तक ‘The People’s Leader’ को विवेकानंद झा ने लिखा है और इसका प्रकाशन ‘प्रभात प्रकाशन’ ने किया है। यह पुस्तक विधायक सरयू राय की जीवनी पर लिखी गयी है जिसमें उनके जीवन के शुरुआती दौर से लेकर अपने विधानसभा जमशेदपुर पश्चिम को छोड़कर तत्कालीन मुख्यमंत्री रघुवर दास के विधानसभा क्षेत्र जमशेदपुर पूर्वी से निर्दलीय चुनाव लड़ने और उन्हें हरा देने तक का अंग्रेजी में विस्तृत विवरण है।

सरयू राय ने कभी गलत के साथ समझौता नहीं किया – रवीन्द्र नाथ महतो

पुस्तक विमोचन कार्यक्रम की अध्यक्षता विधानसभा अध्यक्ष रवीन्द्र नाथ महतो कर रहे थे। उन्होंने अपने अध्यक्षीय संबोधन में कहा कि उनका श्री सरयू राय से विगत 15 वर्षों का संबंध है। सरयू राय ने कभी गलत के साथ समझौता नहीं किया। वे हमेशा अच्छे काम करने का प्रयास करते हैं। विपरीत परिस्थिति में उनका सुझाव लेकर विधानसभा में सभी लोग लाभान्वित होते हैं। उन्हें उचित सम्मान प्राप्त होना चाहिए। अच्छे कार्यों की प्रशंसा करने से उन्हें और प्रोत्साहन मिलेगा। उन्होंने कहा कि सबका कर्तव्य बनता है कि सरयू राय  को सम्मान दें।

पश्चिम बंगाल सरकार के वित्तीय सलाहकार और पूर्व वित्तमंत्री डॉ अमित मित्रा ने  पुस्तक विमोचन के अवसर पर अपना एक संदेश भेजा था  जिसे ‘युगांतर भारती’ के कार्यकारी अध्यक्ष अंशुल शरण ने मंच पर पढ़कर सुनाया।

सरयू राय ने मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन का जताया आभार

कार्यक्रम का धन्यवाद ज्ञापन विधायक सरयू राय ने किया। उन्होंने मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन का आभार प्रकट किया कि उन्होंने इतना कम समय की पूर्व सूचना में ही अपने व्यस्ततम समय में कार्यक्रम में शामिल होने की स्वीकृति दी। उन्होंने कार्यक्रम में शामिल होने के लिए विधानसभा अध्यक्ष का भी आभार प्रकट किया। उन्होंने कहा कि विधानसभा में सवाल का सरकार की तरफ से संतोषजनक जवाब नहीं मिलने पर अध्यक्ष को इस बारे में कहने पर वह व्यक्तिगत तौर पर रुचि लेते हैं और सहयोग करते हैं। उन्होंने पुस्तक के लेखक विवेकानंद झा को धन्यवाद दिया और उनके बारे में बताया कि किस तरह शुरू में जब विवेकानंद झा ने उनसे मिलकर उनकी जीवनी पर पुस्तक लिखने की इच्छा जताई थी तो उन्होंने मना कर दिया था और कहा था कि पहले आप पता कर लीजिए कि आपकी पुस्तक का कोई प्रकाशन करेगा या नहीं। लेकिन उन्होंने नहीं माना और पुस्तक लिखनी शुरू कर दी और जाने-माने, प्रतिष्ठित प्रकाशक ‘प्रभात प्रकाशन’ ने इस पुस्तक का प्रकाशन भी कर दिया। इसके लिए उन्होंने ‘प्रभात प्रकाशन’ के निदेशक पीयूष कुमार को धन्यवाद दिया।

कार्यक्रम में विशिष्ठ लोगों की थी उपस्थिति

पुस्तक विमोचन कार्यक्रम में स्वागत भाषण ‘प्रभात प्रकाशन’ के निदेशक पीयूष कुमार, विषय प्रवेश पुस्तक के लेखक विवेकानंद झा ने किया। कार्यक्रम में मुख्य रूप से पूर्व सांसद सुबोधकांत सहाय, पूर्व विधायक राधा कृष्ण किशोर, झारखंड के मुख्य सचिव सुखदेव सिंह, मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव राजीव अरुण एक्का, वरीय सचिव विनय चौबे, सचिव अजय कुमार सिंह, अपर मुख्य सचिव अरुण कुमार सिंह, एसएनएसआईबीएम के निदेशक एनपी सिंह, ‘युगांतर भारती’ के कोषाध्यक्ष अशोक गोयल, समाज सेवी धर्मेंद्र तिवारी सहित कई गणमान्य लोग मौजूद थे।

यह भी पढ़ें: दोषी नेताओं को चुनाव लड़ने से रोकने के लिए क्या किया?, सुप्रीम कोर्ट का केन्द्र सरकार से सवाल

Related posts

PM Modi ने वाराणसी को दी 1500 करोड़ की सौगात, नज़रें उत्तर प्रदेश उत्तर प्रदेश चुनाव पर…

Sumeet Roy

Kisaan Andolan: सुप्रीम कोर्ट की लगी फटकार तो टिकैत आया रास्ते पर, खोला रास्ता

Pramod Kumar

Cryptocurrency News: शीतकालीन सत्र में क्रिप्टोकरेंसी पर विधेयक ला सकती है सरकार, जानें आखिर यह क्रिप्टोकरेंसी है क्या ?

Manoj Singh

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.