समाचार प्लस
Breaking झारखण्ड फीचर्ड न्यूज़ स्लाइडर

सीएम हेमंत ने कोल्हान प्रमंडल में 5 लाख 34 हजार 752 लाभुकों के बीच 14 अरब 43 करोड़ की परिसंपत्तियां बांटीं

CM Hemant Soren In Kolhan

न्यूज डेस्क/ समाचार प्लस – झारखंड

झारखण्ड के नौजवान  राज्य को मान-सम्मान के साथ आगे बढ़ाने में बड़ी भूमिका निभा सकते हैं। युवाओं को सरकार हर तरह से रोजगार और व्यापार में सहयोग करेगी। सरकार का संकल्प है, झारखण्ड की आने वाली पीढ़ी, कृषक, श्रमिकों के चेहरे पर मुस्कान हो। मेरा मानना है कि ग्रामीणों को सरकारी व्यवस्था के प्रति थोड़ी निराशा होती है। उस निराशा को मिटाने और विश्वास जगाने के उद्देश्य से सरकार आपके द्वार आई है। ताकि जरूरतमंदों को योजनाओं से आच्छादित किया जा सके। ग्रामीण अर्थव्यवस्था को सशक्त करने के लिए जनभागीदारी जरूरी है। आज सुदूर गांव तक पदाधिकारी पहुंच रहे हैं, जिससे ग्रामीणों की समस्याओं का समाधान उनके द्वार पर हो सके। देश के अन्य राज्य अपनी परंपरा संस्कृति के साथ आगे बढ़ रहे हैं। हमें भी तेजी से आगे चलना होगा, नहीं तो पीछे छूट जाएंगे। आप सभी से आग्रह है आगे आएं और योजनाओं का लाभ लें। ये बातें मुख्यमंत्री हेमन्त सोरेन ने कही। मुख्यमंत्री कोल्हान प्रमंडल के चाईबासा में आयोजित ‘आपके अधिकार-आपकी सरकार आपके द्वार’ कार्यक्रम के तहत आयोजित मेगा ऋण, परिसंपत्ति, अनुदान और नियुक्ति पत्र वितरण कार्यक्रम में बोल रहे थे। मुख्यमंत्री ने कहा, संक्रमण काल से झारखण्ड बाहर निकल रहा है। संक्रमण के दौरान राज्य को दिशा देने की कार्ययोजना बनी। इसका प्रतिफल है। सरकार आपके द्वार योजनाएं लेकर आई है, जहां चंद मिनटों में समस्या का समाधान हो रहा है। झारखण्ड वीरों की भूमि है। यहां के आदिवासी, मूलवासी, जल, जंगल और जमीन की रक्षा एवं लोगों के अधिकारों के लिए वीर सपूतों को खुद को कुर्बान कर दिया। उनका बलिदान व्यर्थ नहीं जाएगा। उनके सपनों को पूरा करने के लिए सरकार जरूरतमंदों के दरवाजे तक पहुंच रही है।

स्किल यूनिवर्सिटी की स्थापना जल्द

मुख्यमंत्री ने कहा कि झारखण्ड में जल्द स्किल यूनिवर्सिटी की स्थापना होगी। जहां नौजवानों को हुनरमंद बनाकर रोजगार से जोड़ने की पहल होगी। स्थानीय भाषाओं को प्राथमिकता के।साथ परीक्षाओं में शामिल किया गया है। युवा अपनी भाषा से साथ आगे बढ़े सकते हैं। दो दिन पूर्व सरकार ने बैंक प्रबंधन से पूछा क्यों आदिवासी समुदाय को लोन नहीं मिलता है। बैंक प्रबंधन लीक से हटकर व्यवस्था करें ताकि आदिवासी समुदाय व्यापार समेत अन्य क्षेत्र में आगे बढ़ सके।

दिव्यांग जनों की पहचान जल्द होगी

मुख्यमंत्री ने कहा कि यह विडंबना है कि 20 वर्ष में दिव्यांग जनों की पहचान नहीं हो सकी। सरकार सभी दिव्यांग को पेंशन योजना से जोड़ने का कार्य कर रही है। ऐसे में सभी दिव्यांगजनों की पहचान कर उन्हें पेंशन दिया जाएगा। मुख्यमंत्री ने बताया कि इस कार्यक्रम में कोरोना से मृत परिवार के मुखिया के आश्रितों को 50 हजार रुपये सहयोग राशि देने का कार्य सरकार कर रही है। ये कार्य सभी जिलों में किया जा रहा है।

इस अवसर पर मंत्री श्री आलमगीर आलम, मंत्री श्री चम्पई सोरेन, मंत्री श्रीमती जोबा मांझी, मंत्री श्री सत्यानंद भोक्ता, मंत्री श्री हफीजुल अंसारी, सिंहभूम सांसद श्रीमती गीता कोड़ा, पूर्व मुख्यमंत्री श्री मधुकोड़ा, विधायकगण, मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव, विभिन्न विभागों प्रधान सचिव, सचिव, कोल्हान प्रमंडल के उपायुक्त, पुलिस अधीक्षक, पदाधिकारीगण, विभिन्न गांव और पंचायतों से आये ग्रामीण एवं लाभुक उपस्थित थे।

यह भी पढ़ें: CM Hemant Soren ने लॉन्च किया SAHAY योजना, बोले- गोलियों की तड़तड़ाहट नहीं, अब गूंजेंगे खिलाड़ियों और पर्यटकों के ठहाके

Related posts

Nora Fatehi ने Deep Neck Top पहन मचाई सनसनी, साफ़- साफ़ दिख गया हमेशा छिपा रहने वाला तिल, फैन्स बोले-‘नजर का टीका तो है बेहद खास’

Manoj Singh

UN में इमरान ने कश्मीर पर मुंह खोला तो भारत ने ‘आतंकिस्तान’ की उड़ायीं धज्जियां

Pramod Kumar

Gandhi Jayanti: फुटबॉल के साथ रंगभेद के खिलाफ महात्मा गांधी का ‘सत्य का प्रयोग’

Pramod Kumar