समाचार प्लस
Breaking देश फीचर्ड न्यूज़ स्लाइडर

Amarnath Yatra 2022: अमरनाथ गुफा के पास बादल फटने से लगभग 15 लोगों की मौत, हजारों श्रद्धालु फंसे

amarnath cloud

Amarnath Yatra 2022: भारी बारिश और बाढ़ की चेतावनी के बीच अमरनाथ गुफा के पास बादल फटने से बाढ़ आ गई। तेज बहाव के साथ आया पानी लंगर और 25 टेंट बहा ले गया। इसमें कई यात्रियों के बहने की सूचना है। देर शाम तक दस शव निकाल लिए हैं। घायलों को एयरलिफ्ट किया जा रहा है। एनडीआरएफ, एसडीआरएफ समेत आपदा प्रबंधन से जुड़ी तमाम एजेंसियां रेस्क्यू ऑपरेशन में जुट गई हैं। एनडीआरएफ के महानिदेशक अतुल करवाल ने बताया कि दस लोगों की मौत हो चुकी है। कुछ लोगों को बचाया गया है।

cloud burst in amarnath 10 killed many injured
image source: social media

करीब 5.30 बजे बादल फटने हुई घटना 

गुफा के ठीक सामने लगे टेंट से लोगों को फौरन पहाड़ की ढलान तक सुरक्षित पहुंचाया गया।बताया जा रहा है कि शाम करीब 5.30 बजे बादल फटने से पवित्र अमरनाथ गुफा के ऊपर बाईं ओर से अचानक तेज बहाव के साथ पानी आ गया। उस दौरान बारिश की फुहार के बीच हजारों यात्री गुफा के ठीक सामने अपने टेंट में थे।

दो लंगर और 25 यात्री टेंट बहे 

कुछ यात्री रेनकोट पहने बाहर भी खड़े थे। बाढ़ का पानी गुफा के सामने समतल मैदान के बीच से बहने लगा। इससे पहले कि कोई कुछ समझ पाता, पानी का तेज बहाव दो लंगर और 25 यात्री टेंट को चपेट में ले चुका था। यात्रियों में भगदड़ मच गई। आपदा प्रबंधन दलों ने यात्रियों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाना शुरू कर दिया।

घायलों को एयरलिफ्ट किया जा रहा

बाढ़ से बचने के लिए यात्री टेंट छोड़ पहाड़ की ढलान पर चढ़ गए। कश्मीर जोन पुलिस के आईजी विजय कुमार ने बताया कि पवित्र गुफा के पास बादल फटने से आई बाढ़ आ गई थी। तमाम एजेंसियां रेस्क्यू ऑपरेशन में जुटी हैं। घायलों को एयरलिफ्ट किया जा रहा है। स्थिति फिलहाल नियंत्रण में है।

प्रशासन ने कहा-  सुरक्षित जगह पर रुकें 

श्री अमरनाथ श्राइन बोर्ड ने सभी भक्तों से संयम रखने को कहा है। बोर्ड ने कहा है कि जिस स्थान पर भी यात्री हैं वह सुरक्षित जगह पर रुकें। सेना, एनडीआरएफ समेत सभी अर्धसैनिक बल रेस्क्यू कर रहे हैं। सभी को सुरक्षित स्थान पर पहुंचाया जागएा। डर का माहौल न बनाए और सतर्क रहें।

गृहमंत्री ने उपराज्यपाल से की बात 

गृहमंत्री अमित शाह ने जम्मू-कश्मीर के उपराज्यपाल मनोज सिन्हा से अमरनाथ गुफा में बादल फटने से अचानक आई बाढ़ के बारे में जानकारी ली। शाह ने ट्वीट करते हुए कहा कि एनडीआरएफ, एसडीआरएफ, बीएसएफ और स्थानीय प्रशासन बचाव कार्य में लगे हैं। लोगों की जान बचाना हमारी प्राथमिकता है।

पीएम मोदी ने ट्वीट कर जताया शोक

Related posts

Review Meeting में राज्यपाल ने बेबाकी से कहा- राज्य में निजी विश्वविद्यालयों की स्थिति ठीक नहीं, देखिये वीडियो

Pramod Kumar

बोकारो थर्मल प्लांट में बिजली उत्पादन ठप

Manoj Singh

हादसा: राजस्थान के खाटूश्याम मेले में मची भगदड़, 3 श्याम भक्त महिलाओं की मौत, पीएम ने जताया शोक

Pramod Kumar