समाचार प्लस
Breaking झारखण्ड फीचर्ड न्यूज़ स्लाइडर राँची

Chirudih Case: योगेंद्र साव और पूर्व विधायक निर्मला देवी को 10 साल की सजा

Chirudih Case

Ranchi : एनटीपीसी के खनन कार्य के विरोध में बड़कागांव के चीरूडीह (Chirudih) में 2016 में हुए हिंसा मामले में रांची सिविल कोर्ट ने आज चिरूडीह गोलीकांड में दोषियों को सजा का ऐलान कर दिया है। कोर्ट ने योगेंद्र साव और पूर्व विधायक निर्मला देवी को 10 साल की सजा सुनाई है। इसके साथ ही अदालत ने दोनों  पर क्रमशः 5- 5 हजार से अधिक का जुर्माना लगाया गया है। विशाल श्रीवास्तव की अदालत ने 22 मार्च को दोनों पति-पत्नी को भीड़ को हिंसा के लिए उकसाने पुलिसकर्मियों पर जानलेवा हमला, आगजनी, तोड़फोड़, सरकारी कार्य में बाधा डालने का दोषी करार दिया था।

एनटीपीसी के खनन कार्य के खिलाफ चलाया जा रहा था कफन सत्याग्रह

बता दें कि 1 अक्टूबर 2016 को तत्कालीन विधायक निर्मला देवी के नेतृत्व में एनटीपीसी के खनन कार्य के खिलाफ कफन सत्याग्रह चलाया जा रहा था। पुलिस रोकने ने गई तो हिंसा भड़क गई थी। एएसपी कुलदीप कुमार, सीओ शैलेश कुमार सिंह सहित 30 से ज्यादा पुलिसकर्मी व आंदोलनकारी गंभीर रूप से घायल हुए थे। चार लोगों की मौत भी हो गई थी।

ये भी पढ़ें : Jharkhand: खतियान के आधार पर नियोजन नीति बनाने में सीएम हेमंत सोरेन फेल!

Related posts

NDA में महिलाओं की एंट्री पर बोला सुप्रीम कोर्ट, नवंबर में होने वाली परीक्षा में महिलाओं को किया जाए शामिल

Manoj Singh

बोकारो : वेदांता इलेक्ट्रोस्टील में लिफ्ट टूटी, तीन मजदूरों की मौत

Manoj Singh

Chaibasa: लालकृष्ण आडवाणी की सुरक्षा में तैनात एनएसजी कमांडो की सड़क हादसे में मौत

Pramod Kumar