समाचार प्लस
Breaking देश फीचर्ड न्यूज़ स्लाइडर

PM Modi on Omicron: 15-18 साल के बच्चों को 3 जनवरी से लगेगी कोरोना की वैक्सीन, PM Modi का ऐलान

PM Modi on Omicron : देश में बढ़ते कोरोना वायरस (Coronavirus) के खतरे के बीच अब 15 साल से 18 साल के बच्चों को कोरोना की वैक्सीन मिलने जा रही है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) ने राष्ट्र के नाम अपने विशेष संबोधन में इसका एलान किया. इसी के साथ फ्रंटलाइन वर्कर्स, हेल्थ वर्कर्स और 60 साल से ज्यादा के गंभीर बीमारी वालों को बूस्टर डोज देने का भी एलान कर दिया.

देशवासियों की खुशियां दोगुनी हुईं

देश के नाम अपने संबोधन में पीएम मोदी ने एलान किया, ‘’15 साल से 18 साल की आयु के बीच के जो बच्चे हैं, अब उनके लिए देश में वैक्सीनेशन प्रारंभ होगा.’’ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के इस बड़े ऐलान के साथ क्रिसमस के दिन देशवासियों की खुशियां दोगुनी हो गई. अब देश में 15 साल से ऊपर के जो बच्चे हैं, उन्हें भी कोरोना की वैक्सीन मिलने वाली है.

रात 9 बजकर 45 मिनट पर प्रधानमंत्री का संबोधन शुरू हुआ

क्रिसमस के दिन रात को रात 9 बजकर 31 मिनट पर पीएमओ की तरफ से एक ट्वीट किया गया कि 15 मिनट में पीएम मोदी देश को संबोधित करेंगे और ठीक रात 9 बजकर 45 मिनट पर प्रधानमंत्री का संबोधन शुरू हुआ. कोरोना पर देश की उपलब्धियां और इसे लेकर तमाम सावधानियों की चर्चा के बाद पीएम मोदी ने बच्चों के लिए कोरोना वैक्सीनेशन की तारीख का एलान कर दिया.

3 जनवरी से  शुरुआत

देश में 15 साल से 18 साल के बच्चों को वैक्सीन मिलेगी. बच्चों का वैक्सीनेशन 3 जनवरी 2022 से शुरू होगा. देश में इस आयु वर्ग के करीब 8 करोड़ बच्चे हैं, जिन्हें इसका फायदा मिलेगा. 2022 में 3 जनवरी को सोमवार के दिन से इसकी शुरुआत की जाएगी. ये फैसला कोरोना के खिलाफ देश की लड़ाई को तो मजबूत करेगा ही स्कूल-कॉलेज जा रहे बच्चों और उनके माता-पिता की चिंता भी कम करेगा. पीएम मोदी ने सिर्फ बच्चों के लिए कोरोना वैक्सीन का ऐलान नहीं किया. उन्होंने अपने 13 मिनट के संबोधन में 3 बड़े फैसले का एलान किया.

गंभीर बीमारी से पीड़ित लोगों के लिए प्रिकॉशन डोज का विकल्प

15 से 18 साल के बच्चों को वैक्सीन लगेगी, स्वास्थ्यकर्मियों और फ्रंटलाइन वर्कर्स को प्रिकॉशन डोज दी जाएगी और 60 साल से ज्यादा की उम्र के कोमॉरबिडिटी वाले नागरिक यानी जो गंभीर बीमारी से पीड़ित हैं, उनके लिए प्रिकॉशन डोज का विकल्प मौजूद होगा. पीएम मोदी ने अपने संबोधन में कोरोना वैक्सीन की जिस तीसरी डोज को ‘प्रिकॉशन डोज’ कहा है. कई बड़े डॉक्टर्स उसे ‘बूस्टर डोज’ ही मान रहे हैं.

फ्रंटलाइन वर्कर्स को वैक्सीन की प्रीकॉशन डोज 10 जनवरी से 

पीएम मोदी ने कहा, ‘’सरकार ने निर्णय लिया है कि हेल्थकेयर और फ्रंटलाइन वर्कर्स को वैक्सीन की प्रीकॉशन डोज भी प्रारंभ की जाए. इसकी शुरुआत 2022 में 10 जनवरी सोमवार के दिन से की जाएगी. 60 साल से ऊपर की आयु के कोमॉर्बिडिटी वाले नागरिकों को उनके डॉक्टर की सलाह पर वैक्सीन की प्रीकॉशन डोज का विकल्प उनके लिए उपलब्ध होगा.’’

इसका फायदा कितने लोगों को मिलेगा

देश में 15 से 18 साल की उम्र के करीब 8 करोड़ बच्चे हैं. फ्रंटलाइन वर्कर्स और स्वास्थ्यकर्मियों की संख्या करीब 3 करोड़ है. और 60 साल से ज्यादा की उम्र के करीब 11 करोड़ लोग हैं. यानि कुल मिलाकर पीएम मोदी के इस ऐलान से देश में करीब 22 करोड़ लोगों को फायदा मिलने वाला है. इसी के साथ पीएम मोदी ने ओमिक्रोन वेरिएंट को लेकर भी चिंता जताई और लोगों से अपील की कि भयभीत होने की बजाय सतर्क रहें.
ये भी पढ़ें : देश में हर दिन बढ़ रहा ओमिक्रॉन का खतरा, पाबंदियां लगाने में भी राजनीति दिखा रहे हैं राज्य

 

Related posts

बिजली विभाग की लापरवाही : करंट लगने से बुरी तरह झुलसा मासूम, काटना पड़ा एक हाथ

Manoj Singh

JEE Main 2021: चौथा सत्र स्थगित, जानिए कब होगी परीक्षा

Manoj Singh

Muzaffarpur News : आखिर क्यों छात्रा ने खुद को किया घर में कैद, जानें पूरा मामला

Manoj Singh