समाचार प्लस
Breaking झारखण्ड देश फीचर्ड न्यूज़ स्लाइडर बिहार

Chhath Puja 2022: नहाय-खाय के साथ छठ पूजा शुरू, जानें समय और शुभ योग

image source : social media

Chhath Puja 2022: लोक आस्था का महापर्व छठ (Chhath Puja) की शुरुआत नहाय-खाय के साथ शुरू हो जाती है। इस वर्ष छठ पर्व की शुरुआत 28 अक्तूबर से हो रही है। चार दिनों तक चलने वाले इस पर्व के पहले दिन नहाय-खाय (Nahay khaay), दूसरे दिन खरना, तीसरे दिन संध्या अर्ध्य और चौथे दिन उषा अर्घ्य देते हुए समापन होता है। छठ महापर्व सूर्य उपासना का सबसे बड़ा त्योहार होता है। हिंदू पंचांग के अनुसार कार्तिक शुक्ल पष्ठी तिथि पर छठ पूजा मनाई जाती है। इस पर्व में भगवान सूर्य के साथ छठी माई की भी पूजा-उपासना विधि-विधान के साथ की जाती है। छठी माई को सूर्यदेव की बहन है। धार्मिक मान्यता के अनुसार छठ का त्योहार व्रत संतान प्राप्ति करने की कामना, कुशलता,सुख-समृद्धि और उसकी दीर्घायु की कामना के लिए किया जाता है। चतुर्थी तिथि पर नहाय-खाय से इस पर्व की शुरुआत हो जाती है और षष्ठी तिथि को छठ व्रत की पूजा,व्रत और डूबते हुए सूरज को अर्घ्य के बाद अगले दिन सप्तमी को उगते सूर्य को जल देकर प्रणाम करने के बाद व्रत का समापन किया जाता है।

image source : social media
image source : social media

नहाय -खाय से छठ महापर्व शुरू 

छठ महापर्व की शुरुआत नहाए-खाए के साथ आरंभ हो जाता है। यह व्रत बहुत ही कठिन माना जाता है इसमें व्रती महिलाएं लगातार 36 घंटे निर्जला व्रत रखती हैं। सूर्य देव की उपासना और छठ मैया की पूजा करते संतान की प्राप्ति और उसकी लंबी आयु की कामना करती हैं। नहाए-खाए के दिन सुबह जल्दी उठकर स्नान करके नए और साफ-सुथरे पहनकर सात्विक भोजन किया जाता है।

छठ पूजा का पहला दिन: नहाय-खाय 28 अक्तूबर, शुक्रवार
सूर्योदय- सुबह 06 बजकर 30 मिनट पर
सूर्यास्त- शाम 05 बजकर 39 मिनट पर

नहाय-खाय का शुभ समय (शोभन,सर्वार्थ सिद्धि और रवि योग)
शोभन योग: सुबह से शुरू
सर्वार्थ सिद्धि योग: सुबह 06 बजकर 30 मिनट से 10 बजकर 42 मिनट तक
रवि योग: सुबह 10 बजकर 42 मिनट से आरंभ

ये भी पढ़ें : Jharkhand: चेंजमेकर बन रहे हैं मॉडल स्कूल के शिक्षक, 80 मॉडल स्कूलों के शिक्षकों को मिल रहा प्रशिक्षण

 

Related posts

Suresh Raina Retirement: देश नहीं, अब विदेश में खेलेंगे सुरेश रैना, देश की क्रिकेट के सभी प्रारूपों से लिया संन्यास

Pramod Kumar

Airtel यूजर्स को बड़ा झटका! इन प्लान्स में आए कई बदलाव

Sumeet Roy

Cyclone Jawad: किसने दिया है नए चक्रवाती तूफान ‘जवाद’ का नाम, जानें- कैसे रखे जाते हैं तूफानों के नाम

Sumeet Roy