समाचार प्लस
Breaking देश फीचर्ड न्यूज़ स्लाइडर

Chattisgarh News: घरवालों ने बार-बार कहा- आज मत जाओ पिकनिक, नहीं माना; सड़क हादसे में हो गई मौत

Chattisgarh News

Chattisgarh News: कोरबा (Korba) जिले में न्यू ईयर (New Year) के दिन एक सड़क हादसा हो गया। इसमें एक छात्र की मौत हो गई है। बताया जा रहा है कि छात्र अपने दोस्तों के साथ पिकनिक मनाकर लौट रहा था। इसी दौरान उसकी बाइक अनियंत्रित होकर पेड़ से टकरा गई और उसकी मौत हो गई है। जबकि उसके 2 दोस्त घायल हुए हैं। वहीं इस हादसे के बाद छात्र की भावुक कर देने वाली कहानी भी सामने आई है।

कुदरी निवासी चेतन कुमार(18) (Chetan Kumar) अपने दो दोस्त अभय कुमार और शिवा के साथ नए साल के पहले दिन बाइक से पिकनिक मनाने के लिए सतरेंगा जलाशय गया था। चेतन पढ़ाई में अच्छा था, इसलिए वह अपने घर से 9 किलोमीटर दूर कोरबा में रहकर कक्षा-11वीं में पढ़ाई करता था

मंगलवार को शव का पोस्टमार्टम किया गया है।

बताया गया का नए साल की छुट्‌टी में वह घर गया था। यहां उसने नए साल के दिन पिकनिक में जाने के फैसला किया था। उसने अपने दोस्तों के साथ पिकनिक मनाई और मौज मस्ती की थी। इसके बाद शाम के वक्त तीनों वापस लौट रहे थे। लौटते वक्त शाम हो गई थी और तीनों बाइक से अभी अजगर बाहर पहुंचे थे। तभी ये हादसा हो गया है।

तेज रफ्तार के चलते हादसा

आस-पास के लोगों ने बताया कि चेतन ही बाइक चला रहा था। बाइक की रफ्तार काफी तेज थी। इस वजह से बाइक अनियंत्रित हुई तो पेड़ से टकराई और चेतन की मौके पर ही मौत हो गई थी। वहीं उसके साथी गंभीर रूप से घायल हुए थे। इसके बाद घायलों को पास के अस्पताल में भर्ती कराया गया था।

हादसे के बाद इस तरह से पड़ा था छात्र का शव।

उधर, घटना की सूचना पुलिस और परिजनों को दी गई। जिसके बाद पुलिस की टीम मौके पर पहुंची। चेतन के पिता सुरेश कुमार भी मौके पर पहुंचे थे। यहां पहुंचने के बाद उन्होंने अपने बच्चे का शव देखा। जिसे देखकर वह रोने लगे। बाद में उन्होंने पुलिस से भी बात की।

इस बाइक से हादसा हुआ है।

घरवालों ने बार-बार कहा-आज मत जाओ पिकनिक, नहीं माना

सुरेश ने बताया कि मेरा बड़ा बेट पढ़ाई लिखाई में काफी अच्छा था। इसलिए हमने उसे कोरबा पढ़ने भेजा था। वह आगे जाकर अफसर बनना चाहता था। मैं खेती किसानी करता हूं। मेरे 2 और बच्चे भी हैं। सुरेश ने कहा कि हमने चेतन को मना किया था कि 1 जनवरी के दिन वह पिकनिक नहीं जाए। घर में परिवार के साथ ही रहे। मगर वह नहीं माना। इसके बाद यह हादसा हो गया है और मेरे बड़े बेटे का सपना भी टूट गया। हमने उसे लेकर काफी सपने भी देखे थे।

वहीं रविवार को रात होने के कारण शव का पोस्टमार्टम नहीं हो सका था। सोमवार को शव का पोस्टमार्टम किया गया है और परिजनों को सौंप दिया गया है। साथ ही घायल और 2 और छात्रों का इलाज अस्पताल में जारी है।

इसे भी पढें: नोटबंदी पर सुप्रीम कोर्ट का बड़ा फैसला, मोदी सरकार ने नहीं की कोई गड़बड़ी

Chattisgarh News

Related posts

अब आठ घंटे से अधिक काम करवाया तो देनी होगी दोगुनी सैलरी, सप्ताह में 48 घंटे ही काम करेंगे कामगार

Manoj Singh

Mulayam Singh Yadav: मुलायम सिंह यादव का निधन, गुरुग्राम के मेदांता अस्पताल में ली अंतिम सांस

Sumeet Roy

Aurangabad : एक शादी ऐसी भी, प्रेमिका ने पहले प्रेमी को भिजवाया जेल फिर कोर्ट में की शादी

Manoj Singh