समाचार प्लस
Breaking राजनीति

हंगामे के कारण समय से पहले खत्म हो सकता है मॉनसून सत्र, सिर्फ तीन विधेयक ही हो सके हैं पारित

Monsoon session

Monsoon Session: समझा जा रहा है कि संसद का वर्तमान मॉनसून सत्र समय से पहले समाप्त हो सकता है। संसद का मॉनसून सत्र जब से आरम्भ हुआ है, विपक्षी दलों के हंगामे के कारण खिसक कर भी आगे नहीं बढ़ पा रहा है। संसद का Monsoon Session 19 जुलाई से शुरू हुआ था, लेकिन नहीं लगता कि यह निर्धारित 13 अगस्‍त तक चल पायेगा। इस सत्र में कुल 19 बैठकें प्रस्‍तावित हैं, लेकिन शोर-शराबे के बीच सदन की कार्यवाही न तो आगे बढ़ पा रही है और न ही विधेयक पारित हो पाये रहे हैं। सदन में कुल 31 विधेयक पेश होने हैं, लेकिन अब तक सिर्फ 3 ही विधेयक पारित हो सके हैं। वर्तमान सत्र की कार्यवाही का अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि सत्र के नौ दिन बीत चुके हैं, लेकिन महज 8.2 घंटे ही राज्यसभा चल सकी है। लिहाजा सरकार तय समय से पहले ही मॉनसून सत्र खत्म कर सकती है।

उच्च सदन के 38 घंटे बर्बाद, 26.925 करोड़ की चपत

विपक्षी हंगामे के कारण अब तक उच्‍च सदन के अब तक 33.8 घंटे बर्बाद हो चुके हैं। संसद फिलहास सोमवार तक के लिए स्थगित है। संसद न चलने के कारण सरकार को अब तक 26.925 करोड़ की चपत लग चुकी है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी बार-बार कह रहे हैं कि सरकार चाह रही है कि सदन सुचारू रूप से चले, लेकिन विपक्ष न तो सदन चलने दे रहा है और न ही चर्चा को तैयार हो रहा है। इसलिए सरकार समय की बर्बादी और देश के पैसे को बचाने के लिए सदन के मॉनसून सत्र को समय से पहले खत्म करने पर विचार कर रही है।

अब तक सिर्फ तीन विधेयक ही हो सके हैं पारित

उच्‍च सदन में शोर-शराबे में बीच अब तक तीन तीन विधेयक ही पारित हो सके हैं। उनमें नौवहन समुद्री सहायता विधेयक 2021, किशोर न्याय (बच्चों की देखभाल और संरक्षण) संशोधन विधेयक 2021 और फैक्टरिंग विनियमन संशोधन विधेयक 2021 शामिल हैं।

विपक्षी दलों को मनाने का एक प्रयास कर सकती है सरकार

सरकार मॉनसून सत्र समय से पहले खत्म करने से पहले सरकार विपक्ष के नेताओं से बातकर उन्हें सहमत करने एक प्रयास कर सकती है। यानी सोमवार से फिर से शुरू होने वाले मॉनसून सत्र में केंद्र सरकार एक नई रणनीति के साथ उतरना चाहेगी। इसके बावजूद अगर बात नहीं बनी तो सरकार सत्र खत्म कर सकती है।

इसे भी पढ़ें : आज JDU को मिल सकता है नया अध्यक्ष, दिल्ली में होगी राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक

 

Related posts

Jharkhand: दिल्ली हाट की तर्ज पर बनेगा रांची अर्बन हाट, मास्टर प्लान का पीपीटी प्रेजेंटेशन

Pramod Kumar

Airtel का धमाकेदार ऑफर! अब केवल इतने रुपए में किसी भी TV को बना सकते हैं Smart

Sumeet Roy

अभिनेता Amol Palekar की तबीयत बिगड़ी, पुणे के अस्पताल में करवाया गया भर्ती, पत्नी बोलीं -चिंता की कोई बात नहीं

Manoj Singh