समाचार प्लस
Breaking देश फीचर्ड न्यूज़ स्लाइडर

बच्चों को दोपहिया पर ले जाने का बदल गया नियम, पूरी सुरक्षा के साथ ही ले जा पायेंगे बच्चों को

Safety necessary when carrying small children on two wheelers

न्यूज डेस्क/ समाचार प्लस – झारखंड-बिहार

अगर आप छोटे बच्चे को अपने दोपहिया वाहन पर ले जा रहे हैं तो सबसे पहले आप यह जान लें कि केन्द्र सरकार ने इसके लिए क्या नया नियम बनाने जा रही है। बच्चों को दो पहिया पर बैठाकर ले जाने पर इस नियम का पालन करना ही होगा। सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्रालय ने सुरक्षा से संबंधित इस नियम में संशोधन का प्रावधान किया है।

4 साल से कम उम्र के बच्चों के लिए यह होगा नियम

4 साल से कम उम्र के बच्चों को अपने वाहन पर ले जाने से पहले सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्रालय के मोटर वाहन अधिनियम की धारा 129 को जान लें। चार साल से कम उम्र के बच्‍चों को दो पहिया पर ले जाने के लिए चालक से जोड़ने के लिए सेफ्टी हार्नेस का उपयोग जरूरी होगा। सेफ्टी हार्नेस बच्‍चे द्वारा पहना जाने वाला एक वेस्ट है। जिसमें वेस्ट से जुड़ी पट्टियों की एक जोड़ी और चालक द्वारा पहने जाने वाले शोल्डर सूप्स होंगे। बच्चे की ऊपरी घड़ और चालक से सुरक्षित रूप से जुड़ा होगा। यह हल्का, एडजस्टेबल, वाटरप्रूफ और टिकाऊ होगा। इसमें नायलॉन/पर्याप्त कुशनिंग युक्त गद्देदार फोम वाली मटीफिलामेंट सामग्री होगी। इसे 30 किलो तक भार वहन ढोने की क्षमता के साथ डिजाइन किया जाएगा। चार वर्ष तक के बच्‍चे के पीछे बैठे रहने पर दोपहिया वाहन की गति 40 किमी प्रति घंटे से अधिक नहीं होगी। नौ माह से 4 वर्ष की आयु के बीच पीछे बैठने वाले बच्‍चे को क्रैश हेलमेट पहनना होगा।

यह भी पढ़ें: झारखंड में मनरेगा योजना के कार्यान्वयन के कायल हुए बिहार सरकार के सचिव

Related posts

Vodafone Idea का जोरदार झटका! अब यूजर्स को नहीं मिलेगी यह सुविधा, बोले- प्लीज नहीं…

Manoj Singh

पहले खुद को किया घायल, फिर फंदे पर लटके, Tihar Jail में 5 कैदियों ने की आत्महत्या की कोशिश

Manoj Singh

द्वारकाधीश में आसमानी बिजली ग‍िरी, बोले लोग- कुदरती कहर से भगवान ने बचा लिया

Manoj Singh