समाचार प्लस
Breaking झारखण्ड फीचर्ड न्यूज़ स्लाइडर

झारखंड में बिजली टैरिफ में बदलाव, 200 यूनिट तक खपत करने वालों को राहत

Change in electricity tariff in Jharkhand, relief to those consuming up to 200 units

न्यूज डेस्क/ समाचार प्लस – झारखंड-बिहार

बिजली बिल के टैरिफ में बदलाव किया गया है। इसमें 200 यूनिट तक खपत करनेवाले शहरी उपभोक्ताओं को राहत दी गई है। 100 यूनिट तक बिजली खपत करने पर उपभोक्ताओं को कोई भुगतान नहीं करना होगा। यानी ऐसे उपभोक्ताओं को मुफ्त बिजली मिलेगी।

अब 101-200 तक यूनिट खपत करने पर 3.50 रुपए की दर से बिजली बिल भुगतान करना होगा। पहले 4.20 रुपए प्रति यूनिट भुगतान करना पड़ता था। अब इन उपभोक्ताओं को प्रति यूनिट 2.75 रुपए की सब्सिडी दी जाएगी। इसके अलावा फिक्स चार्ज 75 रुपए लिया जाएगा। 201-400 तक 4.20 रुपए प्रति यूनिट और 401 से अधिक यूनिट उठने पर 6.25 रुपए की दर से बिजली बिल निकाला जाएगा। वहीं ग्रामीण एरिया में 101-400 तक 1.65 रुपए प्रति यूनिट बिजली बिल भुगतान करना होगा।

ऐसे ग्रामीण उपभोक्ताओं को प्रति यूनिट 4.10 रुपए सब्सिडी दी जाएगी। 401 से अधिक यूनिट उठाने पर 5.75 रुपए की दर से बिल वसूला जाएगा। इसकी अधिसूचना जारी हो गई है। विभाग का आदेश भी धनबाद एरिया बोर्ड पहुंच गया है। अब उर्जा मित्र इसी अनुरूप से बिजली बिल निकालेंगे। इससे एरिया बोर्ड के अधीन दो लाख से अधिक उपभोक्ताओं को लाभ मिलेगा।

कॉमर्शियल उपभोक्ताओं को राहत नहीं

कॉमर्शियल कनेक्शन पर 6 रुपए प्रति यूनिट की दर से बिजली बिल वसूला जा रहा है। इसमें किसी प्रकार की कोई बढ़ोतरी नहीं हुई है। इन उपभोक्ताओं को पूर्व की भांति प्रति यूनिट 6 रुपए और ग्रामीण क्षेत्र में 5.75 रुपए की दर से बिजली बिल का भुगतान करना होगा।

धनबाद एरिया बोर्ड में पांच लाख 50 हजार से अधिक कनेक्शन

धनबाद एरिया बोर्ड में पांच लाख 50 हजार 276 है। इसमें धनबाद सर्किल में दो लाख 42 हजार पांच कनेक्शन हैं। वहीं दो लाख 62 हजार 995 कनेक्शन हैं। एरिया बोर्ड के अधीन चार लाख 92 हजार 203 घरेलू कनेक्शन है। बाकी एचटी और एलटी कनेक्शन है।

एसबी तिवारी, कार्यपालक अभियंता

‘100 यूनिट बिजली पूरी तरह से मुफ्त हो गई है। 200 यूनिट की खपत पर अब 3.50 रुपए प्रति यूनिट की दर से भुगतान करना होगा। टैरिफ में कई बदलाव किए गए हैं। इसकी अधिसूचना बोर्ड से आ चुका है। इससे दो लाख से अधिक उपभोक्ताओं को लाभ मिलेगा।’

यह भी पढ़ें: ‘देश में नीतीश बा’ क्या सच हो पायेगा यह सपना, सुशासन बाबू अपनी आखिरी पारी में क्या कर पायेंगे चमत्कार?

Related posts

Jharkhand: जज उत्तम आनंद की हत्या की बरसी पर आया फैसला, लखन वर्मा और राहुल वर्मा दोषी करार, 6 अगस्त को सजा

Pramod Kumar

JPSC News: छ्ठी JPSC मामले में सुप्रीम कोर्ट ने पूछा, जो अभ्यर्थी संशोधित रिजल्ट से बाहर हुए, उन्हें नौकरी दी जा सकती है या नहीं

Manoj Singh

बुर्ज खलीफा में विराजीं ‘मां दुर्गा’, अगर दुबई जाने का मौका नहीं मिला, तो इस पंडाल का ही कर लें अवलोकन

Manoj Singh