समाचार प्लस
Breaking देश फीचर्ड न्यूज़ स्लाइडर

केन्द्र सरकार ने सदन में बताया कोरोना के कारण 2020 में 11,716 व्यापारियों ने की आत्महत्या

Businessmen Suicide

न्यूज डेस्क/ समाचार प्लस – झारखंड-बिहार

केन्द्र सरकार ने मंगलवार को सदन में एक आंकड़ा प्रस्तुत किया है। इस आंकड़े के अनुसार कोरोना से चौपट हुए व्यापार के कारण 2020 में 11,716 कारोबारियों ने आत्महत्या कर ली है। यह आंकड़ा 2019 की तुलना में 29% ज्यादा है। ध्यान देने वाली बात यह है कि 2019 में कोरोना का प्रकोप नहीं था। फिर भी हजारों व्यापारियों ने अपनी जान दी है। रिपोर्ट बताती है कि कोरोना काल में सबसे अधिक तनाव इन्हीं लोगों ने झेला है। कोरोना के कारण लगाये गये लॉकडाउन ने कई लोगों के धंधे बंद करा दिये थे। कोरोना ने देश की अर्थव्यवस्था को काफी चोट पहुंची है।

संसद के शीतकालीन सत्र में गृह मंत्रालय ने एनसीआरबी (NCRB) की रिपोर्ट Accidents and Suicides in India के हवाले से यह आंकड़ा प्रस्तुत किया है। रिपोर्ट में बताया गया कि 2019 में व्यापार से जुड़े 9,052 लोगों ने आत्महत्या की। वहीं, 2020 में 11,716 लोगों ने अपनी जान दी। हालांकि इस रिपोर्ट में यह साफ नहीं है कि यह व्यापारी किस सेक्टर से जुड़े थे।

किसानों ने भी की आत्महत्याएं

एनसीआरबी के डेटा के मुताबिक 2020 में 10,677 किसानों ने भी आत्महत्या की हैं। 2015 में 1 व्यापारी के अनुपात में 1.44 किसानों ने आत्महत्या की थी, लेकिन 2020 में यह आंकड़ा उलटा हो गया। हर एक किसान पर 1.1 व्यापारी ने आत्महत्या की है। एनसीआरबी के आंकड़ों के मुताबिक, 2020 में व्यावसायिक आत्महत्याओं में से 4,226 वेंडरों, 4,356 व्यापारी और 3,134 अन्य व्यावसायिक गतिविधियों में जुड़े लोगों ने आत्महत्या की है।

यह भी पढ़ें: IPL 2022: एमएस धोनी, रोहित शर्मा और विराट कोहली के ऊपर फ्रेंचाइजियों की बरसी कृपा कितनी जायज

Related posts

Himachal: सोलन में परवाणू रोपवे अटका, बचाव कार्य जारी, ट्रॉली में फंसे हैं 6-7 पर्यटक

Pramod Kumar

सांसद निशिकांत दूबे ने ED से की एक्टर आमिर खान की मनी लाउनडरिंग की जांच करने की मांग, जानिए पूरा मामला

Sumeet Roy

Shahadat Divas:  ‘मैं रहूं या ना रहूं’! लौह महिला इंदिरा गांधी का वह आखिरी दिन!

Pramod Kumar