समाचार प्लस
Breaking देश पटना बिहार

Bihar में ‘दाल में काला’ है! लालू परिवार को बचाने के लिए सीबीआई की बिहार में ‘नो एंट्री’?

CBI 'no entry' in Bihar to save Lalu family?

न्यूज डेस्क/ समाचार प्लस – झारखंड-बिहार

बिहार में ‘दाल में कुछ काला’ है या फिर ‘पूरी दाल ही काली’ है। क्योंकि लगता है मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने सुशासन के रास्ते पर चलना छोड़ दिया है! नये साथियों से हाथ मिलाने के बाद अपने ‘साथियों’ को बचाने के उपायों में उनका साथ देने लग गये हैं। बिहार से खबर आ रही है कि अब महागठबंधन की सरकार की इजाजत के बिना जांच एजेंसी सीबीआई की बिहार में एंट्री नहीं होगी। अब तो यह बताने की भी जरूरत नहीं कि ऐसा क्यों होगा। जैसे ही महागबंधन की सरकार बनी और मंत्रिमंडल का बंटवारा हुआ वैसे ही उसके कई मंत्रियों पर आपराधिक केस उजागर हो गये। इसी बीच सीबीआई ने बिहार में कई ठिकानों पर छापे मारे तो ये सभी राजद के नेताओं पर थे। हालांकि मामला पुराना है और लालू प्रसाद के मुख्यमंत्री रहते ‘नौकरी के बदले जमीन’ लेने से जुड़ा है। इस मामले में पहले भी छापेमारी होती रही है, और लालू प्रसाद का परिवार ही इसके लपेटे में है। अभी हाल की सीबीआई छापेमारियों में लालू के बड़े लाल के गुरुग्राम में उनके तथाकथित मॉल पर भी छापेमारी हो गयी। खुद लालू यादव चारा घोटाले में सजायाफ्ता हैं। इसके अलावा आईआरसीटीसी घोटाला मामले में भी लालू यादव और उनका परिवार आरोपी है। इन सबसे तो यह अंदाजा लगाया जा सकता है कि राजद को अपने बचाव के लिए एक ‘ढाल’ चाहिए। और राजद की यह ढाल नीतीश कुमार बन गये हैं।

पटना में जेडीयू कार्यालय में महागठबंधन में शामिल पार्टियों की बैठक में यह निर्णय हो गया है कि बिना सरकार की अनुमति के सीबीआई बिहार में कोई कार्रवाई न करेगी। इसकी जानकारी राष्ट्रीय जनता दल के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष शिवानंद तिवारी ने दी है। शिवानंद तिवारी ने कहा कि बिहार से पहले पश्चिम बंगाल सरकार ने भी सीबीआई के संबंध में ऐसा ही निर्णय लिया था। पश्चिम बंगाल, छत्तीसगढ़, राजस्थान, पंजाब, मेघालय ने भी इस तरह का फैसला पहले भी लिया गया है। ध्यान देने वाली बात है कि सीबीआई के विरुद्ध ऐसा निर्णय लेने वाले ज्यादातर राज्य विपक्षी पार्टियों के द्वारा शासित हैं।

महागबंधन का यह फैसला कितना कारगर होगा, यह तो फिलहाल नहीं कहा जा सकता, लेकिन इतना सच है कि बिहार के कई नेताओं, मंत्रियों पर गिरफ्तारी की तलवार लटक रही है। बिहार विधान परिषद में नेता विपक्ष सम्राट चौधरी का कहना है कि उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव जल्द जेल जाने वाले है। लालू यादव के ‘हनुमान’ भोला यादव सीबीआई की जांच के बाद जेल में हैं।

यह भी पढ़ें: Jharkhand: अंकिता हत्याकांड केस का निष्पादन फास्ट ट्रैक कोर्ट से, एडीजी रैंक के अधिकारी से अनुसंधान का सीएम का निर्देश

Related posts

बिहार : आज से खुल गये कक्षा 1 से 8 तक के स्कूल, सरकार ने जारी की Guidelines

Manoj Singh

Jharkhand Legislative Assembly foundation day 2021: दूसरी बार बिना नेता प्रतिपक्ष के मना झारखंड विधानसभा स्थापना दिवस

Manoj Singh

…तो Pregnant हैं महेंद्र सिंह धोनी की पत्नी साक्षी? सोशल मीडिया पर चर्चा तेज

Manoj Singh