समाचार प्लस
Breaking देश फीचर्ड न्यूज़ स्लाइडर

शारदीय नवरात्रः मां चन्द्रघण्टा की कृपा से साधक को अलौकिक वस्तुओं के होते हैं दर्शन

मां चन्द्रघण्टा की कृपा से साधक को अलौकिक वस्तुओं के होते हैं दर्शन

न्यूज डेस्क/ समाचार प्लस – झारखंड-बिहार

तृतीय चंद्रघण्टा

पिण्डजप्रवरारुढा चण्डकोपास्त्रकैर्युता|
प्रसादं तनुते मह्यं चन्द्रघण्टेति विश्रुता ||

मां दुर्गाजी की तीसरी शक्ति का नाम चंद्रघंटा है। नवरात्रि उपासना में तीसरे दिन की पूजा का अत्यधिक महत्व है और इस दिन इन्हीं के विग्रह का पूजन-आराधन किया जाता है। इस दिन साधक का मन ‘मणिपूर’ चक्र में प्रविष्ट होता है। इस देवी की कृपा से साधक को अलौकिक वस्तुओं के दर्शन होते हैं। दिव्य सुगंधियों का अनुभव होता है और कई तरह की ध्वनियां सुनाई देने लगती हैं।

देवी का यह स्वरूप परम शांतिदायक और कल्याणकारी माना गया है। इसीलिए कहा जाता है कि हमें निरन्तर उनके पवित्र विग्रह को ध्यान में रखकर साधना करनी चाहिए। उनका ध्यान हमारे इहलोक और परलोक दोनों के लिए कल्याणकारी और सद्गति देने वाला है। इस देवी के मस्तक पर घंटे के आकार का आधा चन्द्र है। इसीलिए इस देवी को चन्द्रघण्टा कहा गया है। इनके शरीर का रंग सोने के समान बहुत चमकीला है। इस देवी के दस हाथ हैं। वे खड्ग और अन्य अस्त्र-शस्त्र से विभूषित हैं।

सिंह पर सवार इस देवी की मुद्रा युद्ध के लिए उद्धत रहने की है। इसके घण्टे-सी भयानक ध्वनि से अत्याचारी दानव-दैत्य और राक्षस कांपते रहते हैं। नवरात्रि में तीसरे दिन इसी देवी की पूजा का महत्व है। इस देवी की कृपा से साधक को अलौकिक वस्तुओं के दर्शन होते हैं। दिव्य सुगंधियों का अनुभव होता है और कई तरह की ध्वनियां सुनाईं देने लगती हैं। इन क्षणों में साधक को बहुत सावधान रहना चाहिए।

इस देवी की आराधना से साधक में वीरता और निर्भयता के साथ ही सौम्यता और विनम्रता का विकास होता है। इसलिए हमें चाहिए कि मन, वचन और कर्म के साथ ही काया को विहित विधि-विधान के अनुसार परिशुद्ध-पवित्र करके चन्द्रघण्टा के शरणागत होकर उनकी उपासना-आराधना करना चाहिए। इससे सारे कष्टों से मुक्त होकर सहज ही परम पद के अधिकारी बन सकते हैं। यह देवी कल्याणकारी है।

यह भी पढ़ें: Dhanbad: मिलिये मुद्रा मैन अमरेन्द्र आनन्द से, कुषाण से लेकर आधुनिक काल के सिक्कों का अनमोल संग्रहhttps://samacharplusjhbr.com/amarendra-anand-has-a-priceless-collection-of-coins-from-kushan-to-modern-times/

Related posts

Vicky Kaushal-Katrina Kaif की शादी में मोबाइल रहेगा BAN! जल्द जारी होगी गेस्ट लिस्ट

Sumeet Roy

T20 World Cup: चोटिल हार्दिक पांड्या क्या न्यूजीलैंड के खिलाफ मैच से पहले होंगे फिट? फैंस के लिए आई ये बड़ी खबर

Manoj Singh

सीधी नहीं हो सकती पाकिस्तान की पूंछ, स्नेहा दुबे ने धोया तो लगा बिलबिलाने

Pramod Kumar

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.