समाचार प्लस
Breaking अपराध झारखण्ड फीचर्ड न्यूज़ स्लाइडर बोकारो

बोकारो में दुष्कर्म के आरोपी आरजू मल्लिक के घर चला बुलडोजर, देखिए EXCLUSIVE तस्वीरें

bulldozer in house of rape accused in bokaro

बोकारो की को-ऑपरेटिव कॉलोनी में स्नातक की छात्रा से चार युवकों ने सामूहिक दुष्कर्म किया। गैंगरेप का वीडियो बनाया और उसे वायरल करने का भय दिखाकर लगातार अंतराल पर गैंगरेप करते रहे। घटना 17 जनवरी 2021 से शुरू हुई, जो लगातार चलती रही है। आरोपियों ने पीड़िता व परिजनों का जीना हराम कर दिया। इसके बाद पीड़िता अपने माता-पिता के साथ बुधवार की रात एसपी कोठी पहुंची, जहां घटना का जिक्र करते हुए वह दो बार बेहोश हुई।चेहरे पर पानी छिड़ककर होश में लाया गया। एक वर्ष से पीड़िता से लगातार हो रही हैवानियत सुन एसपी स्तब्ध रह गए। एसपी के आदेश पर चास महिला थाने की पुलिस ने गैंगरेप व धर्म परिवर्तन का दबाव बनाने का केस दर्ज किया। इस मामले में आरजू मल्लिक उर्फ राजू, प्रमोद ओझा, नितेश पांडे, जालिम व पंडित को आरोपी बनाया गया। आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए सब-इंस्पेक्टर शिल्पा कुजूर के नेतृत्व में एसआईटी गठित की गई।

कॉलेज तक पीछा किया धर्म बदलकर फंसाया : गैंगरेप पीड़िता के बयान के अनुसार आरोपी आरजू मल्लिक उसके पड़ोस से लेकर कॉलेज तक पीछा करता था। अपना नाम राजू बताया और दोस्ती की। 17 जनवरी 2020 को अपनी कार से को-ऑपरेटिव पलॉट संख्या 304 ले गया। वहां पहले से पंडित मौजूद था। जबरन माला पहनाकर मांग में सिंदूर डाल दी। फिर दुष्कर्म कर धोखे से वीडियो बनाया।

कहा कि परिवार की रजामंदी तक घटना का जिक्र न करे। एक दिन अचानक उसी पलॉट में राजू के मित्र ने उसे आरजू पुकारा। तब पता चला कि वह नाम बदलकर धोखे से पास आया। वहीं उसने अपने धर्म का खुलासा भी किया। फिर धोखे से बनाए वीडियो को वायरल करने का भय दिखाकर उसके ड्राइवर जालिम, दोस्त प्रमोद और नितेश के साथ गैंगरेप कर उसका भी वीडियो बनाया। इसके बाद मारपीट कर कुछ कागजातों पर हस्ताक्षर करा लिया। वीडियो वायरल करने की धमकी देकर बराबर अंतराल पर दुष्कर्म करने लगा। लगातर धर्म बदलने का भी दबाव बनाने लगा। पीड़िता ने घटना की जानकारी परिजनों को दी तो उन्होंने लोक लज्जा के कारण रिश्तेदार के घर दिल्ली भेज दी। आरोपी वहां भी पंहुच गया। बोकारो में परिचितों के पास गलत तस्वीर भेज दी। पीड़िता ने कहा कि उसके जीवन का यही मकसद है कि आरोपियों को फांसी की सजा मिले।

आपराधिक छवि के हैं आरोपी : चास महिला पुलिस अनुसार मुख्य आरोपी आरजू मल्लिक आपराधिक छवि का है। वह हत्या मामले में आरोपी रह चुका है। इधर प्रमोद ओझा गांजा तस्करी मामले में बालीडीह पुलिस का आरोपी है। वहीं, प्राणघातक हमले के मामले में सिटी पुलिस भी उसकी तलाश कर रही है।

इसे भी पढें: Nitish Cabinet का फैसला, 8000 पदों पर होगी बंपर भर्ती, 16 एजेंडों पर लगी मुहर

Related posts

‘मैं जावेद अख्तर की पोती नहीं हूं’ टी-शर्ट पर प्रिंट करवा हाथ में गीता थामे घूम रहीं Urfi Javed, लोग बोले- ‘चलो पूरे कपड़े तो पहने’

Manoj Singh

Jharkhand Politcs: झारखंड में सियासी हलचल फिर तेज, CM हेमंत सोरेन ने बुलाई UPA की बैठक

Manoj Singh

सीतामढ़ी में हॉस्पिटल गेट पर अपराधियों ने की ताबड़तोड़ फायरिंग, नर्स की मौत, डॉक्टर जख्मी

Pramod Kumar