समाचार प्लस
Breaking देश फीचर्ड न्यूज़ स्लाइडर

UP Election: यादवों पर टिकीं भाजपा की निगाहें, ‘नेताजी’ से मुलाकात ने बढ़ाया सियासी पारा

यूपी में यादवों पर टिकीं भाजपा की निगाहें

न्यूज डेस्क/ समाचार प्लस – झारखंड-बिहार

यूपी के प्रदेश भाजपा अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह ने समाजवादी पार्टी के संरक्षक मुलायम सिंह से मुलाकात कर सियासी पारा बढ़ा दिया है। वैसे भी यह राजनीति है, विरोधी दलों के दो नेता आपस में ‘किसी भी मौके’ पर मिल लें तो उसका सियासी मतलब निकल जाता है। इन दिनों उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनाव की सरगर्मी है और सभी दल अपने-अपने जातीय समीकरण में लगे हुए हैं। लिहाजा ऐसे में ‘छोटी-सी बात’ दूर तक चली जाती है। चुनाव का माहौल है तो भाजपा भी अपनी जातीय गोटियां बैठा रही है। भाजपा अगर मुलायम सिंह को साधने का प्रयास कर रही है तो उसके पीछे भी राजनीतिक गणित है। सपा यादवों के वोट पर टिकी है और यूपी में यादव एक बहुत बड़ा वोट बैंक है। अगर यह वोट बैंक सध गया तो भाजपा की चुनाव में बल्ले-बल्ले हो सकती है।

यादवों पर भाजपा मेहरबान

वैसे तो सपा की यादव वोट बैंक पर मजबूत पकड़ है। लेकिन 2022 के लिए भाजपा ने उसमें सेंधमारी का दांव खेलना शुरू कर दिया है। 2017 और 2019 के चुनावों में भाजपा ने ओबीसी की अन्य जातियों के साथ ऐसा दांव आजमा चुकी है। भाजपा उत्तर प्रदेश में हर बूथ को मजबूत कर खुद को मजबूत करने में जुटी हुई है। इसीलिए भाजपा बूथ को मजबूत करने का यह कार्यक्रम प्रदेश के सभी जिलों में चला रही है। लेकिन बूथ मैनेजमेंट के बहाने राजनीति भी करने से नहीं चूकी। ऐसे ही एक कार्यक्रम के दौरान यादव बिरादरी के कार्यकर्ताओं को सम्मानित कर भाजपा ने अपना पासा भी फेंका है। इसी रणनीति के तहत भाजपा अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह ने लखनऊ के ग्वारी गांव के बूथ अध्यक्ष गौरव यादव, मनोज यादव, आकाश यादव, अजीत यादव और उनके परिजनों से मुलाकात कर न सिर्फ उन्हें सम्मानित किया, बल्कि फोटो अपने ट्विटर अकाउंट पर शेयर किया।

स्वतंत्र सिंह देव और मुलायम सिंह मुलाकात पर सपा के कान खड़े

स्वतंत्र देव सिंह मुलायम सिंह यादव को दिवंगत भाजपा नेता कल्याण सिंह की तेरहवीं पर आमंत्रित करने के लिए पहुंचे थे। लेकिन यह मुलाकात सियासी चर्चाओं का बाजार गर्म कर गयी है। यहां तक कि स्वतंत्र देव सिंह ने इस मुलाकात के बाद जो ट्वीट किया, उस पर भी राजनीति शुरू हो गयी है। स्वतंत्रदेव सिंह ने ट्वीट कर इतना ही लिखा था- ‘आदरणीय मुलायम सिंह जी ‘नेताजी’ से उनके आवास पर भेंट कर कुशलक्षेम जाना एवं आशीर्वाद प्राप्त किया। मैं ईश्वर से उनके उत्तम स्वास्थ्य एवं दीर्घायु की कामना करता हूं।‘ लेकिन यह बात सपा नेता नहीं पचा पा रहे हैं। चूंकि कल्याण सिंह निधन के बाद उनके पार्थिव शरीर का अंतिम दर्शन करने सपा का कोई बड़ा नेता नहीं पहुंचा था, इसलिए भाजपा के इस ‘वार’ का कोई जवाब सपा को देते नहीं बन पड़ा। इसलिए इसे दूसरा ही राजनीति मोड़ देने का प्रयास वह करने लगी। स्वतंत्रदेव सिंह की ट्वीट को रिट्वीट करते हुए सपा की ओर से कहा गया कि सपा संरक्षक ने स्वतंत्र देव सिंह को पार्टी में शामिल होने का न्यौता दिया है। लेकिन भाजपा भी कहां पीछे रहने वाली थी। इसे राजनीतिक मुद्दा बनाते हुए कहा कि सपा को पिछड़े समाज की चिंता नहीं।

यह भी पढ़ें: झारखंड-बिहार के रेल-यात्रियों को सौगात, भारतीय रेलवे ने किया 56 ट्रेनों का विस्तार

Related posts

कल्याण सिंह के पार्थिव शरीर पर तिरंगे के ऊपर BJP का झंडा, कांग्रेस- TMC ने जताई आपत्ति, जानें क्या कहती है राष्ट्रीय ध्वज संहिता

Manoj Singh

जिम के बाहर Janhvi Kapoor हुईं Oops Moment का शिकार, कार में बैठते ही खुला शर्ट का बटन

Manoj Singh

Yashpal Sharma के निधन पर पीएम ने जताया शोक, कहा- “भारतीय क्रिकेट टीम के बहुत प्रिय सदस्य थे”

Manoj Singh

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.