समाचार प्लस
Breaking देश फीचर्ड न्यूज़ स्लाइडर

भाजपा उपराष्ट्रपति उम्मीदवार के नाम पर कर रही गौर, फिर चौंकाएगी, विपक्ष की फिर होगी बोलती बंद!

BJP is looking into the name of Vice Presidential candidate, will be surprised again

न्यूज डेस्क/ समाचार प्लस – झारखंड-बिहार

राष्ट्रपति का चुनाव 18 जुलाई को होना है। इस बीच निर्वाचन आयोग ने उप राष्ट्रपति चुनाव की भी अधिसूचना जारी कर दी है। उप राष्ट्रपति का चुनाव 6 अगस्त को होगा। मंगलवार को अधिसूचना जारी होने के साथ उम्मीदवारों के नामांकन पत्र दाखिल करने की प्रक्रिया शुरू भी हो गई है। नामांकन पत्र दाखिल करने की अंतिम तारीख 19 जुलाई है। नामांकन-पत्रों की जांच 20 जुलाई को की जाएगी और नाम वापस की आखिरी तारीख 22 जुलाई होगी। बता दें, उपराष्ट्रपति एम वेंकैया नायडू का कार्यकाल 10 अगस्त को समाप्त हो रहा है। देश के अगले उपराष्ट्रपति 11 अगस्त को शपथ ग्रहण करेंगे।

भाजपा राष्ट्रपति चुनाव की तरह उपराष्ट्रपति चुनाव में भी तगड़ा उम्मीदवार उतारना चाहेगी। वैसे, आंकड़ों के लिहाज से उपराष्ट्रपति पद के चुनाव में भाजपा के नेतृत्व वाले राजग का पलड़ा भारी है। फिर भी भाजपा एक बार फिर ऐसा उम्मीदवार मैदान में उतारना चाहेगी, जिसका दूरगामी राजनीतिक लाभ हो। इसी मकसद से भाजपा ने कई नामों पर चर्चा तेज कर दी है। कयास लगाए जा रहे हैं कि द्रौपदी मुर्मू की तरह की उपराष्ट्रपति के उम्मीदवार के नाम से भी भाजपा सबको चौंका सकती है।

कौन हो सकता है एनडीए का उपराष्ट्रपति उम्मीदवार

भाजपा उपराष्ट्रपति पद के उम्मीदवार के लिए मंथन कर रही है। जाहिर है उपराष्ट्रपति पद का जो भी उम्मीदवार होगा, उसका राजनीतिक मायने होगा। कोई महिला, कोई सिख, कोई दलित-समुदाय से या फिर मुस्लिम समुदाय से, कोई भी हो सकता है एनडीए का उपराष्ट्रपति उम्मीदवार। सम्भावना जतायी जा रही है कि भाजपा का उपराष्ट्रपति उम्मीदवार कोई महिला हो सकती है। ऐसा इसलिए, क्योंकि देश के इतिहास में आज तक कोई महिला उपराष्ट्रपति नहीं बनी है। द्रौपदी मुर्मू के रूप में महिला और पहली आदिवासी राष्ट्रपति मिल सकती हैं। अगर उपराष्ट्रपति की कुर्सी पर भी कोई महिला बैठती है। तब ऐसा पहली बार होगा जब देश के शीर्ष दो पदों पर दो महिला विराजमान होंगी। वैसे महिला उम्मीदवारों के लिए भाजपा के पास कुछ नाम हैं। इनमें पूर्व केंद्रीय मंत्री और मध्य प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री उमा भारती, मणिपुर की पूर्व राज्यपाल नजमा हेपतुल्ला, गुजरात की पूर्व मुख्यमंत्री और उत्तर प्रदेश की मौजूदा राज्यपाल आनंदीबेन पटेल के नाम प्रमुख हैं। चौंकाने वाला कोई नाम पश्चिम बंगाल से भी हो सकता है।

भाजपा सिख समुदाय पर भी डोरे डालने के लिए पंजाब से किसी बड़े नाम को आगे कर सकती है। भाजपा को इसका फायदा आने वाले वाले दिनों में पंजाब और हरियाणा में मिल सकता है। वैसे, इस समय पंजाब के पूर्व मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह के नाम की चर्चा चल रही है। भाजपा का सिख चेहरा पंजाब से भी हो सकता है। भाजपा निस्संदेह दिल्ली के अपने पुराने गढ़ को फिर से अपने कब्जे मे लेने के लिए ऐसा कर सकती है।

वोट की राजनीति में ओबीसी और दलित चेहरों के नामों पर भी भाजपा गौर कर सकती है। जिस तरह से आज तक कोई महिला उपराष्ट्रपति नहीं बनी है उसी तरह नॉर्थ ईस्ट से कोई भी राष्ट्रपति या उपराष्ट्रपति नहीं बना है। भाजपा इस पर भी विचार कर सकती है। रही बात चौंकाने की तो भाजपा का चौंकाने वाला नाम मुस्लिम समुदाय से भी हो सकता है। भाजपा उपराष्ट्रपति चुनाव में मुस्लिम चेहरे पर भी बड़ा दांव खेल सकती है। क्योंकि आज देश का जैसा माहौल बना है उसमें पीएम मोदी पर मुस्लिम विरोधी होने के आरोप लग रहे हैं। ऐसे में भाजपा किसी मुस्लिम को उपराष्ट्रपति उम्मीदवार खड़ा कर इस सुर को थोड़ा धीमा कर सकती है। मुस्लिम उम्मीदवारों में भाजपा के पास दो बड़े नाम है। केरल के राज्यपाल आरिफ मोहम्मद खान और केंद्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी का नाम सबसे ज्यादा चर्चा में हैं। भाजपा यहां भी किसी मुस्लिम महिला को उम्मीदवार बनाकर भी चौंका सकती है।

यह भी पढ़ें:  Birmingham Test: 350 से बड़ा टारगेट देकर पहली बार हारा भारत, 7 विकेट से हराकर इंग्लैंड ने शृंखला की 2-2 से बराबर

Related posts

PM मोदी VS मनमोहन सिंह: किनके कार्यकाल में देश में बढ़ी महंगाई? जानें 

Manoj Singh

Jharkhand में 20 सूत्री समिति के अध्यक्षों की घोषणा, जानिए किनको मिली जिम्मेवारी

Sumeet Roy

बिहार के बंटवारे का आधार बीजेपी ने रखा, अब विकास की जिम्मेदारी से भागना ठीक नहीं – प्रो. रणबीर नंदन

Pramod Kumar