समाचार प्लस
Breaking देश फीचर्ड न्यूज़ स्लाइडर

Birth Anniversary: जब अटल बिहारी वाजपेयी ने संन्यास लेने का बना लिया था मन

Atal Bihar Vajpayee

Atal Bihari Vajpayee Birthday : आज की राजनीति भले इस मोड़ पर आ गयी है कि नेता इसे छोड़ने का लोभ छोड़ नहीं पाते। गुड़ से मक्खी जिस प्रकार चिपकी रहती है, उसी प्रकार राजनीति से चिपके रहना चाहते हैं। बावजूद इसके राजनीति में भी ऐसे अवसर आ ही जाते हैं जब कोई बात दिल पर लग जाये तो बस, उससे किनारा कर लेने का दिल करता है। ऐसा ही अवसर राजनीति के शिखर पुरुष अटल बिहारी वाजपेयी के समक्ष भी आया था।

किस्सा कांग्रेस और भाजपा के राजनीतिक करवट लेने से जुड़ा हुआ है। देश के प्रधानमंत्री रहे राजीव गांधी ने भाजपा का मजाक उड़ाया था। मजाक इसलिए बनाया, क्योंकि 1984 की कांग्रेस की हाथीनुमा जीत के आगे भाजपा को चींटी जैसी उपलब्धि नसीब हुई थी। समय एक जैसा नहीं रहता है, राजीव गांधी (कांग्रेस) का वह मजाक घूम कर आज कांग्रेस के ऊपर आ गया है। जहां भाजपा के सामने कांग्रेस एक बौनी पार्टी नजर आती है। यानी भाजपा की वह ‘चींटी’ कांग्रेस के ‘हाथी’ की नाक में घुस कर उसे परेशान कर रही है। आज कांग्रेस अपने और अपनों के कारण देश में मजाक बनी हुई है।

25 दिसम्बर को अटल बिहारी वाजपेयी की 97वीं जयंती पर देश उन्हें याद कर रहा है। ऐसे में 1984 लोकसभा चुनाव से जुड़ा एक किस्सा याद आ रहा है। पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी की हत्या के बाद 1984 में लोकसभा चुनाव हुए थे। देश में कांग्रेस के प्रति सहानुभूति की लहर थी। इस लहर ने कांग्रेस को लोकसभा में 426 सीटें दिला दीं। जबकि भारतीय जनता पार्टी को सिर्फ 2 सीटें मिलीं थीं। यहां तक कि अटल बिहारी वाजपेयी अपनी पारंपरिक ग्वालियर सीट हार गए थे। माधव राव सिंधिया ने उन्हें हराया था। भाजपा की इस दुर्दशा का कांग्रेस ने मजाक बनाय था। उन दिनों, देश में परिवार नियोजन का नारा था- ‘हम दो, हमारे दो’। राजीव गांधी ने इसी नारे का इस्तेमाल करके भाजपा का मजाक उड़ाया था। यह अपमान अटल बिहार वाजपेयी बर्दाश्त नहीं कर पा रहे थे। उन्हें भाजपा के अध्यक्ष पद से इस्तीफा भी देना चाहा, लेकिन उनका इस्तीफा मंजूर नहीं हुआ।

समय ने करवट ली। राजनीति से संन्यास लेने का विचार करने वाले अटल बिहारी वाजपेयी 3 बार देश के प्रधानमंत्री बने। आज आलम यह है कि राजीव गांधी का 2 सीटों वाला मजाक, कांग्रेस पर सटीक पड़ गया है। आज कांग्रेस हर राज्य में अपनी प्रतिष्ठा बचाने के लिए संघर्ष कर रही है। दूसरी ओर भाजपा आज दुनिया की सबसे बड़ी राजनीतिक पार्टी बन चुकी है।

यह भी पढ़ें: आजसू कार्यकर्ताओं ने निर्मल महतो की मनायी जयंती, शहीद का दर्जा दिये जाने की मांग भी उठायी

Atal Bihari Vajpayee Birthday

Related posts

झारखंड की धरती पर नए राज्यपाल रमेश बैस का अभिनन्दन, जानिए कैसे तय किया एक पार्षद से लेकर महामहिम तक का सफर

Manoj Singh

जामताड़ा : पुलिस के हत्थे चढ़े 11 साइबर अपराधी, पलक झपकते साफ कर देते थे अकाउंट

Manoj Singh

‘Jugnu Song’ पर मेडिकल छात्राओं ने डांस कर बटोरी तारीफें, लोगों ने कह दी ये बात

Manoj Singh