समाचार प्लस
Breaking फीचर्ड न्यूज़ स्लाइडर बिहार स्वास्थ्य

दरभंगा में बनेगा बिहार का दूसरा AIIMS, हर दिन 2500 मरीजों का हो सकेगा इलाज

bihars second aiims to be built in darbhangaa

न्यूज़ डेस्क /समाचार प्लस झारखंड -बिहार

दरभंगा में अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (AIIMS) को मंजूरी मिल गई है । इसके साथ ही बिहार में पटना के बाद दूसरा AIIMS बनने का रास्ता साफ हो गया है. दरभंगा मेडिकल कॉलेज (DMCH) के स्थान पर अब एम्स का निर्माण होगा. इसको लेकर केंद्रीय टीम ने सोमवार को पहले दिन एम्स के लिए चिन्हित जमीन का करीब डेढ़ किलोमीटर पैदल चलकर मुआयना किया . दो महीने पहले जब भाजपा के राष्ट्रीय कार्यकारी अध्यक्ष जेपी नड्डा पटना आये थे तब उन्होंने एक कार्यक्रम के दौरान ही कहा था कि बिहार के दरभंगा में दूसरे एम्स का निर्माण होगा.

‘दरभंगा मेडिकल कॉलेज अस्पताल की खाली पड़ी जमीन पर ही एम्स का निर्माण हो’ 

इसके अलावा जदयू नेता और बिहार के जल संसाधन मंत्री संजय झा भी कई बार दरभंगा में एम्स बनाने की मांग कर चुके थे. लेकिन अब बिहार सरकार ने एम्स के निर्माण के लिए जमीन देने की बजाय केन्द्र से आग्रह किया कि दरभंगा मेडिकल कॉलेज अस्पताल की खाली पड़ी जमीन पर ही एम्स का निर्माण करें. बिहार सरकार का तर्क था कि डीएमसीएच की कई एकड़ भूमि है जिसका इस्तेमाल एम्स के लिए किया जा सकता है. बिहार सरकार ने यह भी कहा कि डीएमसीएच में कार्यरत लोगों को कहीं और शिफ्ट किया जाएगा.

ओपीडी में एक दिन में 2500 मरीजों का इलाज हो सकेगा

इस अस्पताल का निर्माण पूरा हो जाने के बाद ओपीडी में एक दिन में 2500 मरीजों का इलाज हो सकेगा. साथ ही यहां 100 सीटों पर एमबीबीएस और 60 सीटों पर बीएससी नर्सिंग की पढ़ाई भी हो सकेगी. दो महीने पहले ही स्थानीय छात्र संगठन मिथिला स्टूडेंट्स यूनियन ने दरभंगा एम्स की स्थापना के लिए घर-घर से ईंट लाने का बड़ा अभियान भी छेड़ा था.

750 बेड का होगा दरभंगा एम्स

दरभंगा एम्स, 750 बेड का होगा। 1264 करोड़ रुपए की लागत से यह एम्स करीब 48 महीने में बनकर तैयार होगा। दरभंगा एम्स में एमबीबीएस की 100 सीटें, बीएससी नर्सिंग की 60 सीटें निर्धारित की गई हैं. इसमें 15 से 20 सुपर स्पेसिलिटी डिपार्टमेंट भी होगा. इसका निर्माण प्रधानमंत्री स्वास्थ्य सुरक्षा योजना के तहत किया जाएगा. केंद्रीय वित्त मंत्री ने वित्तीय वर्ष 2015-16 के बजट भाषण में दरभंगा एम्स की घोषणा की थी. एम्स बनने से प्रत्यक्ष रूप से करीब 3000 लोगों को रोजगार मिलने की भी उम्मीद है.

ये भी पढ़ें : PM Modi बने दुनिया के सबसे लोकप्रिय नेता, Joe Biden और Boris Johnson को छोड़ा पीछे

 

Related posts

ओम बिड़ला का दावा : 2022 में आजादी के 75 साल पूरा होने का जश्न नये संसद भवन में मनायेंगे

Pramod Kumar

IPL 2021: 9 साल बाद चेन्नई सुपर किंग्स और कोलकाता नाइट राइडर्स फाइनल में फिर आमने-सामने

Pramod Kumar

कांग्रेस की जनजागरण यात्रा कोलेबिरा पहुंची, बिरसा मुंडा की प्रतिमा पर किया माल्यार्पण

Pramod Kumar

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.