समाचार प्लस
Breaking फीचर्ड न्यूज़ स्लाइडर बिहार

Bihar: यह शादी फिल्मी नहीं है! गया में एक मां की अंतिम इच्छा हुई पूरी, ICU में हुई शादी, फिर..

Bihar: This marriage is not filmy! A mother's last wish came true, married in ICU

न्यूज डेस्क/ समाचार प्लस – झारखंड-बिहार   

ऐसा फिल्मों में देखने को मिलता है कि किसी की सांसों की डोर टूटने वाली की इच्छा पूरा करने के लिए विवाह की डोर से बांध दिया गया। यानी चट मंगनी पट शादी करा दी गयी। लेकिन गया में मंगनी से पहले शादी ही करा दी गयी, वह भी अस्पताल में आईसीयू में अंतिम सांसें गिन रही एक मां की अंतिम इच्छा की खातिर।

गया में फिल्मों जैसी कहानी ने हकीकत का रूप ले लिया है। एक प्राइवेट अस्पताल के आईसीयू में एक जोड़े की शादी कराई गई। इस अनोखी शादी में न सिर्फ दूल्हा-दुल्हन के परिवार के लोग मौजूद रहे, बल्कि अस्पताल के कर्मी भी मौजूद रहे, लेकिन इस शादी की खुशियां मनाई जाती, उससे पहले ही सभी की आंखे नम हो गईं।

दरअसल, आईसीयू में हुए यह अनोखी शादी गया जिले के मजिस्ट्रेट कॉलोनी के सामने स्थित अर्श हॉस्पीटल में कराई गई। बताया गया कि गुरारू प्रखंड के बाली गांव केनिवासी ललन कुमार की पत्नी पूनम कुमारी वर्मा कई दिनों से बीमार थीं। सीरियस होने के बाद उन्हें अर्श हास्पिटल गया में भर्ती कराया गया था। डॉक्टर ने कहा कि मरीज की हालत गंभीर है। किसी भी समय उनकी मौत हो सकती है। ऐसी हालत में मरीज पूनम कुमारी वर्मा ने परिजनों के सामने शर्त रख दी कि उनकी बेटी चांदनी कुमारी की शादी उनके जिंदा रहते कर दी जाये।

परिजनों ने बताया कि चांदनी कुमारी का इंगेजमेंट 26 दिसंबर को गुरुआ प्रखंड के सलेमपुर गांव के निवासी भारतीय सेना से सेवानिवृत्त विद्युत कुमार अंबेडकर एवं नीलम कुमारी के इंजीनियर पुत्र सुमित गौरव के साथ होना तय था, लेकिन लड़की की मां की जिद के कारण दोनों की शादी इंगेजमेंट की निर्धारित तिथि के एक दिन पहले ही कर दी गयी। दुःखद बात यह रही कि शादी के महज दो घंटे बाद ही लड़की की मां का निधन हो गया।

शादी अर्श हास्पिटल में ही आइसीयू रूम के दरवाजे के बाहर युवक संघ पद्धति से संपन्न हुई। सुमित गौरव के चाचा अजीत कुमार लोहिया ने वर और वधू को शपथ-पत्र पढ़वाकर शादी संपन्न करवायी। मौके पर शैलेन्द्र कुमार मंडल, कुमारी शर्मिला टैगोर, कुमारी प्रमिला टैगोर, मणिभूषण, ज्योति, गुनगुन व जदयू नेता अरविंद कुमार वर्मा सहित दर्जनों लोग मौजूद थे। बड़ी बात यह कि यह पूरी शादी बिना किसी तिलक दहेज के की गई।

शादी होने के महज दो घंटे बाद ही अपनी मां को खोने वाली चांदनी कुमारी ने बताया कि उनकी मां पूनम कुमारी वर्मा मगध मेडिकल कॉलेज एवं अस्पताल में एएनएम के पद पर कार्यरत थीं और कोरोना काल से ही लगातार बीमार रह रही थी। वह हृदय रोग से पीड़ित थी। मां की इच्छा रखने के लिएअस्पताल में शादी की।

यह भी पढ़ें: Lalu Yadav की फिर बढ़ेंगी मुश्किलें, CBI ने रेलवे परियोजनाओं में भ्रष्‍टाचार मामले की जांच फिर शुरू की

Related posts

Jharkhand: पुलिस को सुषमा बड़ाइक पर गोलीबारी का शक हम पार्टी के पूर्व प्रवक्ता दानिश रिजवान पर

Pramod Kumar

काबुल: हवाई अड्डे के पास से 150 लोगों को अपने साथ ले गए तालिबानी, इनमें ज्यादातर भारतीय

Manoj Singh

12th India Senior Men’s hockey Championship में झारखंड को मिली पहली जीत, दादरा नगर हवेली को 7- 2 से हराया

Sumeet Roy