समाचार प्लस
Breaking अपराध नवादा फीचर्ड न्यूज़ स्लाइडर बिहार

बिहार शर्मसार : मुजफ्फरपुर के बाद बोधगया बालिका गृह कांड से मचा हड़कंप

बोधगया बालिका गृह कांड से मचा हड़कंप

मुजफ्फरपुर के कुख्‍यात बालिका गृह कांड के बाद बोधगया के बालिका गृह में एक किशोरी के साथ यौन शौषण के मामले ने बिहार में हड़कंप मचा दिया है।  बालिका गृह की एक किशोरी ने बालिका गृह के कर्मचारियों पर यौन शोषण के साथ संचालिका पर ‘चुप रहने’ की धमकी देने का आरोप लगाया है। इस मामले के उजागर होने के बाद बिहार के पुलिस और प्रशासनिक हलकों में हड़कंप मचा हुआ है। बालिका गृह में रह रही अन्‍य लड़कियों से इस बारे में पूछताछ की गयी है और उनके बयान लिए गए हैं। पुलिस ने तो मामले में जांच के आदेश दिए हैं, लेकिन बिहार में महिलाओं की सुरक्षा और कानून-व्‍यवस्‍था पर सवाल खड़े हो गये हैं।

पुलिस के मुताबिक पीड़िता किशोरी नवादा की रहने वाली है। वह 13 जुलाई को बालिका गृह पहुंची थी और 10 अगस्‍त को यहां से चली गई। इन दिनों वह अपने माता-पिता के साथ रह रही है। किशोरी की शिकायत के बाद एक विशेष टीम गठित कर मामले की जांच की जा रही है।

जिला बाल संरक्षण इकाई के सहायक निदेशक को घटना पर संदेह, फिर भी जांच के आदेश

उधर, जिला बाल संरक्षण इकाई के सहायक निदेशक दिवेश कुमार शर्मा ने बोधगया के बालिका गृह में यौन शोषण की श‍िकायत किये जाने की बात स्वीकारी है। लेकिन दिवेश कुमार शर्मा ने साथ ही यह भी कहा कि शेल्टर होम में 24 घंटे पुलिस रहती है और पूरा कैम्पस सीसीटीवी सर्विलांस में रहता है। ऐसे में इस तरह की घटना नामुमकिन जान पड़ती है, लेकिन मामले की उचित जांच कराई जाएगी। उन्‍होंने कहा कि बोधगया बालिका गृह में रह रहीं लड़कियों से पूछताछ की गई है। उनसे लिखित बयान भी लिए गए हैं। लेकिन  किसी भी अन्‍य लड़की ने इस तरह की शिकायत नहीं की है।

किशोरी का आरोप – दूध में नशे की दवा देकर किया जाता था यौन शोषण

पीड़िता ने शेल्टर होम में काम कर रहे कर्मियों पर यौन शोषण का आरोप लगाया है। उसने बताया कि वह 13 जुलाई से 10 अगस्त तक बालिका गृह में रही है। इसी दौरान बालिका गृह के मेंटल रूम में रात के समय उसका यौन शोषण किया जाता रहा। पीड़िता की शिकायत के मुताबिक, उसे खाने में कुछ नशीली दवाएं दी जाती थीं। इसके बाद उसके साथ गलत काम किया जाता था। पीड़िता ने बताया कि उसे प्रत्येक रात में भोजन के बाद दूध में नशीला पदार्थ दिया जाता था, जिससे वह बेहोश हो जाती थी। सुबह होश में आने पर उसके शरीर में दर्द रहता था और कपडे़ भी अस्त-व्यस्त होते थे। पीड़िता ने यह भी बताया कि जब इसकी शिकायत बालिका गृह की मैडम से की तो उसे धमकाया गया और चुप रहने की धमकी दी गयी। यहां उसके साथ रहने वाली चार अन्य लड़कियों के साथ भी ‘ऐसी ही घटना’ होने की भी खबर है।

यह भी पढ़े : जमुई: बहन के घर जा रहे युवक की गोली मारकर हत्या, आक्रोशित ग्रामीणों ने किया सड़क जाम

Related posts

निजी अस्पतालों में इलाज के नाम पर ‘आम’ ही नहीं ‘खास’ से भी हो रही लूट, कब कसेगी नकेल

Manoj Singh

IBPS Clerk Recruitment Form 2021: बैंक Clerk के पद पर नौकरी पाने का अंतिम मौका कल, 7,858 पद के लिए जल्द करें आवेदन

Manoj Singh

खूंखार आतंकी करेगा अफगानिस्तान की ‘रक्षा’, तालिबान ने बनाया रक्षा मंत्री

Pramod Kumar

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.