समाचार प्लस
Breaking पटना फीचर्ड न्यूज़ स्लाइडर बिहार

Omicron के खतरे से निबटने के लिए बिहार तैयार, जारी की नयी गाइडलाइन, स्वास्थ्य विभाग भी अलर्ट पर

Bihar Corona New Guidelines

न्यूज डेस्क/ समाचार प्लस – झारखंड-बिहार

कोरोना संक्रमण और Omicron के बढ़ते खतरों को लेकर बिहार सतर्क हो गया है। कोरोना संक्रमण और ओमीक्रॉन के खतरों से बचा जा सके इसके लिए बिहार सरकार ने नयी गाइडलाइन जारी की है। सरकार ने शिक्षण संस्थानों, परिवहन विभाग से लेकर स्वास्थ्य विभाग तक के लिए नये दिशा-निर्देश जारी किये हैं।

बिहार सरकार ने कौन-कौन से गाइडलाइन किये हैं जारी
  • ओमिक्रॉन की स्थिति को देखते हुए वैसे यात्री, जो प्रभावित देशों से आ रहे हैं, कोक्वारंटीन रखा जाये।
  • ऑनलाइन शिक्षा का माध्यम लगातार जारी रहे।
  • शिक्षा विभाग बिहार राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकार के सहयोग से सोशल डिस्टेंसिंग और मास्क पहने से संबंधित कोविड-19 की जानकारी बच्चों को दे।
  • बच्चों के साथ-साथ उनके अभिभावक को भी जागरूक किया जाये।
  • सभी प्रकार की सामाजिक, राजनीतिक, मनोरंजक खेल, शैक्षणिक, सांस्कृतिक, धार्मिक गतिविधियां कोविड-19 प्रोटोकॉल के तहत आयोजित होंगी।
  • सभी सिनेमा हॉल और जिम 50% उपस्थिति के साथ ही खोले जायें। यहां भी प्रोटोकॉल का पालन पूरी तरह से करना जरूरी होगा।
  • सार्वजनिक परिवहनों में किसी भी हालत में खड़ा होकर यात्रा की अनुमति नहीं होगी।
  • सार्वजनिक परिवहनों और निजी वाहनों में हमेशा मास्क पहनना अनिवार्य होगा। मास्क नहीं पहनने पर कार्रवाई की जायेगी।
स्वास्थ्य विभाग के लिए भी जारी किया गया निर्देश
  • स्वास्थ्य विभाग को लगातार जांच में वृद्धि करने के साथ-साथ रेलवे स्टेशन बस स्टेशन और राज्य की सीमा से लगने वाले जिलों में विशेष निगरानी का निर्देश दिया गया है।
  • प्रत्येक दिन दो लाख से अधिक जांच करने का निर्देश सरकार ने स्वास्थ्य विभाग को दिया है।
  • अस्पतालों की व्यवस्था, विशेषकर ऑक्सीजन एवं आईसीयू की उपलब्धता की समीक्षा करने और प्रशिक्षित कर्मियों को तैयार रखने के भी आदेश दिया गया है।
  • राज्य के सभी जिलाधिकारियों, आरक्षी अधीक्षकों और सिविल सर्जन को ओमीक्रॉन के संक्रमण के प्रसार की संभावना को देखते हुए स्वास्थ्य सुविधा की तैयारी रखने का निर्देश दिया गया है।
  • सरकार के निर्देश का उल्लंघन करने पर सभी जिलाधिकारियों को आपदा प्रबंधन अधिनियम 2005 की धारा 15 से 60 आईपीसी की धारा 188 के प्रधान के अंतर्गत कार्रवाई करने का निर्देश दिया गया है।

यह भी पढ़ें: चाईबासा के रेंगड़ा जंगल में पुलिस मुठभेड़ में मारा गया दो लाख का इनामी नक्सली मंगरा लुगून

Related posts

NEET SS 2021: नीट सुपर स्पेशियलिटी परीक्षा देने वालों को बड़ी राहत, अगले साल से होगा पैटर्न में बदलाव

Manoj Singh

उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड, ओडिशा, झारखंड में नहीं निकलेगी कांवड़ यात्रा

Manoj Singh

कृष्ण और ‘लक्ष्मी’ के बाद अब शिव का रूप धरेंगे Akshay Kumar, सामने आया First Look

Manoj Singh