समाचार प्लस
Breaking पटना फीचर्ड न्यूज़ स्लाइडर बिहार

Bihar RCP Singh: पटना लौटे आर.सी.पी. ने नीतीश को लगाई जमकर लताड़, जेपी पर लाठियां बरसाने वालों से कर रहे गलबहियां

Bihar: RCP returned to Patna lashed out at Nitish

Bihar RCP Singh: दिल्ली प्रवास से पटना लौटे पूर्व केंद्रीय मंत्री रामचंद्र प्रसाद सिंह यानी आर.सी.पी. सिंह ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और उनकी ‘विपक्ष एकता’ पर जमकर निशाना साधा है। यही नहीं उनकी कार्यशैली पर भी कई सवाल उठाये। आर.सी.पी. सिंह ने नीतीश कुमार की विपक्षी एकता को हास्यास्पद बताते हुए उसे ‘पक्षी एकता’ करार दे दिया। ‘पक्षी एकता’ कहने का उनका मतलब था कि पक्षी कभी स्थिर नहीं रहता। कभी जमीन पर, तो कभी आसमान पर, कभी इस डाल, तो कभी उस डाल फुदकता रहता है। उसी तरह उनकी यह एकता कभी संभव नहीं हो सकेगी।

आर.सी.पी. सिंह का नीतीश कुमार पर बड़ा हमला यह था कि वह हैं तो बिहार के मुख्यमंत्री, लेकिन वह जनता की सुधि लेने के बजाय दिल्ली के चक्कर लगा रहे हैं। बिहार की जनता ने उन्हें मुख्यमंत्री बनाया है तो उनको अपनी जनता की चिंता करनी चाहिए। उन्हें अपनी जनता की कितनी चिंता है इससे समझ सकते हैं कि उनका अपने नालंदा जिले समेत दक्षिण बिहार सूखे से जूझ रहा है। वहां के किसान पस्त है, जबकि वह दिल्ली में मस्त हैं।

आर.सी.पी. सिंह ने नीतीश कुमार की राजनीतिक विचारधारा पर भी उंगली उठायी है। उन्होंने राहुल गांधी से नीतीश कुमार की मुलाकात को मौका परस्ती की राजनीति बताते हुए कहा कि नीतीश हैं तो जेपी के प्रोडक्ट, लेकिन अब वह जेपी पर लाठी बरसाने वालों से लगबहियां कर रहे हैं। बता दें, इंदिरा गांधी के राज में जब इमरजेंसी लगायी गयी थी तब उसके आन्दोलनकारी जेपी पर भी लाठियां बरसाई गयी थीं। उसी पर आर.सी.पी. सिंह ने हमला करते हुए कहा कि नीतीश अब वह बातें भूल गये हैं। आज उन्हीं लोगों के साथ रात गुजार रहे हैं और उनके साथ फोटो खिंचवा रहे हैं।

आर.सी.पी. सिंह ने बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की दरबारी प्रथा को भी कटघरे में लिया। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री अपने काम का ढिंढोरा तो खूब पीट रहे हैं, अगर उन्होंने सचमुच में काम किया होता तो फिर मुख्यमंत्री के जनता दरबार में कैमूर, किशनगंज, औरंगाबाद, भागलपुर, कटिहार, बेतिया, मोतिहारी, जैसे दूर दराज के लोग गुहार लगाने क्यों आते हैं। इसका मतलब है कि अपने 17 साल में  सरकार की प्रशासनिक व्यवस्था दुरुस्त को वह ही नहीं कर पाये।

इससे पहले पटना लौटने पर समर्थकों ने आर.सी.पी. सिंह का स्वागत किया। इस मौके पर वरिष्ठ नेता शिक्षाविद  डॉ. कन्हैया सिंह, डॉ. विपिन यादव, जितेंद्र नीरज, डॉ. ललिता, डॉ शशिभूषण प्रजापति, डॉ. कमलेश कुमार सिंह, रोहन प्रजापति, भागीरथ कुशवाहा, अरविंद घोष, विशन कुमार बिट्टू, डॉ प्रभात चंद्रा, डॉ रंजीत प्रभाकर यादव, अमर सिन्हा, उपेन्द्र कुमार विभूति, सन्नी पटेल, श्याम पटेल सहित सैकड़ों की संख्या में कार्यकर्ता मौजूद थे।

यह भी पढ़ें: झारखंड का विश्वास तो हासिल हो गया, दुमका का ‘विश्वास’ अभी बाकी!

Bihar RCP Singh

Related posts

Guna Case: पुलिस ने ढेर किए 2 आरोपी, पिता ने खोले ये राज

Manoj Singh

मंडल की राजनीति की धार तैयार कर रहा है RJD, सात को हर जिले में धरना प्रदर्शन

Manoj Singh

दक्षिण भारत में आयी आसमान से आफत, बारिश के कहर में डूबीं 28 जिंदगियां, देखिये बारिश का कहर

Pramod Kumar