समाचार प्लस
Breaking फीचर्ड न्यूज़ स्लाइडर बिहार राजनीति

Bihar Politics Takes Unique Turn ; घर से बेदखल हुए तेजप्रताप

Bihar Politics Takes Unique Turn ; घर से बेदखल हुए तेजप्रताप

न्यूज़ डेस्क/ समाचार प्लस झारखंड – बिहार

राजनीति में ना तो कोई दोस्त होता है ना दुश्मन, जरूरत के हिसाब से रिश्ते बनते बिगड़ते रहते हैं।बिहार विधान सभा के दो सीटों पर होने वाले उपचुनाव में यही देखने को मिल रहा है। इस चुनाव में महज एक सीट को लेकर कांग्रेस और आरजेडी की वर्षों पुरानी दोस्ती ख़त्म हो गई। दूसरी तरफ राजनीतिक महत्वाकांक्षा की वजह से रामविलास पासवान की पार्टी भी दो टुकड़े में बंट गई। इसी क्रम में तेज प्रताप ने अपना पाला बदल कर सबको चौंका दिया है। दावा किया जा रहा है कि अब वो कुशेश्वर स्थान से कांग्रेस के उम्मीदवार के समर्थन में चुनाव प्रचार करेंगे।

कांग्रेसी नेता अशोक राम ने किया दावा 

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता पूर्व केंद्रीय मंत्री और बिहार कांग्रेस के अध्यक्ष रह चुके अशोक राम के बेटे अतिरेक कुमार कुशेश्वर स्थान से कांग्रेस की टिकट पर चुनाव लड़ रहे हैं। कांग्रेसी नेता अशोक राम ने दावा किया है कि उनकी मुलाकात लालू प्रसाद यादव के बड़े बेटे तेज प्रताप यादव से हुई है और उन्होंने यह कहा है कि वह कुशेश्वर स्थान में अतिरेक कुमार के लिए चुनाव प्रचार करने आएंगे। कांग्रेसी नेता अशोक राम ने यह भी कहा कि तेज प्रताप यादव अपना अलग संगठन बना चुके हैं। उन्होंने कहा कि वह कांग्रेस में शामिल होंगे या नहीं, यह उनके ऊपर निर्भर करता है।

आरजेडी के स्टार प्रचारकों की सूची में नहीं है तेज प्रताप यादव का नाम

बिहार विधानसभा उपचुनाव 2021 के चुनाव प्रचार के लिए राष्ट्रीय जनता दल की ओर से मुख्य निर्वाचन आयुक्त को जो स्टार प्रचारकों की लिस्ट दी गई है, उसमें तेज प्रताप यादव का नाम नहीं है। आरजेडी के स्टार प्रचारकों की लिस्ट में पहले नंबर पर लालू प्रसाद यादव और दूसरे नंबर पर तेजस्वी यादव का नाम है। गौरतलब है कि कल यानी बुधवार को ही आरजेडी के वरिष्ठ नेता और राष्ट्रीय उपाध्यक्ष शिवानंद तिवारी ने कहा था कि तेज प्रताप यादव अब आरजेडी में कहां हैं, तेज प्रताप यादव ने तो खुद ही राष्ट्रीय जनता दल से खुद को निष्कासित कर लिया है।

शिवानन्द तिवारी की रही अहम भूमिका

बिहार में तेजप्रताप मामले में सियासी पारा तब गरम हुआ था जब राजद के वरिष्ठ नेता शिवानंद तिवारी ने कहा कि तेजप्रताप पार्टी से निष्कासित हैं. शिवानंद तिवारी ने हाजीपुर में मीडिया से बातचीत करते हुए कहा था कि “तेजप्रताप पार्टी में हैं कहां? उन्होंने नया संगठन भी बनाया है। वो पार्टी में नहीं हैं. उन्होंने कहा कि तेज प्रताप को निष्कासित करने का क्या सवाल है, वह तो अपने निष्कासित हो चुके हैं। उन्होंने जो संगठन बनाया है उसमें तो उन्होंने लालटेन का सिंबल लगाया था, तभी उनको पार्टी ने कह दिया कि आप इसे नहीं लगा सकते हैं” शिवानंद के इसी बयान के बाद सारा खेल शुरू हुआ।

ये भी पढ़ें : झारखंड हाईकोर्ट ने DGP से पूछा, क्यों नहीं सिपाही संवर्ग के लोगों को ससमय MACP का लाभ मिल रहा

Related posts

Happy Birthday Modi: देश को अब भी अपने पीएम मोदी पर भरोसा, पर दूसरे कार्यकाल ने गिराया ग्राफ

Pramod Kumar

विराट कोहली की RCB से जुड़े रांची के सुशांत मिश्रा, दिग्गज क्रिकेटरों को करेंगे गेंदबाजी

Pramod Kumar

जमुई: बहन के घर जा रहे युवक की गोली मारकर हत्या, आक्रोशित ग्रामीणों ने किया सड़क जाम

Manoj Singh

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.