समाचार प्लस
Breaking फीचर्ड न्यूज़ स्लाइडर बिहार

Bihar: पीके! यह क्या कह दिया! नीतीश कुमार फिर आयेगे BJP के साथ!

Bihar: PK! What did it say! Nitish Kumar will come again with BJP!

न्यूज डेस्क/ समाचार प्लस – झारखंड-बिहार

बिहार के ‘पलटू’ मुख्यमंत्री नीतीश कुमार कहीं एक बार फिर तो पलटने वाले नहीं हैं? अगर ऐसा है तो फिर नीतीश कुमार और उनकी पार्टी जदयू बार-बार क्यों कह रही है कि अब भाजपा के साथ जाने का सवाल नहीं है। नीतीश एक भार फिर भाजपा के पाले में जाना चाहते हैं या नहीं, यह तो पता नहीं, लेकिन इन दिनों बिहार में डेरा जमाये चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर (पीके) ने यह दावा कर बिहार की राजनीतिक में सनसनी जरूर फैला दी है। पीके ने बुधवार को दावा किया है कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार भाजपा के संपर्क में हैं और अगर स्थिति की मांग हुई तो वह फिर से उसके साथ गठजोड़ कर सकते हैं। इस खबर के बाद नीतीश के जदयू के अंदर क्या प्रतिक्रिया है, यह तो अलग बात है, लेकिन राजद को तो जरूर सांप सूंघ गया है। क्योंकि राजद भी नीतीश कुमार की ‘प्रकृति’ के अच्छी तरह जानता है। हालांकि पीके के दावे में सच्चाई कितनी है यह तो नहीं कहा जा सकता है, लेकिन उन्होंने जिस आधार पर यह बात कही है, उसमें सच्चाई तो जरूर लगती है।

नीतीश कुमार की पार्टी जनता दल यूनाइटेड ने किशोर की टिप्पणी को खारिज करते हुए इसे भ्रामक बताया और कहा कि इसका मकसद भ्रम फैलाना है. प्रशांत किशोर इन दिनों बिहार में पदयात्रा कर रहे हैं और उनकी इस यात्रा को सक्रिय राजनीति में आने के पहले के कदम के तौर पर देखा जा रहा है.Also Read – बिहार: प्रश्नपत्र में कश्मीर को अलग देश बताया, शिक्षा मंत्री ने दिए जांच के आदेश, कहा, होगी कार्रवाई

पीके ने जदयू सांसद और राज्यसभा के उपसभापति हरिवंश को बीच में रखकर यह बात कही है। बता दें, जदयू कोटे से राज्यसभा सदस्य बने हरिवंश अब भी राज्यसभा के उपसभापति हैं, पीके के अनुसार BJP के साथ संवाद के लिए वह (हरिवंश) आज भी एक माध्यम हैं। पीके के अनुसार जदयू ने हरिवंश के जरिए भाजपा से संवाद का एक रास्ता खुला रखा है। इस दावे को जदयू के दूसरे नेताओं ने भले ही आपत्ति जतायी है, लेकिन हरिवंश ने कोई प्रतिक्रिया देने से इनकार कर दिया। यह बात भाजपा, जदयू और राजद तीनों के मन में एक संशय जरूर पैदा करता है।

देखा जाये तो पीके के दावे में दम नजर आता है, ‘जो लोग यह सोच रहे हैं कि नीतीश कुमार भाजपा के खिलाफ राष्ट्रीय गठबंधन बनाने के लिए पूरी कोशिश कर रहे हैं, वे यह जानकर चकित रहे जाएंगे कि उन्होंने भाजपा के साथ रास्ता खुला रखा है। वह हरिवंश जी के जरिए भाजपा के संपर्क में हैं।’ ऐसा है, इसलिए हरिवंश को अपने पद से इस्तीफा देने के लिए नहीं कहा गया है। उन्होंने कहा, ‘इस बात को ध्यान में रखना चाहिए कि कोई ‘परिस्थिति’ आने पर वह भाजपा की ओर वापस जा सकते हैं।‘

पीके के दावे के बाद जदयू की प्रतिक्रिया भी आ गयी  है। उसने पीके के इस दावे को खारिज करते हुए कहा कि नीतीश कुमार फिर कभी भाजपा से हाथ नहीं मिलाएंगे। पार्टी प्रवक्ता केसी त्यागी ने कहा कि ‘हम उनके दावे का खंडन करते हैं। कुमार 50 साल से अधिक समय से सक्रिय राजनीति में हैं, जबकि किशोर छह महीने से हैं। किशोर ने भ्रामक टिप्पणी की है।’

यह भी पढ़ें: Jharkhand: नक्सलियों पर एक्शन में कारगर हैं ध्रुव हेलीकॉप्टर, पायलट बिना कैसे चले अभियान, डीजीपी ने गृह कारा को लिखा पत्र

Related posts

Bihar News : जहरीली शराब कांड को लेकर नीतीश सरकार पर बरसे पप्पू यादव, कहा – शराबबंदी पर पुनर्विचार हो

Manoj Singh

BPSC परीक्षाओं में बड़ा बदलाव, एग्जाम में अब निगेटिव और स्टार मार्किंग

Manoj Singh

Jharkhand News : कोरोना का खौफ! क्या झारखंड में फिर से लगेगा Lockdown? अपर मुख्य सचिव ने आपदा प्रबंधन सचिव को दिए महत्वपूर्ण सुझाव

Manoj Singh