समाचार प्लस
Breaking फीचर्ड न्यूज़ स्लाइडर बिहार शिक्षा

Good News : इंटर पास के लिए 25-25 हजार तो स्नातक पास बेटियों को 50-50 हजार रुपये देगी बिहार सरकार

Good News : इंटर पास के लिए 25-25 हजार तो स्नातक पास बेटियों को 50-50 हजार रुपये देगी बिहार सरकार

न्यूज़ डेस्क/ समाचार प्लस झारखंड -बिहार
राज्य में इंटरमीडिएट पास अविवाहित लड़कियों के लिए अच्छी खबर है। सरकार मुख्यमंत्री कन्या उत्थान योजना के तहत 4 लाख 12 हजार 469 इंटर उत्तीर्ण अविवाहित लड़कियों को बढ़ी हुई प्रोत्साहन राशि 25-25 हुजार रुपये का भुगतान अगले सप्ताह तक सुनिश्चित करने जा रही है। यह राशि डीबीटी के माध्यम से उपलब्ध होगी। इसके लिए शिक्षा विभाग ने 400 करोड़ रुपये सभी जिलों को जारी किया है। इसी तरह सरकार ने मुख्यमंत्री कन्या उत्थान योजना के तहत 1 लाख 24 हजार स्नातक पास लड़कियों को प्रोत्साहन राशि 50-50 रुपये दिए जा रहे हैं।

स्नातक पास लड़कियों को 50-50 हजार रुपये का लाभ

शिक्षा विभाग के मुताबिक पिछले वर्ष 3 लाख 28 हजार 431 इंटर पास अविवाहित लड़कियों के आवेदन प्राप्त हुए थे जिन्हें दस-दस हजार रुपये भुगतान का भुगतान किया गया था। इस बार मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की घोषणा और फिर मंत्रिपरिषद की मंजूरी के बाद इंटर पास अविवाहित लड़कियों को 25-25 हजार रुपये और स्नातक पास लड़कियों को 50-50 हजार रुपये का लाभ दिया जा रहा है। पिछले वर्ष 95102 स्नातक पास लड़कियों को 25-25 हजा रुपये प्रोत्साहन राशि दी गई। वैसे वर्ष 2018-19 से 24 जुलाई 2021 तक इंटर पास 3 लाख 28 हजार 431 लड़कियों ने आवेदन किया था। इनमें से 12 हजार 79 आवेदन नामंजूर किए गए थे, जबकि दो लाख 37 हजार 890 लाभार्थियों को भुगतान किया गया था। सरकार ने पिछले चार वर्षों में इस योजना के लिए कुल 900 करोड़ रुपये का प्रावधान किया।

यहां पढ़ें : Action Hero Ayushmann Khurrana का ‘Action Hero’ में दिखेगा नया अंदाज, Teaser रिलीज

Related posts

युवाओं में क्यों बढ़ रहा है हार्टअटैक का खतरा? ये पांच लक्षण हो सकते हैं संकेत, न करें नजरअंदाज

Manoj Singh

BAU डीन के बेटे को यौन शोषण मामले में हाई कोर्ट से मिली जमानत, जेल से रिहा

Manoj Singh

बिहार में कांग्रेस के खिलाफ लालू यादव करेंगे चुनाव प्रचार, इस दिन आएंगे बिहार

Manoj Singh

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.