समाचार प्लस
Breaking अरवल फीचर्ड न्यूज़ स्लाइडर बिहार

बिहार के डाटा ऑपरेटर ने मोदी, शाह, सोनिया, प्रियंका को ‘टीका’ क्या लगा दिया मंगल की पड़ गयी ‘शनि दृष्टि’

न्यूज डेस्क/ समाचार प्लस – झारखंड-बिहार

आपको जानकारी होगी कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी, गृहमंत्री अमित शाह, कांग्रेस अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी और फिल्म अभिनेत्री प्रियंका चोपड़ा ने कोरोना का अपना टीका लगवा लिया है। लेकिन आप यह बिलकुल नहीं जानते होंगे कि उन्हें कोविड-19 का टीका कहां लगा है। चलिए हम बता देते हैं कि इन महान हस्तियों ने कोरोना का टीका कहां लगवाया है। इन सभी को कोरोना का टीका बिहार के अरवल जिले में लगा है। कहीं आप चौंक तो नहीं गये। हम आपको बिलकुल कोई गलत जानकारी नहीं दे रहे हैं। भला बिहार स्वास्थ्य महकमे के डाटा पर उंगली उठाने वाले हम कौन होते हैं?

यह खबर सुनकर चौंके तो बिहार के स्वास्थ्यमंत्री मंगल पांडे जी भी थे। ऐसे चौंके कि एक्शन भी ले लिया। आखिर मंत्री जो ठहरे। वो क्या कहते हैं, हां, उन्होंने संज्ञान ले लिया था। उन्होंने संज्ञान क्या लिया है बिहार के स्वास्थ्य महकमे में हड़कंप मच गया। इस हड़कंप में बेचारे दो डाटा इंट्री करने वालों की तो नौकरी ही चली गयी। ये बेचारे भी सोच रहे होंगे कि उन्होंने इतनी महान हस्तियों को टीका लगाने का शुभ कार्य किया, फिर उनके साथ ऐसा क्यों किया गया। दोनों ने कितना कहा कि यह शुभ कार्य उन्होंने स्वास्थ्य प्रबंधक की ‘आज्ञा’ से किया है, लेकिन उनकी किसी ने नहीं सुनी।

इतनी बड़ी बात जब सामने आ गयी तो उत्सुकता थोड़ी और जगी। इतनी बड़ी हस्तियों के बिहार आकर टीकाकरण करवाने की बात उजागर होने के बाद अब यह जानने के लिए दूसरे अस्पतालों के रजिस्टर के पन्ने उलटे जा रहे हैं कि और ‘कौन-कौन सी महान विभूतियां’ ‘चुपके से टीका लगवा’ चुकी हैं।

अरे हां, एक बात तो हम आपको बताना भूल ही गये। इतनी बड़ी बात पता चलने के बाद इन बड़ी हस्तियों ने अपने जो नाम और पते यहां लिखकर छोड़ गये थे, उन पर उनसे सम्पर्क करने का भी प्रयास बिहार के स्वास्थ्य विभाग ने किया था। लेकिन भला ऐसा होता है, महान लोग सिर्फ कर्म में विश्वास रखते हैं, वे एक हाथ से कुछ देते हैं तो दूसरे हाथ को पता भी नहीं चलने देते कि उन्होंने किया क्या। तो वो भला डाटा में लिखे फोन नम्बर और पते पर कैसे मिलते?

जब सब कुछ हो गया तब सुना है कि बिहार के कुल अधिकारी इस ‘कांड’ से खिसियाये हुए हैं। भला इसमें खिसियाने की क्या बात है? यह बिहार है, पहले भी तो बड़े-बड़े ‘कांड’ हुए हैं। अगर कांड न हो तो बिहार कैसे?

यह भी पढ़ें: Indian Railways: अब किसी भी स्टेशन से ट्रेन पकड़ने पर नहीं लगेगा जुर्माना! IRCTC ने दी यह सुविधा

Related posts

पिता चलाते हैं तांगा, मां थी नौकरानी, जानें महिला हॉकी टीम की कप्तान Rani Rampal के संघर्ष की कहानी

Sumeet Roy

Lava का पहला 5G स्मार्टफोन Lava Agni 5G, लॉन्च डेट की घोषणा, ये फीचर्स होंगे खास

Manoj Singh

झारखंड हाई कोर्ट को एक और जज मिला, राष्ट्रपति ने जारी की अधिसूचना

Manoj Singh