समाचार प्लस
Breaking देश फीचर्ड न्यूज़ स्लाइडर

UGC की ओर से PhD करने वाली महिलाओं को बड़ी राहत, अब दूसरी जगह भी पूरी कर सकेंगी थीसिस

image source : social media

कामकाज के उलझन व अन्य कारणों से पीएचडी ( PhD) न कर पाने वाली महिलाओं के लिए खुशखबरी है।अब पीएचडी (PhD) करने वाली लड़कियों-महिलाओं को अब दूसरी जगह जाकर पीएचडी पूरी करने की छूट मिलेगी। उन्हें बार-बार भाग कर अपने शहर पीएचडी ( PhD ) पूरी करने के लिए नहीं आना पड़ेगा। उनका पूरा का पूरा काम दूसरी जगह ट्रांसफर हो सकेगा। विश्वविद्यालय अनुदान आयोग ( UGC ) ने पीएचडी के नए नियमों में इसे शामिल किया है। इससे पहले 2016 में पीएचडी करने के नए नियम व संशोधन जारी किए गए थे लेकिन अब नई शिक्षा नीति के मुताबिक संशोधन करते हुए यूजीसी ने अधिसूचना जारी कर दी है।

शोधार्थी का अब तक का किया पूरा काम ट्रांसफर हो जाएगा

यूजीसी के नए नियमों के मुताबिक शादी के चलते या अन्य कारणों से महिला शोधार्थी दूसरी जगह जाती है और वहां के किसी संस्थान में पीएचडी जारी रखना चाहती है तो उसे अनुमति दी जाएगी। शोध को दूसरी जगह से करने के लिए सभी नियम व शर्तों का ध्यान रखा जाएगा। यह भी ध्यान रखा जाएगा कि शोध मूल संस्थान या पर्यवेक्षक द्वारा किसी वित्त पोषण एजेंसी से प्राप्त न किया गया हो। इस नियम के तहत शोधार्थी का अब तक का किया पूरा काम ट्रांसफर हो जाएगा।हालांकि शोधार्थी को उसके हिस्से का क्रेडिट अपने मूल संस्थान या सुपरवाइजर को देना पड़ेगा।

अब कहीं भी सेवारत कर्मचारी या शिक्षक पार्टटाइम पीएचडी कर सकेंगे

विश्वविद्यालय अनुदान आयोग (यूजीसी) नई दिल्ली ने शोध के नियमों में महत्वपूर्ण बदलाव किए हैं। सात नवंबर को जारी गजट के अनुसार अब कहीं भी सेवारत कर्मचारी या शिक्षक पार्टटाइम पीएचडी कर सकेंगे। पहले सरकारी सेवारत कर्मचारियों या शिक्षकों को शोध करने के लिए अपने विभाग से अध्ययन अवकाश लेना पड़ता था।

ये भी पढ़ें : झारखंड विधानसभा का विशेष सत्र आज, स्थानीयता और आरक्षण बिल होगा पारित

 

Related posts

झारखंड में भारी बारिश के आसार, येलो अलर्ट जारी

Manoj Singh

WhatsApp Call Recording Tips: व्हाट्सऐप कॉल करना है रिकॉर्ड तो यूज करें ये स्मार्ट Tricks

Sumeet Roy

Bihar Politics: लालू-नीतीश मुलाकात पर BJP का तंज – ‘लालू यादव के हाथ नीतीश का रिमोट कंट्रोल’, BJP- JDU आमने -सामने

Manoj Singh