समाचार प्लस
Breaking देश फीचर्ड न्यूज़ स्लाइडर

Bharat Jodo Yatra: विवाद दिलायेंगे कांग्रेस को राजपाट या बीच रास्ते में ही रह जायेगी यात्रा

Bharat Jodo Yatra: Will bring controversy to the Congress or the journey will remain in the way

न्यूज डेस्क/ समाचार प्लस – झारखंड-बिहार

यह राहुल गांधी हैं, महात्मा गांधी नहीं, जो संकल्प लिया उसे पूरा किया, एक आवाज दी पूरा देश उठ खड़ा हो गया। राहुल गांधी लक्ष्य तो लेकर चले हैं भारत जोड़ने का, लेकिन हर दिन कोई न कोई विवाद अपनी झोली में डाल रहे हैं। राजनीति है तो विवाद तो साथ-साथ चलेगा, चोली दामन का जो साथ है दोनों का, लेकिन भरोसा राहुल गांधी पर नहीं है। हर कुछ दिन के बाद ‘Refresh’ होने के लिए विदेश की दौड़ लगाने वाले राहुल गांधी 150 दिन तक यात्रा में टिके रह पायेंगे, यह सवाल खुद कांग्रेस के मन भी घूम रहा होगा। अगर यह महत्वाकांक्षी योजना बीच रास्ते में ही रह जाये तब भी कोई आश्चर्य नहीं होगा।

अलग-अलग तरह के 60 कंटेनरों में चली है कांग्रेस की टोली। लेकिन इस यात्रा की सार्थकता क्या है, इस पर कई सवाल उठ रहे हैं। 3,570 किलोमीटर की इस यात्रा के रूट पर नजर डालने पर यह साफ नजर आयेगा कि कांग्रेस ने अपनी यात्रा का बड़ा सुरक्षित मार्ग चुना है ताकि इसे सफल दिखाया जा सके। कांग्रेस की यह यात्रा सबसे ज्यादा या तो कांग्रेस शासित राज्यों से गुजरेगी या फिर वहां जहां सरकार में न होते हुए भी उसका प्रभाव कायम है। कुछ समय पहले तक कुछ राज्यों में जहां उसका शासन था, वहां भी उसका पड़ाव होगा। पूरे रूट में भाजपा शासित राज्यों से उसका रथ थोड़े समय के लिए गुजरेगा। कांग्रेस के इस रूट और पार्टी की सोच पर सीपीआई ने तो सवाल उठा दिये हैं कि कांग्रेस भाजपा शासित राज्यों से क्यों नहीं गुजर रही है। आखिर ऐसी यात्रा का उसे फायदा क्या होगा। केरल में 19 पड़ाव, यूपी में सिर्फ 2.

नित नये विवाद

राहुल गांधी की 150 दिनों की इस ‘भारत जोड़ो’ यात्रा के अभी 7 दिन ही हुए हैं और उसके साथ नित कोई न कोई विवाद जुड़ता जा रहा है। विवादों को लेकर कांग्रेस और भाजपा भी आमने-सामने हैं। आइये देखते हैं, कांग्रेस की भारत जोड़ो यात्रा ने अब तक क्या-क्या गुल खिलाये हैं-

  1. कांग्रेस की भारत जोड़ो यात्रा 60 कंटेनर में शुरू हुई है। इन्हीं कंटेनर में कांग्रेसी नेता-कार्यकर्ता कन्याकुमारी से जम्मू-कश्मीर तक का सफर तय करेंगे। सबसे विशेष राहुल गांधी का कंटेनर है जिसमें सिर्फ वही रहेंगे। उसमें तमाम सुविधाएं हैं। कुछ कंटेनर 2 बेड वाले हैं, जिसमें नेता सफर करेंगे। ये सभी कंटेनर एसी युक्त हैं। आरोप यह है कि कांग्रेस कार्यकर्ताओं के सामान्य सुविधाओं वाले कंटेरन तैयार किये गये हैं। कार्यकर्ता बिना एसी वाले 6 या 12 बिस्तरों वाले कंटेनर में रह रहे हैं । हालांकि, कांग्रेस इनमें बुनियादी सुविधाएं होने के बात कह रही है।
  2. यात्रा के दौरान भाजपा ने राहुल गांधी की टीशर्ट का मुद्दा उठाया। भाजपा ने दावा किया कि राहुल महंगाई का मुद्दा 41 हजार 257 रुपये की टी-शर्ट पहन कर उठा रहे हैं। भाजपा ने ट्विटर पर इससे जुड़े फोटो भी शेयर किए थे।
  3. तमिलनाडु में राहुल और पादरी जॉर्ज पोन्नया की मुलाकात भी चर्चा में रही। पोन्नया ने राहुल गांधी के सामने हिंदू धर्म पर विवादित बयान दिया और वह चुपचाप सुनते रहे। वह इससे पहले भी ऐसी टिप्पणी दे चुके हैं। जब उन्होंने एक बार कहा था ‘मैं जूते इसलिए पहनता हूं, ताकि भारत माता की अशुद्धियां हमें दूषित न कर दें’।’ पादरी को जुलाई कल्लीकुड़ी में गिरफ्तार किया गया था
  4. इस यात्रा में कांग्रेस ने ट्वीट कर आरएसएस की निक्कर जलता हुआ फोटो शेयर किया था। जिस पर भाजपा की कड़ी प्रतिक्रिया सामने आयी थी।
  5. इस यात्रा में केरल के दो क्रांतिकारियों गांधीवादी केई मेमन और पद्मश्री पी गोपीनाथन नायर के स्मारक का अनावरण होना था। परिवार की तरफ से केरल प्रदेश कांग्रेस कमेटी के प्रमुख सुधाकरण की मौजूदगी में राहुल गांधी भी आमंत्रित थे। लेकिन वह इस कार्यक्रम से रदारद रहे।

यह भी पढ़ें: ज्ञानवापी पार! अबकी बार कुतुब मीनार! मथुरा की ‘जेल’ से नंद गोपाल भी होंगे मुक्त?

Related posts

Euthanasia Device: इस देश ने ‘suicide machine’ को दी मंजूरी, बिना दर्द एक मिनट में होगी मौत

Manoj Singh

Chanho : वाहन चेकिंग के दौरान पुलिस ने हथियार के साथ दो को किया गिरफ्तार, कार्बाइन और गोली बरामद

Manoj Singh

BJP National Executive Meeting: महाराष्ट्र फतह के बाद अब भाजपा की निगाहें तेलंगाना पर!

Pramod Kumar